Yayawar जिसे कही आराम नहीं... जो बस भटकना जानता है अब ठेहेर ना सिख रहा है... लिखना सिख रहा है... उस्मे छिपी awargi को पेहचान के yayawargi बनके जीना सिख रहा है... for more follow me on insta... with name yayawar.gi

सुन मेरे भावी जीवनसाथी
तुम मेरी सारी जरूरते पूरी करना ,
पर मेरे सपने मत जानना
मेरी ख्वाहिसे मत पूछना
मेरे अरमान मत समझना
तुम इस रिश्ते में मुझे
बराबरी का दर्जा मत देना
क्योकि,
फिर शायद तुम्हे वो राज़ बतादूँ
जो शायद तुजे पसंद ना आए
मेरी बेफिकरी मेरी बेशर्मी लगे
और शायद बेसुलुकी भी..
तुम ना पति ही रेहना
मेरे प्रेमी मत बनना,
किसी से अपनी तुलना
कारण मत बनना !
ना पागलपन सेह पाओगे
ना मुझे हज़म कर पाओगे
तुम ना मेरे दोस्त मत बनना
वर्ना मै 'aap' कैसे कहूँगी तुजे?

Read More

मशवरा

इश्क

magic

आज़ादी