botal-pudiya sanvaad by Mahaveer Prasad in Hindi Humour stories PDF

बोतल-पुड़िया संवाद

by Mahaveer Prasad in Hindi Humour stories

एक मैली-कुचैली सी किराने की दुकान के बिना शीशा लगे शोकेस के एक कोने में टाट के टुकड़े के नीचे विमला, रजनी, और अमरी दुबकी बैठी थी। ये सभी पान-मसाले और गुटके की पुड़ियाएं थीं।लॉक-डाउन के दूसरे फ़ेज के ...Read More