KALPRIYNATH MANDIR KE SHILALEKHOM KA ADHYYN by रामगोपाल तिवारी in Hindi Human Science PDF

कालप्रियनाथ के मन्दिर के शिलालेखों का निहितार्थ

by रामगोपाल तिवारी Matrubharti Verified in Hindi Human Science

कालप्रियनाथ के मन्दिर के शिलालेखों का निहितार्थ इतिहासकारों का कहना है कि यह नगरी ईसा की पहली शताब्दी से आठवीं शताब्दी तक फली-फूली है । (पद्मावती - डॉं0 मोहनलाल शर्मा , पृष्ठ-66-5.6 मुस्लिम मकबरे) यहॉँ नागों का शासन ...Read More