दीपक बुंदेला लेखक, निर्माता-निर्देशक टीवी सीरियल लेखन और एसोसिएट डायरेक्टर (मिले सुर मेरा तुम्हारा, भक्ति सागर, गज़ल स्पेसल, फ़िल्मी चक्कर, चाणक्य, टीपू सुल्तान, जय हनुमान, विवाह, अजीब और भाभी ) वीडियो सांग डायरेक्शन (मेड इन इंडिया, ठंडा ठंडा पानी, तेरे बालों में मोती पिरो दू, एक लड़की प्यारी प्यारी लग भाग 200गानों का फिल्मांकन और नए लोगों को इंटरडूस किया ) फीचर फ़िल्म- इन क्रिएटिब डायरेक्टर (लाल दुपट्टा मल मल का, जीना तेरी गली में, सूर्य पुत्र शनि देव, माँ वैष्णों देवी, बेबफा सनम. वर्तमान में

DBArymoulik

आदमी ही आदमी का लिवास ओढ़ता हैं आदमी..!
जो ढोंग मिलने मिलाने रीवाज़ ओढ़ता हैं आदमी..!!

लिवास ए आड़ की गिरेवा से गिरेवा झांकता हैं आदमी..!
असलियत छुपा के चेहरे औरों के ताकता हैं आदमी..!!

ओहदा ए ओहदों की नस्ल टटोले हैं आदमी ही आदमी..!
होड़ की ज़िन्दगी में गिरता गिराता हैं आदमी ही आदमी..!!

Read More

दोस्त एक ही रखा मैंने कोई दूसरा और बनाया नहीं...!
कई तो बनाते हैं बहुत पर मैंने उसे कभी भुलाया नहीं..!!
हर रात जला हूं यादों में उसकी आंखों को कभी सुलाया नहीं..!
जलता रहा जो फ़िक्र में उसकी कभी और चराग जलाया नहीं...!!

-Deepak Bundela AryMoulik

Read More

एहसास

-Deepak Bundela AryMoulik

देख लिया उम्दा लिवासों की सोहबत में रह कर
दर्द वही के वही पुराने रहें..!
ना बदली जुबां ए सोच की रंगत हर आइनों में जिस्म वही के वही पुराने रहें..!!
नए लिवास ए जिस्म ढकले कितना भी आदमी खंडहर ए जिस्म आसियाने रहें..!
शानों शौकत की दौड़ में हैं हर आदमी, पर आदमी ही आदमी से अनजाने रहें..!!

Read More

मांगा था सुकूं ज़िन्दगी में जो तन्हाई आ गई....!
मर गई अब भूख देख हसरत महंगाई आ गई..!!

-Deepak Bundela AryMoulik

क्या एक दिन का पर्यावरण दिवस ही हम मनाएंगे...?

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के मुताबिक, 29 मई तक पूरे देश में 9346 बच्चे ऐसे हैं, जो कोरोना महामारी के चलते बेसहारा या अनाथ हो गए। इनमें अधिकतर बच्चों ने ने अपने माता-पिता में से किसी एक को खो दिया। सबसे ज्यादा 2110 बच्चे उत्तर प्रदेश में हैं। दूसरे नंबर पर बिहार, तीसरे पर केरल और चौथे पर मध्य प्रदेश है।

Read More