Kanto se khinch kar ye aanchal - 1 by Rita Gupta in Hindi Short Stories PDF

काँटों से खींच कर ये आँचल - 1

by Rita Gupta Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

क्षितीज पर सिन्दूरी सांझ उतर रही थी और अंतस में जमा हुआ बहुत कुछ जैसे पिघलता जा रहा था. मन में जाग रही नयी-नयी ऊष्मा से दिलों दिमाग पर जमी बर्फ अब पिघल रही थी. एक ठंडापन जो पसरा ...Read More