KUNVARA EKKA-AAVAARA BEGUM - 6 by Bhupendra Dongriyal in Hindi Social Stories PDF

कुँवारा इक्का-आवारा बेग़म - 6

by Bhupendra Dongriyal Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

(6) अगले दिन ठीक दस बजे आशिक़ बेग चौपाल पर पहुँच गया । उसने दाएँ-बाएँ,आगे-पीछे नज़र घुमायी लेकिन आज चौपाल पर अन्य दिनों की तरह चहल-पहल नहीं थी । बृजेश और मोटुवा अपनी-अपनी दुकान पर बैठे थे । ...Read More