द लास्ट हार्टबीट - 4

Episode #4

जगह : अजय का घर

समय: रात के 11:30 बजे

” द ग्रेट लोवोलोजिस्ट अजय चौहान ! जिसने लोगो की प्रेम कहानिया पूरी की है उसने अपनी ही प्रेम कहानी पर रायता फैला दिया है । लोग पहले मिलते है जिनसे प्यार करते है उन्हें भरोसा दिलाते है कि वे उसके काबिल है और फिर अपनी दिल की बात बताते है और ये मेरा छोटा भाई जिसका नाम तक नही जानता उसे सीधा जाकर आई लव यू कहके आता है। वाह क्या बात  है, तू मुझे एक बात बता कौन पहली मुलाकात मैं सीधा प्रोपोज़ कर देता है ? ”

राधिका एक घंटे से अजय की क्लास ले रही थी । उस वक़्त अजय के सारे दोस्त ( जिग्नेश, पिया, निखिल ) और विक्रम भी वही थे । अजय ने अपनी बहन के सवाल का जवाब देते हुए कहा –

” अरे मुह से निकल गया दी , पता नही कैसे बट हाई कहने गया और आई लव यू निकल गया और तू मुजे 100 बार कह चुकी है और में तुजे 100 बार जवाब दे चुका हूं ।”

अपनी बहन की बात सुननी न पड़े इस लिए अजय  अपने कानों में हेडफोन लगाने ही वाला था कि राधिका ने हेडफोन हाथ से ले लिया और कहा –

“पहले मेरी बात सुन फिर हिमेश को सुनना ( अजय ने मुह बनाया और फिर न चाहते हुए भी सिर हिलाया और हाथ से इशारा करके कहा कि शुरू हो जाओ ) । प्यार किया तो भी किस से जिसके सीने में दिल ही नही है जो प्यार से नफरत करती है ……।”

“नही दी वह प्यार से नफरत नही करती ( अजय ने राधिका की बात काटते हुए कहा और अपनी जगह से उठकर खिड़की के पास गया ) बल्कि वो प्यार से डरती है । जब मैंने उसे प्रोपोज़ किया तब वह एक पल के लिए काँप उठी थी , पता नही क्यों पर उसकी आँखों में मोहब्बत के लिए नफरत नही बल्कि डर दिखता है ,लगता है जैसे कुछ तो बुरा हुआ है उसके साथ  जिसके वजह से वो प्यार से डरती है। औऱ दीदी आप इस लिए नही गुस्सा हो रही हो कि मैंने वहा रायता फैला दिया बल्कि इस लिए गुस्सा हो रही हो कि आपके भाई को एक लड़की ने थप्पड़ मारा और आप कुछ नही कर पाए । एम आई राइट दी ? ”

राधिका ने गुस्से से अपना मुह दूसरी तरफ घुमा लिया । तभी विक्रम बोला –

“मान लिया भाई पर सात दिन मैं उसे पटाएगा कैसे ? यहा तो प्यार में यकीन करने वाली भी महीने में नही पटती । कोई प्लानिंग है कि नही । ”

” प्लानिंग ! प्यार में प्लानिंग वो लोग करते जिन्हें सिर्फ अपना फेसबुक का स्टेटस सिंगल से इन रिलेशनशिप करवाना हो , मुझे तो बस यह सात दिन उसके साथ रहना है और जी भरकर प्यार करना है । अगर उसे मेरा प्यार दिख गया तो मेरी जिंदगी सवर जाएगी वरना बरोडा का सेवउसड तो है ही । ”

निखिल ने सब के सुनने के बाद कहा –

” बाय द वे अपने हीरो की हिरोइन का नाम क्या है ?”

अजय ने कहा –

” पता नही यार नाम जानने से पहले गाल लाल हो गया । ”

पिया और जिग्नेश के मुह से उहह की आवाज निकली तभी राधिका ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा –

“रिया (सबने राधिका की तरफ देखा ) । उस लड़की का नाम रिया खुराना है और महाराष्ट्र कॉलेज में एम.बी. ए . कर रही है । ( अजय ने सवालिया नजरो से देखा राधिका अपने भाई को देखते हुए ) निधि ने बताया ।”

अजय ने जोरसे आँख बंद की और बोला-

“ओह शीट मैन उस बिचारी लड़की का काम नही किया । निक मेरे साथ चल । ”

निखिल ने बिना सवाल जवाब किए चल दिया । पर राधिका बोल उठी ,

“इतनी रात को कहा जा रहे हो और कौन सा काम है ?”

