#Love to express emotions with words...... #love to write when observe something or feel something very strongly....

तुझसे नफ़रत करता हूँ दुनिया को बता दिया है ।

ये दिखावा करते करते अब थक गया हूँ।।

#unconditional #love

- A A rajput ‘अक्श’

यहाँ धर्म के नाम पर लड़ाईया होती है ,
हाँ हमारे देश में भाईचारा होती है ।

यहाँ इंसानो को सरेआम मारा जाता है ,
हाँ हमारे देश में इंसानियत रहती है ।

यहाँ कुछ लोगों के कहने पर जुलूस निकलता है ,
हाँ हमारे देश में बोलने की आज़ादी होती है।

यहाँ फ़क़ीरों और संतो ने ईश्वर को बाँट रखा है ,
हाँ हमारे देश में धर्म निरपेक्ष को सज़ा रखा है ।

यहाँ नेताओ ने देश बाँट रखा है,
हाँ हमारे देश में एकता बनाये रखा है ।

यहाँ ग़द्दारों ने देश को बचाने का दावा कर रखा है,
हाँ हमारे देश में सैनिको को मोहरा बना रखा है ।

यहाँ लोगों को अधिकार के नाम पर देश रोकने का अधिकार दिया है ,
हाँ हमारे देश में मौलिक अधिकारो को संविधान ने दिया है ।

यहाँ सभ्यता के नाम पर एक दूसरे को नीचा दिखाया जाता है ,
हाँ हमारे देश में गंगा जमुना तहज़ीब को बढ़ावा दिया जाता है ।।

#be indian #be human

-A A Rajput ‘अक्श’

Read More

मेरे आँखो ने पूरा साथ दिया है मेरा.....

तेरे ज़िक्र पर आँसूओ को भी रोक देता हूँ।।

हाँ........मोहब्बत की क्लास लेता हूँ अब मैं.....

बस तेरी सिखाई बातें सबको बोल देता हूँ।।

#unconditional #true #love

- A A rajput ‘अक्श’

Read More

वो जो तेरा अंश मुझमें था ,
बहुत रोया जब तुझे खोया था ...

वो जो तेरी बाते...मेरी थी ,
तेरे जाने के बाद वो मेरी कहानी थी ...

वो जो तेरे आँसू मैंने देखे थे ,
हर रात मेरी आँखो के वो क़िस्से थे ..

वो जो तेरा अंश मुझमें था .....।

वो जो तेरी लड़ाई मुझसे थी ,
बहुत टूटा जब तुझसे हारी थी ....

वो जो तेरा ता-उम्र रुठना मुझसे था ,
तेरे जाने के बाद मेरा हिस्सा था ...

वो जो तेरा अंश मुझमें था ,
बहुत रोया जब तुझे खोया था ।।

#unconditional # love

- A A Rajput ‘अक्श’

Read More

आज रिश्ते -ज़रूरत या ईश्वरीय देन का भाग-२ प्रकाशित हुआ है ।क़दम क़दम कर अपनेमंज़िल को छोटा कर रहा हूँ और लेखन मेंएक नयें अनुभव प्राप्त कर रहा हूँ।
Plz support and advice

Read More

ये इश्क़ है जो उतरता ही नहीं है ।

और लोग खामखां उसे भूत समझ बैठे है ।।

#love #never end

-A A rajput’अक्श’

तेरी वो सारी आदतें आज भी याद है मुझे।

यू बेहद किसी को चाहना तुझी से तो सिखा है ।।

#unforgettable #true #love

- A A rajput ‘अक्श’

इन हवाओ को कह दो के तुम्हें छू कर मेरे घर न आए ,
तेरी ख़ुशबू को ये मेरे ज़हन से भूलने नहीं देते ,

तू रोक सकती है इन्हें...तो बहाना मत बनाना,
मैं जानता हूँ........
इश्क़-ए-समंदर को तूने अल्फ़ाजो से रोका था ,
मैं जानता हूँ.......

और हाँ....;
एक आख़री मर्तबा मेरा एक काम कर दे
इन आँखो को मेरी हुआ क्या है...बस मर्ज़ बात दे ...
तेरे चेहरा हर किसी में दिखता है...
कोई दवा हो तो बस आख़री बार बता दे ......

- A A राजपूत ‘अक्श ‘

Read More

तू आज भी वही जगह लिए बैठी है दिल में..
ये इश्क़ नहीं तो और क्या है !

तेरे सिवा अब कोई नहीं आता दिल में ..
ये इश्क़ नहीं तो और क्या है!

तू किसी और की चाहत है ये इल्म है मुझे..
फिर भी टूट कर चाहना तुझे ...ये इश्क़ नहीं तो और क्या है !

पता है मुझे..तू नहीं आएगी लौट वापस ...
फिर भी तेरा पागलो सा इंतज़ार..ये इश्क़ नहीं तो और क्या है !!!!

#unexpected #uncoditional #love

- A A rajput ‘अक्श’

Read More

बचपन की सुबह भी क्या सुबह थी ...
माँ के गोद में आँखें खुलती थी

सूरज के कोई मायने न थे ...
बस माँ को ही सूरज समझते थे ...

माँ की हँसी सूरज की रोशनी बन ...
मेरे चेहरे को रोशन करती थी ...

बेटा कहकर मुझे पुचकारना....
दिन भर का जोश दे जाती थी ....

बचपन की सुबह भी क्या सुबह थी ....।

“शुभ प्रभात “

-A A राजपूत ‘अक्श’

Read More