Hey, I am on Matrubharti!

"तु" चाहे ना चाहे मेनु
पता नही ,
मे तेनु दिल और जान
से चाहता हु ,
मेरा प्यार तेरी रुह से है
तु पास रहे या दुर
कोइ गम नही।

-Bhargav Goswami

Read More

जाने उस को कैसा ये हुनर आता है ,
रात होते ही आखो मे उतर आता है ,
मे उनके ख्यालो से बचके कहा जाऊ,
वो मेरी सोच के हर रास्ते पे नजर आता है।

-Bhargav Goswami

Read More

वो याद करेगा जिस दिन मेरी मोहब्बत को ,
वो रोयेगा बहुत फिर से मेरा होने के लिए

-Bhargav Goswami

कितने भी भीड मे रहो...
फिर भी अकेले रह ने की आदत रखा करो,
कौन जाने कोइ कब साथ छोड़ दे।

-Bhargav Goswami

मुझे किसी के बदल जाने का कोइ गम नही ,
बस कोइ था जिससे ये उम्मीद ना थी।

-Bhargav Goswami

ना वफाओ की बाते करुगा ।
ना तुमसे कोइ सिकायत
करुगा।।
जिंदगी युही तेरी यादो के
साथ गुजरती रहेगी ।
मिलो जिंदगी मे कही
फीर भी हमारी कोइ फरीयाद ना होगी।
bhargav goswami

-Bhargav Goswami

Read More

Ishq की हमारी
बस इतनी सी कहानी है,
तुम बिछड गए ...
हम बिखर गए ,
तुम हमे मिले नही और...
हम किसी और के हुए नही।

-Bhargav Goswami

Read More

mere dil me
tere liye pyar wahi he'
trust bhi wahi he,
lekin tu gayi he jis
tarah chhod ke
ab tu lakh duaa kr le
tere sath jina muje
manjur nahi hai.
😔