લાગણી ભરી ભરી ને શબ્દો છલકી જાય,,,
તોય જાણે આ ગઝલ અધુરી કેમ રહિ જાય,,
રડાવાની કોશિશ આ જીંદગી રોજ કરતી જાય
જીદ લઈ બેઠા હસવાની અે, આંસુ ને હરાવતી જાય,,
Bhumi polara

Read More

जब जब बातो पे जिक्र तेरा होता हे..
आंखो कि नमी छुपाने के लिये ...
होठो पे हसि का पेहरा होता हे...
धड़कन भी थम जाति हे नाम से तेरे..
तेरि यादो का सम्न्दर कितना गेहरा होता हे..
Bhumi polara

Read More

જીંદગી નાં રંગમંચ પર પાત્ર ભજવતા શીખી જાવ,,
છુપાવીને તકલીફ તમે
હસતા શીખી જાવ,,
Bhumi polara

वेसे तो ये ज़िन्दगी हाथ से फ़िसलति जा रहि हे..
पर कुछ इरादे हे जो हमने बुलंद कर लिये हे..
कुछ पाबन्धियो मे खुदको केद कर लिया हे.
ता उम्र खुद को रिहा नहीं करेंगे ये तय कर लिया हे.
Bhumi polara

Read More

रखना हे रिश्ता तो रुहानी रख,
ये नाम के रिश्ते मुझे पसंद नहीं आते..
रखना हे वास्ता तो सच का रख,
ये फ़रेब के रास्ते मुझे पसंद नहीं आते..
Bhumi polara

Read More

सब के सामने दर्द कि नुमाइश करना अच्छा नहीं..
हर किसि के पास मरहम
हो ऐसा तो नहीं..!
Bhumi polara

यकिन मानो जूठ कभि नहीं टीकता सच के सामनॆ..
इमान कभि नहीं बिकता बेइमानो के बाज़ार मे...
Bhumi polara

तेरॆ जिक्र मे तेरि फ़िक्र मे,
तेरि कहानी कि अधुरि दास्तन हु मे..
तेरि ख्वाबो कि रंगोंलि मे,
न भर ने वाला फ़िक्का सा रंग हु मे,
तु प्यार का वो साहिल हे,,
मे तुझे ना मिलने वाला छोटा सा सेलाब हु मे..
Bhumi palara

Read More

मेरा अच्छा बुरा कर्म तु हि जानता हे...
भोले.... तेरे अलावा मुझे कोन पहचानता हे...!
Bhumi polara

केसे सम्जाये आपको ये राह कितनि कठिन हे...
मंजिल का पता भि नहीं, और मुश्कॆल ये सफ़र हे..
Bhumi polara