Barsat Ke Din - 8 by Abhishek Hada in Hindi Love Stories PDF

बरसात के दिन - 8

by Abhishek Hada Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

उसी समय बरसात शुरू हो गई। उसने अपने रूम की खिड़की खोल दी। ठंडी ठंडी बरसात की फुहारे उसके कमरे में आने लगी। उसी समय वहां से साइकिल पर एक आदमी रेनकोट में मोबाइल पर एफएम में गाने सुनता ...Read More