Hey, I am reading on Matrubharti!

कोरोना तेरे कारण

दरवाजे खुले हैं मगर अंदर कोई नहीं आता

चाँदनी रात में चाँद देखने कोई नहीं आता।



अब तो फूलों में दुबककर महक रह जाती है

अब तो काँटों की छुअन भी चुभन बन जाती है

अब परिन्दों की चहक चीखती नजर आती है

अब तो कोयल की कूक उदास नजर आती है



इस अतुल सृष्टि का सृजन देखने कोई नहीं आता

कोरोना तेरे कारण

दरवाजे खुले हैं मगर अंदर कोई नहीं आता

चाँदनी रात में चाँद देखने कोई नहीं आता।



अब शबनमी बूँदें पंखुड़ियाँ जला देती हैं

अब बीरबहुटी दूब से नजर हटा लेती है

भ्रमरों की गुंजन में कलियाँ झूमती नहीं हैं

महकती हवा में तितलियाँ तक उड़ती नहीं हैं



किसे अब आवाज दें मित्र बनने कोई नहीं आता

कोरोना तेरे कारण

दरवाजे खुले हैं मगर अंदर कोई नहीं आता

चाँदनी रात में चाँद देखने कोई नहीं आता।



इस वीराने में अकेला कब तक कोई रहे

रोककर साँस भी बेचारा कब तक कोई चले

लजाती हुई कहीं सेज भी अब सजती नहीं है

मुस्कराहट तक आंगन में अब खिलती नहीं है



जिन्दगी की निशानी तक ढूँढ़ने कोई नहीं आता

कोरोना तेरे कारण

दरवाजे खुले हैं मगर अंदर कोई नहीं आता

चाँदनी रात में चाँद देखने कोई नहीं आता।



अब पद पद पर मखमली राहें दिखती नहीं हैं

माथे लगाने लायक माटी मिलती नहीं है

अब मजार पर भी चादर चढ़ाई नहीं जाती

बेकफन लाश की भी लाज बचाई नहीं जाती



अब फूल भी अर्थी पर चढ़ाने कोई नहीं आता

कोरोना तेरे कारण

दरवाजे खुले हैं मगर अंदर कोई नहीं आता

चाँदनी रात में चाँद देखने कोई नहीं आता।



..... भूपेप्द्र कुमार दवे



00000

Read More

Wife thinks about you and your problems, so that you get more time to improve yourself. ------ Bhupendra Kumar Dave

* Life can not exist without problems--- more we are occupied with problems, the more alert becomes our mind to think and concentrate. Tension and worries on the other hand creates a dull mind --- a mind that is insensitive and weary.

---- Bhupendra Kumar Dave

Worry is the lethargic way of dealing with problems.

----- Bhupendra Kumar Dave

Most of the problems arise because we failed to do the right.

----- Bhupendra Kumar Dave

Problems come but a few try to solve them. Ignoring problems, however, provides the best solution. ----- Bhupendra Kumar Dave

People stop bringing problems to you, the day they feel that you have no brains to solve them. ------ Bhupendra Kumar Dave

A problem with no solution is not a problem and a problem with solution is a puzzle --- it is entertaining.

---- Bhupendra Kumar Dave

Emergencies are the result of problems neglected.

---- Bhupendra Kumar Dave

Politicians seldom face problems and if face any, they pass them back to public.

----- Bhupendra Kumar Dave