An incomplete love story of Heer Ranjha - 4 by Akash Gupta in Hindi Short Stories PDF

हीर रांझा की एक अधूरी प्रेम कहानी - 4

by Akash Gupta Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

"रांझा चलते-चलते चेनाब नदी के किनारे पहुँचा। दिन में तीसरे पहर जब सूरज पश्चिम दिशा में ढ़लने के लिए चल पड़ा, उस समय रांझा चेनाब नदी के किनारे खड़ा था। वहां कई और यात्री जमा थे जो नदी पार ...Read More