Hey, I am on Matrubharti!

जब कोई कदर करना भूल जाये तो तुम सब्र कर लेना बात अपने आप संभल जाएगी

हर परिवार हर रिश्ते का अपना महत्व है मां,बाप,भाई,बहन,दादा,
दादी ,
मगर इस सब में सबसे खूबसूरत और प्यारा रिश्ता होता है एक बाप और बेटी का
क्यूंकि पिता ही वह शख्स है जिसकी छाया में खुद को महफूज पाती है,
खुद की जरूरत को तक नज़रअंदाज कर जाता है वो पिता बेटी की ख्वाहिश पूरी करना ज्यादा जरुरी समझता है,
वो जो बात-बात पर रो देती है वक्त आने पर पिता की हिम्मत बन जाती है वो बेटी है अपने पिता को सबसे ज्यादा जानती है,
हर दुख हर परेशानी भूल जाता है जब बेटी की मुस्कान देखता है वो पिता है बेटी की मुस्कान में ही खुदा पाता है,
वो जो हर बात पर लडती है, अपनी हर बात मनवाती है, पर घर वक्त पर आ जाती है वो बेटी है पिता की बात का मान रखना जानती है,
हर मुसीबत का अकेले सामना कर जाता है,
वो पिता है अपनी बेटी को परेशान कहां देख पाता है,

Read More

जिम्मेदारीया अगर वक्त से पहले निभानी पड जाए तो समझ लेना जिंदगी कुछ बहुत खूबसूरत सीखना चाहती है।

आज मुद़तो बाद कुछ लिखने का मन हुआ है,
अहसास अभी भी जींदा है इस दिल में यह महसूस हुआ है, भूली तो नहीं थी इस अलफाजो की दुनिया को मगर, आज फिर इन अलफाजो को इस दुनिया से बांटने का मन हुआ है......

Read More

कैसे इजाज़त दे दूं इस दिल को किसी और को चाहने की जीसने कभी बेइंतहा मोहब्बत की थी तुमसे.....

यह दिल केहकर भी ना कह पाया
वह दिल समझकर भी ना समझ पाया

तो
मान लिजीए प्यार सच्चा तो था पर अधूरा रह गया......

अगर इरादे मजबूत हो तो रास्ते में आनेवाली हर मुश्किलें भी मंजिल की ओर का सफर आसान करती है.....

इस जवानी से तो बचपन ही अच्छा था,
जो भी था,जैसा भी था, कम से कम सच्चा था,
जूठ और दिखावे की इस दुनिया में सच भी अब झूठा सा लगता है,
अब तो इस झूठी जींदगी में एक ही पल हकीकत सा याद आता है मुझे जब मैं
बच्चा था.....

Read More

आजादी तो सालों पहले ही मिल गई है हमें पर अब, इस आजादी को जीना चाहती हूँ,
जिम्मेदारीयों के बंधन तो बहोत है पर अब, इन बंधनों में भी आजादी खोजना चाहती हूँ,
कहने को तो आजाद हूँ में पर अब ,सही मायने में आजाद होना चाहती हूँ......

Read More

खोजते-खोजते खो गया
जो खोजता था वही हो गया..