I Am A Student (Doing Graduation ) and I love drawing and reading novels....... जिंदगी जीना आसान नहीं होता बिना संघर्ष कोई महान नहीं होता और जब तक ना पड़े हथौड़े की चोट पत्थर भी कभी भगवान् नहीं होता....

तेरा वो मुझे देख मुस्कुराना याद है,
घर के सामने से निकलने का बहाना याद है,
तेरा वो पीछा करते हुए आना और मेरे मुड़ने पर तेरा घूम जाना याद है।
लोगों से सुना तेरा हर एक फसाना याद है, हां मुझे अब भी वो दीवाना याद है।

- चंचल सिंह

Read More

राधा सा इज़हार करूंगी तुम कान्हा बन कर आ जाना,
सबरी सा इंतजार करूंगी तुम राम बन कर आ जाना।
जब भी खो जाऊं मैं उन तारों की भीड़ में, तुम चांद बन के चमकाना।
जब भी याद करूं मैं तुझको बारिश बन कर छू जाना।

जब भी मांगूगी मैं तुझको बस कैसे भी आ जाना ..... बस कैसे भी आ जाना....

- चंचल सिंह

Read More

जब से लोगों ने जाना है कि वो टूट चुका है तब से सारा शहर उसको लूट चुका है।

ऐ ख़ुदा तुझको ये सब देखकर अखरता तो होगा जब तेरा वो बच्चा टूट के बिखरता होगा।

उसकी बेचैनी का सबने मज़ाक बना दिया है,जीते जी उसकी जिंदगी को श्मशान बना दिया है।

ऐ ख़ुदा टूटा हुआ वो परिंदा कहां जाएगा आखिर में बस पंख फैलाकर तेरे पास आएगा।

- चंचल सिंह

Read More

दिन तो यूं ही गुज़र जाता है जाने क्या सोचते सोचते,
ये रातें ही तो हैं जो हमें इतना व्यस्त रखती हैं।
रोना भी रहता है ,सोना भी रहता है ,तेरे ख्यालों में खोना भी रहता है।
इतनी व्यस्तता में खुद ही खो जाती हूं कभी- कभी, फिर अपने आप को खोजना भी रहता है।
दिन तो यूं ही गुज़र जाता है,
ये रातें ही तो हैं जो हमें इतना व्यस्त रखती हैं।

- चंचल सिंह

Read More

यूं थक के अकेला जब मैं बैठता हूं,
ना जाने क्या क्या मैं सोचता हूं।
ये अंधेरा भी मुझसे बहुत कुछ कह जाता है,
जिंदगी का वो पल बस थम सा जाता है।
यूं थक के अकेला जब मैं बैठता हूं,
अपने ही अंदर क्यूं अपने आप को खोजता हूं।

- चंचल सिंह

Read More

मेरी वो खामोशियां तूने सुनी तो होंगी ना,
कुछ ख्वाहिशें तूने भी बुनी तो होंगी ना।
तेरा हाथ भी मेरे हाथ के साथ के लिए तड़पा होगा ,
वो हवाएं तुझसे भी कुछ कहती तो होंगी ना।
बारिशें जब भी जमीं से मिलने आती होगी,
तेरा भी दिल मुझसे मिलने को तड़पा तो होगा ना।

- चंचल सिंह

Read More

दिल की दरारों को ज़ार ज़ार कर दिया,
तेरी उन निगाहों ने तार तार कर दिया।
किस बागीचे से चुना था तूने वो फूल,
जिसने मेरे दिल पे वार आर - पार कर दिया।
-- चंचल सिंह

Read More

समय समय की बात है कभी कुछ लोगों का समय बदलता है तो कभी समय बदलने के साथ कुछ लोग लेकिन एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि समय रहते अपनी बुरी आदतें बदल लेनी चाहिए नहीं तो जब समय उन्हें बदलता है तो बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है।

Read More

यूं तो अकेले पड़ जाने से मुझको डर लगता है ।
तुझसे दूर हो जाने से ये दिल डरता है।
बस तू हाथ थाम लेना जब मैं लड़खड़ाउँ , क्यूंकि गिर जाने से ये दिल डरता है।

-Chanchal Singh

Read More

#लक्षण
अपने लक्ष्य के प्रति आत्मीय भाव से समर्पित व्यक्ति के लक्षण अन्यों से भिन्न होते हैं, वह सोता जागता उठता बैठता अपने लक्ष्य के बारे में चिंतन करता है।

जैसा कि एक लोकोक्ति में कहा गया है कि
" पूत के पांव पालने में ही दिख जाते हैं"
अर्थात, किसी व्यक्ति की वर्तमान स्थिति या लक्षण के हिसाब से उसके भविष्य का अंदाज़ा लगाया जा सकता है ।

Read More