” एक काम अधूरा रह गया है उसे पूरा कर लूं।” अजय यह कहकर निखिल के साथ कमरे से निकल गया ।

■■■■■■■■■■★★★■■■■■■■■■■■■■■■■■

अगले दिन

जगह : रिया का कमरा

सुबह के 8 बजे

रिया का अलार्म चौथी बार बजा तब रिया की आँखे खुली ।उसने सोते सोते अंगड़ाई ली और बेड से उठी तो सामने का दृश्य देखकर चौक उठी । उसके कमरे में चारो तरफ गुलाब के बुके ही बुके थे । वह बिल्कुल हैरान थी कि तब ही पास वाले बुके में एक चिट पड़ी थी जिसपर लिखा था-

गुड मॉर्निंग ! चैलेंज का पहला दिन इन खूबसूरत गुलाबो से कर रहा हु । इश्क़ और गुलाब की बहोत पुरानी यारी है । दोनों खूबसूरत के साथ साथ झख़्मी होते है । तुम्हारे इश्क़ में हम तो झख़्मी हो गए अब तुम्हारी बारी । हैप्पी रोज डे। और हा तुम सोते हुए और भी ज्यादा खूबसूरत लगती हो ।

रिया ने वह गुलदस्ता उठाकर दरवाजे की तरफ फेखा उसी वख्त दरवाजा खुला और निधि ने प्रवेश किया । वह गुलदस्ता उसके चेहरे पर लगा और वह पहले तमतमाई फ़िर उसने कहा –

” पागल हो गई हो क्या ? ( उसने कमरे की तरफ देखा तो भौचक्की रह गई और उसके मुह से निकला ) वाउ यह सब तेरे कमरे में ! ”

“आई एम सॉरी मैंने देखे बिना ही फेक दिया । ”

“इट्स ओके ।”

निधि रिया के पास आई और उसके बेड के सामने वाली कुर्सी पर बैठ गई । तभी रिया बोली –

“कल रात कहा थी तुम ? रूम पर भी नही आई और तो और फ़ोन भी स्विच ऑफ बता रहा था ।”

“राज के दोस्त सारंग का फ़ोन आया था कि राज हमेशा के लिए यह शहर छोड़कर जा रहा है तो बस भागी भागी रेलवे स्टेशन चली गई पर वहा पहोचने से पहले ही राज जा चुका था ।”

आखरी शब्द पर आते आते निधि की आवाज भारी हो गई थी । रिया को एक पल के लिए लगा कि निधि अभी रो देगी पर निधि ने हँसते हुए कहा –

“यह इतने सारे गुलाब के गुलदस्ते कहा से लाई । नया बिजनेस खोलने का इरादा है क्या ? ”

” नही यार ! कल जिस बेवकूफ ने मुझे आई लव यू कहा था उसने भेजे है । कोई एक गुलाब या गुलदस्ता भेजता है इसने तो पूरा रूम भर दिया । ”

” सिर्फ रूम नही बल्कि पूरा कैम्पस ”

“व्हाट ? नही ”

“हा रूम से बाहर जाकर देख उसने क्या किया है । ”

रिया बेड से उठकर बालकनी मैं गई और उसने देखा कि पूरे कैंपस में गुलाब ही गुलाब है । हर चीज को गुलाब से सजाया हुआ था और नीचे जमीन पर गुलाब से आई लव यू रिया और हैप्पी रोज डे माई लव लिखा हुआ था । निधि भी बालकनी में आई तभी रिया बोली –

” क्या पागल लड़का है पूरा कैम्पस गुलाब से भर दिया । मुजे तो लगा कि चैलेंज की बात यु ही फेक रहा है तो मैंने भी ताव में चैलेंज एक्सेप्ट कर लिया । मुजे क्या पता था कि वह इतना सीरियस ले लेगा । ”

“वैट , तुजे सीरियसली नही पता कि कल तुजे किसने प्रोपोज़ किया है ? ”

” नही ! तू जानती है क्या उसे ? ऐसे कौन सी मोटी तोप होगा । ”

“अजय चौहान ! अजय चौहान ने तुजे प्रोपोज़ किया है । ”

“ओह अजय चौहान नाम सुना है कही ( एकाएक उसे याद आया ) , तेरा लोवोलोजिस्ट अजय चौहान ? ( निधि ने हा में सिर हिलाया और मुस्कुराई ) ओह शिट !”

” अब तैयार हो जाओ मिस रिया खुराना से मिसिज रिया चौहान बनने के लिए । क्योकि अजय तुजे मना ही लेगा ।”

“ऐसा कभी नही होगा और ऐसा हुआ तो उससे पहले में खुदखुशी करना पसंद करूँगी । ”

रिया एक एक करके सारे गुलदस्ते बालकनी से नीचे फेकने लगी । यह देख निधि से रहा नही गया और वह बोल उठी –

” आखिर तुजे प्यार से प्रॉब्लम क्या है ? ”

आखिरी गुलदस्ता नीचे फेखते वक़्त रिया को काटा चुभ गया और गुलदस्ता वही बालकनी मैं गिर गया । रिया ने निधि के सामने देखा और कहा –

” कोई प्रॉब्लम नही है बस किसी प्रॉब्लम में नही पड़ना चाहती इस लिए प्यार नही करना चाहती ।”

( क्रमशः ) to be continued………..


-Aryan suvada

■■■■■■■■■■■■■★★★■■■■■■■■■■■■■■

***

Rate & Review

Priya Mangukiya 4 months ago

Sanjana Dwivedi 4 months ago

Gohil Kishor 5 months ago

Komal Tejani 5 months ago

Dipak Kalepatil 6 months ago