उड़ान, प्रेम संघर्ष और सफलता की कहानी - आधाय-5

by Bhupendra Kuldeep in Hindi Love Stories

शाम के 5 बजने में 2 मिनट शेष रह गये थे, वह चैक गया और एसटीडी से फोन लगाया। उसे मालूम था कि अनु फोन के पास खड़ी होगी।हैलो, हाँ अनु तुम ठीक हो।हाँ आप कैसे हो।मैं भी ठीक ...Read More