Dr Musafir Baitha 3 years ago

प्रथमतः यह सवर्णों से मुकाबले के लिए खड़ा किया गया बरजोर पिछड़ी जातियों, कुर्मी-कोइरी-यादव का संघ था भले ही इसने अपनी संकीर्णता की बुनियाद को छुपाने के लिए पूरी पिछड़ी जातियों का प्रतिनिधि करने का दावा करने लगी हो बाद को। अब भी समाज एवं राजनीति में अन्य पिछ

Sanjeev Chandan 3 years ago

Kumari Archana 3 years ago