Story of Bhola - 2 by राज कुमार कांदु in Hindi Humour stories PDF

कहानी भोला की - 2

by राज कुमार कांदु Matrubharti Verified in Hindi Humour stories

काफी देर तक आजाद मैदान में घुमते हुए भोला विचार करता रहा । अब क्या करे ? कहाँ जाए ? इतने बड़े शहर में कोई परिचित भी नहीं था जहाँ चला जाये । सोचते हुए भी उसके कदम चलते ...Read More