Aadhi najm ka pura geet - 21 by Ranju Bhatia in Hindi Novel Episodes PDF

आधी नज्म का पूरा गीत - 21

by Ranju Bhatia Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

कलम से आज गीतों का काफिया तोड़ दिया मेरा इश्क यह किस मुकाम पर आया है उठ ! अपनी गागर से पानी की कटोरी दे दे मैं राह के हादसे, अपने बदन से धो लूंगी.....