Vish Kanya - 43 - Final Part by Bhumika in Hindi Classic Stories PDF

विष कन्या - 43 - अंतिम भाग

by Bhumika Matrubharti Verified in Hindi Classic Stories

राजगुरु क्या कहना चाहते हैं ये जान ने की सबको बहुत जिज्ञासा थी। महाराज आप जानते हो की अब मेरी आयु हो गई हैं। मुझ पर राजगुरु और गुरुकुल के प्रधान आचार्यपद दोनो पद का भार है, ...Read More