i like death. ये अफसोस रहेगा मुझे उम्रभर कि अपनी मर्जी से मै मर भी न सका। રેશમિયા..

सोचा था
कि
महॉबत में
मिलेगी मंजिल
अफसोस
लेकिन
मौत नसीब हुई..!!!

AR

दोस्तो
अगर
मरकर फिर से जिंदा हो सकते होते,
तो
अश्क कई बार मर चूका होता।।।

रातों के अंधेरों में कभी ढूंढ़ते है तुझे
कभी किताबो में भी पढ़ते हैं तुझे
तुझे क्या पता कितना चाहते है तुझे
अय सनम,खुदा कि तरह पूजते है तुझे।

Ashq Reshmmiya।

Read More

कल तुझे देखा और दिल लगा बैठें है
आज तुम मिलोगी ये उम्मीद लगा बैठें है
हमे चाहना ना चाहना मरजी है तेरी
इन्तजार तेरा ही रहेगा ये जिद लगा बैठें है।

ashq Reshmmiya

Read More

काश!
जिंदगी में
वो आए न होते
दिल जिन्होंने तोड़ा हैं!!

AR

माना कि रो रो कर
ही जी लेंगे जिंदगी
मगर,
रोने बैठे तो
रोना ना आया।

AR...

કેટલીયેવાર કબર સુધી જઈ પાછો ફર્યો છું,
યમદૂતનું એટલું જ કહેવું છે:હજી સહન કર!

-અ.રે.