Hey, I am on Matrubharti!

यूं ही सुबह होती है यू ही दिन ढल जाता है
दिल धड़कता रहता है सांसे चलती रहती है।
-@njana Vegda

टूट चुके तो क्या हुआ सिर्फ बिखरे ही तो है
शिकवा भी हम कैसे करें सब अपने ही तो है।
-@njana Vegda

दुआ है ये मेरी दिल से....खुदा उन्हें सलामत करे, हस्ती मिटा कर अपनी जो वतन की हिफाज़त करे। -@njana Vegda
Happy Republic Day

तुम्हारी गलियों से जो गुजरने लगे है,
बिखरे बिखरे थे अब संवरने लगे है।
कुछ और थे तुमसे मिलने से पहले
अब यू है कि खुद को बदलने लगे है।
-@njana Vegda

Read More

સાથ આપે કે ન આપે આ જગત હવે ક્યાં કંઈ ફરક પડે છે,
એકાંતમાં પણ એકલી નથી હું.. મારો જ સાથ મને મળે છે.
-@njana Vegda

कभी कभी हम भी हाल ए दिल लिख लेते है,
कुछ देर ही सही अपने आप से मिल लेते है।
-@njana Vegda

कर दो उम्रकैद की एक गुनाह तो जरूर है,
खता ए इश्क़...यही इस दिल का कुसूर है।
-@njana Vegda

ठहर जा ए जिंदगी जरा...खुद से कुछ वक़्त उधार ले,
बिखरे पड़े है हम अरसो से थोड़ा खुद को संवार ले।
-@njana Vegda

તારું રિસાઈ જવું મંજૂર છે મને અબોલા તારા સાંખી નહિ શકાય,
ઉભરાતા આ આંસુઓના પ્રવાહને આંખમાં હવે રાખી નહિ શકાય.
-@njana Vegda

Read More

નજરથી નજર મળતાં જ નજર મળી ગઈ,
નયનથી હ્ર્દય સુધીની એ સફર કરી ગઈ.
-@njana Vegda