some time "unspoken" word says a lot.. telegram username. @anand9188

तेरी आंखों की दरगाह में
मोहब्बत की चादर चढ़ाने आये हैं !!

जरुरतमंद हैं ख्वाब मेरे,
मन्नतों में तुझे मांगने आये हैं !!

-Anand

Read More

कुछ तुम हसीन हो,
कुछ मौसम रंगीन है !!

तारीफ़ करूँ या चुप रहूँ,
ज़ुर्म दोनों ही संगीन हैं !!

-Anand

थोड़ी और पीला दे के
नीयत अभी भरी नहीं है !!

इस बरसात के मौसम में
चाय इतनी बुरी नहीं है !!



-Anand

मोहब्बत कितनी रंगीन है,
किसी से सुन के देखिये !!

और मोहब्बत कितनी संगीन है,
एक बार खुद कर के देखिये !!

💖💖

-Anand

Read More

હું અને તું,
બસ...
એમ જ...
જીંદગી જીંદગી રમતાં રહીએ...
એક બીજાને ગમતા રહીએ...

-Anand

🌹तमाम उम्र निकल जाती है कभी कभी केवल इस बात का यकीन दिलाने में की
मेरी जिंदगी में तुमसे बढ़कर कोई नही!!❤️

-Anand

Read More

गजल शरमाई है अपने आप से
तेरी आंखों में देखने के बाद !!

मैंने अपने ही अल्फ़ाज़ खो दिए,
तेरी महफ़िल में आने के बाद !!

-Anand

Read More

.

-Anand

प्यासे हो चले है हम
इस बरसात में ,

ना जाने कब-तलक आयेगी
उनको हमारी यादें ....।।

-Anand

मेरी,👀 मे आकर देख खवाहिशो के नक्शे ...!!

खवाबों मे भी तेरे मिलने की फरियाद करते हैं....!!

-Anand