वीर शिरोमणिः महाराणा प्रताप ‌।(भाग-(१)

by Manish Kumar Singh in Hindi Poems

वीणापाणि नमन है तुमको, मेरे कंठ में कर लो वास।देकर ज्ञान पुंज हे माता, निमिष में संशय कर दो नाश।।हे गौरी-शिव शंकर के सुत, मुझ अज्ञानी का ध्यान करो।कर दो विवेक की वर्षा अब, और प्रभु मेरा अज्ञान हरो।।वीरों ...Read More