Adhure se ishk ki adhuri si yaad Wo adhuri si zindgi or adhuri si bat .....

पहाड़ों पर जाना चाहते हैं
तुम्हारा हाथ पकड़कर चढ़ते हुए
देखते रहना चाहते हैं
तुम्हे।
पहाड़ प्रेम की जन्मभूमि हैं
और हम बना देना चाहते हैं अपने प्रेम को
तुम्हारी हँसी का एक छोटा-सा
पहाड़ी घर।



अमृत.....

Read More

सपना बना कर पलकों के घर में तुम्हे बसाया है
नींद चैन सब गँवा कर दिल का करार मैंने पाया है..!

रस्मों की बेड़ियों को तोड़ दिल मैंने तुमसे लगाया है
तोड़ ना देना दिल मेरा,जिसने सिर्फ तुम्हे अपनाया है.!

मैं और मेरा भूतकाल..........


अमृत.....

Read More

ये मोहब्बत का गणित है यारों

यहाँ दो में से एक गया
तो कुछ नहीं बचता....


अमृत....

वो क्यूँ गया है ?
.
.
ये भी बताकर नहीं गया..


अमृत....

एक सूरज बहुत जरूरी है.. जिंदगी के लिए..
चांद - तारों से.. इश्क तो हो जाता है..
बस.. सुबह नहीं होती.!!


अमृत....

भरोसा एक रब्बर की तरह होता है

जितनी गलतियां होती जाती हैं
यह उतना छोटा होता जाता है...


अमृत....

गुजर जाते हैं खूबसूरत लमहे.
यूं ही मुसाफिरों की तरह

यादे ही खड़ी रह जाती है..
रुके रास्तों की तरह....


अमृत....

Read More

जज्बातो में बहकर खुद को किसी के अधीन मत कीजिए...
खुदा और खुद के इलावा किसी पर यकीन मत कीजिए।


अमृत....

તું માત્ર મને સમજવાની જવાબદારી લે,,,,
સબંધ નિભાવાની જવાબદારી મારી...


અમૃત...

कभी किसी की भावनाओं के साथ मत खेलो, हो सकता है आप ये खेल जीत जाए,...

लेकिन ये पक्का है उस इंसान से आप हमेशा के लिए हार जाओगे।


अमृत....

Read More