I am the special mother of a special child. by मंजरी शर्मा in Hindi Classic Stories PDF

मैं स्पेशल-बच्ची की स्पेशल-माँ हूँ.

by मंजरी शर्मा in Hindi Classic Stories

मैं स्पेशल-बच्ची की स्पेशल-माँ हूँ."" भगवान् भी ना जाने कितना निष्ठुर हो जाता है. पता नहीं किन पापों का दोष है. """" हाय!! बेचारी.."""" अरे; काहे की बेचारी!! """" एक तो पाप; ऊपर से महापाप..."""" मतलब?? "'"" मतलब तो ...Read More