Hey, I am on Matrubharti!

जिंदगी ऐसे जियो कि खुद को पसंद आ जाए दूसरे तो भगवान से भी दुखी होते हैं व्यक्ति एक व्यक्ति होता है इतिहास तो श्रीकृष्ण भी नहीं पलट पाए तो इंसान क्या पलट पाएगा जो लिखा होगा जिंदगी में वह होकर रहेगा दोस्तों उससे दूर नहीं भागना चाहिए उसका सामना करना चाहिए कि परेशानी तू कब तक आएगी और मैं कब तक तेरा सामना करो जिंदगी ऐसे जियो कि आज का दिन लास्ट है आज मुझे सब कुछ करना है व्यक्ति का हर पल इंपॉर्टेंट होता है व्यक्ति समाज और जिम्मेदारियों से जुड़ा हुआ होता है व्यक्ति भी बहुत जिम्मेदारी होती हैकौन जीता है बचपन गुजारने के लिए सब जीते उम्र के बाद उमर गुजारने के लिए खुद को अपने आप को ऐसे रखो कि मुझे फर्क नहीं पड़ता लोग मेरे बारे में क्या कहते हैं क्योंकि लोग तो भगवान से दुखी है आपको मंजिला सीन करनी है तो आपको बहरा लंगड़ा और अंधा बनना पड़ेगा क्योंकि आप जब तक लोगों की सुनोगे तो आपको लोगों की चीख सुनाई देगी आप उस मंजिल की आवाज नहीं सुनाई देंगी दोस्तों इंसान सब संभलता तो मुझे ठोकर लगती है इसलिए जिंदगी में ठोकर लगना भी अच्छी बात है और खाना भी अच्छी बात है दुख नहीं आएगा तो आपको दुख में इंपॉर्टेंट पल कैसे याद रहेगा सुख आएगा तो आपको खुद को संभालना या कुछ जिम्मेदारियां निभा नहीं आएगी यह मेरी कहानी मेरी जुबानी है मेरे खुद के हैं मैंने कोई इंटरनेट द्वारा और कहीं से भी शब्द नहीं लिए हैं मेरी खुद की डायरी है और मेरा तो यही कहना है हर दिन हर दिन हर दिन आगे बढ़ो हर दिन एक मुसीबत से लड़ो मुझे मुसीबत दे मैं तुझे जिंदगी

Read More

जीवन में कुछ पल ऐसे भी आते हैं जिन्हें हम सहन ही नहीं कर पाते हैं जैसे उसने मेरी इज्जत ही नहीं कि उसने मुझे ऐसा क्यों कहा मैं ऐसा थोड़ी हूं आदि पर इन सब ने एक बात कोमन  है कि अपनी भावनाओं को ठेस पहुंचाना और खुद एक बीमारी का शिकार हो जानापर इससे भी बड़ी बात जो है वह यह है कि खुद इन सब में पीछे होते रहना क्योंकि इन बातों को अभी से सोचने से अपने करियर से पीछे होते रहना है और अपने आपको एक ऐसे अंधेरे की और। दखेलना है जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है तो इन सब से बाहर निकलने का आसान रास्ता यह है कि अपने पिंजरे में पड़े रहो और दूसरों की पिंजर में जब ॼाओ तब जरूरत हो उन्हे‌ नहीं मुझे तब दूसरों के पिंजरे में जाना चाहिए और अपने लक्ष्य पर हमेशा नजर रखनी चाहिए क्योंकि जब आंखें कहीं और होती है तो निशाना भी कहीं और ही लगता है मन में गलत विचार आते हैं पर इन विचारों में क्या गलत है और क्या सही है यह देखकर सकारात्मक दिशा की ओर ही आगे बढ़ना है



खुद के लिए जीयो तो 
अमर रहोगे 
और
दूसरों के लिए जिओगे 
तो अजगर रहोगे
🙄🙄🙄🙄🙄🙄🙄🙄

Read More

सुना था कि तेरी वादियों में है नूर
पर जब आए तब पता चला कि
हम तो हमारी वादियों से ही हो गए दूर
🙄🙄🙄🙄🙄🙄🙄🙄

खुद के लिए जियो तो
अमर रहोगे
और
दूसरों के लिए जिओगे
तो अजगर रहोगे
🙄🙄🙄🙄🙄🙄