जिंदगी से मुलाकात - भाग 12

by R.J. Artan in Hindi Short Stories

एक अरसे बाद जब कोई उम्मीद नहीं बचती है, तो बचती है वो रहा जिस पर हम चल रहे हैं।मिलता तो कुछ नहीं बस मंजिल पर पहुंचने पर भटकने की भावना थोड़ी देर के लिए कम हो जाती हैं। ...Read More