आधुनिक संस्कृत साहित्य में नारी सौंदर्य कालिदास के विशेष संदर्भ में

by Dr Mrs Lalit Kishori Sharma Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

नारी पात्र काव्य की प्राण वाहिनी धारा है, जिसमें जीवन का मर्मस्पर्शी मधुर रस लहलहाता रहता है। वस्तुतः नारी ही सुख का मूल, त्रिभुवन का आधार और त्रेलोक्य रूपा के रूप में भी शैवागमों में प्रशंसित रही है। ...Read More


-->