नाम पर न जायें, पढ़ कर देंखें.

दुर्बुद्धि से मूर्ख होना बेहतर है!
#मूर्ख

सजावटी कँगूरों से कह दो कि नींव से रफ़त कर लें,
न जाने कब आसमाँ में तूफ़ान दस्तक देने लगें ।
#सजावटी

मिसलिडिंग

*****

घर के गेट पर बोर्ड लगा था-कुत्ते से सावधान!

पास में ही एक कुत्ता खड़ा था, गम्भीर और उदास।

मैंने पूछा- भाई क्या बात हो गई?

बोला - यह बोर्ड मिसलिडिंग है।

****"

श्मशान घाट के गेट पर बोर्ड लगा था - मोक्षधाम!

गेट पर एक प्रेत लटक रहा था,अत्यन दु:खी और ठगा सा!

मैंने कहा- भाई क्या बात हो गई?

बोला- यह बोर्ड मिसलिडिंग है।

*****

मंदिर के गेट पर बोर्ड लगा था-भगवान का घर!

पास में ही एक भिरु खड़ा था, लुटा-पिटा और बदहवास!

मैंने पूछा- भाई क्या बात हो गई?

बोला - यह बोर्ड मिसलिडिंग है।

*****

न्यायालय के गेट पर बोर्ड लगा था-यतो: धर्मस्य: ततो जय:!

पास में ही एक फरियादी खड़ा था, विचलित और हताश!

मैंने पूछा- भाई क्या बात हो गई?

बोला - यह बोर्ड मिसलिडिंग है।

*****

विद्यालय के गेट पर बोर्ड लगा था-तमशोर्माज्योतिर्गमय:!

पास में ही एक प्रौढ़ बेरोजगार खड़ा था, निराश और गुमसुम!

मैंने पूछा- भाई क्या बात हो गई?

बोला - यह बोर्ड मिसलिडिंग है।

महावीर प्रसाद

Read More