kuchh khyal suno by Gadhavi Prince in Hindi Poems PDF

कुछ ख्याल सुनोगे?

by Gadhavi Prince in Hindi Poems

सब से पहले एक छोटिशी रचना पेश करता हूं।लडकिचाय के बागानों से निकलती खुशबू लगती हो;लडकी साडी पहना करो अच्छी लगती हो।आइने की नज़र ना लगे तुमको;क्या ईस लीये काली बिंदी करती हो।मेरे कान खनक सुनने को तरसते हैं;ओर ...Read More