I am professor , (M.A.M.ed.M.Phil.Ph.d. ) writer ,poet and singer also. I have fond of reading, writing and singing........................... ગીતાના ચિન્તનમા ચિંતુ હું,મને રાખ શરણમાં કિન્તુ તું, થઈ જાવ ખૂબ નિહાલ , મારી અરજ સુણ તું જગપાલ. ( visit my you tube channel ) https://youtu.be/__5MOiWL4QM

Happy world family day,,,,

आप कौन हो,,,

સાદગી,,,,

१२/०५/२०२१
"नाराजगी"
आपका नाराज होना मुनासिब है,
आपकी नाराजगी सिर आंखों पर,
लेकिन नाराज होने की एक मुनासिब वजह बता दो।
फिर हम सारे गिले-शिकवे दूर करेंगे,
आपको हमसे कभी ना दूर होने देंगे,
आपकी हर बात मानेंगे,
आपको सराहेंगे,
आपको खुदा मानेंगे,
आपको नाराज होने का पूरा हक है,
फिर भी नाराज होने की एक मुनासिब वजह तो बताएं,
चाहे जितना भी नाराज हो, हो लीजिए,
लेकिन बेवजह नाराज होना,
यह कहां का दस्तूर है?
किसी को इस तरह बेवजह
सताना क्या मुनासिब है?
आपको नाराज होना पूरा हक है।
स्वरचित डॉ दमयंती भट्ट
✍️...© drdhbhatt...

Read More

જીવનનો શ્રેષ્ઠ અભિનય...

"कितना अच्छा होता"
धरती पर सबके दिलों में प्यार होता?
ना कुछ तेरा ना कुछ मेरा होता,
यह संसार सबका सांझा होता,
कितना अच्छा होता सब के दिलों में प्यार ही प्यार होता?
ना कोई अपना होता ना कोई पराया,
ना कोई अमीर होता ना कोई गरीब होता
अगर इस धरती पर सब एक समान होता,
कितना अच्छा होता सब के दिलों में प्यार होता?
कितना अच्छा होता ना किसी को कोई दुख दर्द होता,
ना किसी के जीवन में कांटे और कलियां होती,
सबका जीवन फूल ही फूल खुशियां होता,
कितना अच्छा होता सबके दिलों में प्यार ही प्यार होता?
ना किसी के जीवन में कष्टों का सैलाब होता,
ना किसी का जीवन बेमतलब , बेफिजूल होता,
हर किसी का जीवन सुख का सागर होता,
कितना अच्छा होता सबके दिलों में प्यार ही प्यार होता?
✍️...© drdhbhatt...

Read More

છે એક અજોડ માં નું હાલરડુ,
બીજું નીલગગનનું ચાંદરડુ.
છે એક અજોડ શીતલ છાયા માની,
બીજી પૂર્ણિમાની ચાંદની.
છે એક ધોધ અવિરત વાત્સલ્ય માં
બીજો પાવનકારી ગંગા માં,
છે એક સ્નેહે ઘૂઘવતો દરિયો માં,
આંખે લહેરાતી લહેરોમાં સદા માં.
✍️...© drdhbhatt...

Read More

वो मां ही होती है,
जो मुझे दुनिया की हर बला से बचाती है,
वह मां ही होती है,
जो मेरे लिए सारी रात जगती है,
वह मां ही होती है,
जो मेरी खुशी के लिए दिन रात दूवाएं करती है,
वह मां ही होती है,
जो मेरे लिए ही जीती है मरती है,
भोमा ही होती है केवल ही केवल,
मेरे सुख की चिंता करती है,
वह मां ही होती है,
जो मेरे लिए अपना सारा जीवन,
दुख में काटने के लिए तैयार रहती है,
वह एक मां ही होती है,
जिसके लिए अपने बच्चे का सुख सबसे ऊपर होता है,
वह मां ही होती है,
जिसका स्थान भगवान से भी ऊपर होता है।
मेरी मां ही मेरा सबकुछ है।
✍️...© drdhbhatt...
मातृदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 💐💐💐🙏🙏🙏

Read More

टैगोर जयंति की हार्दिक शुभकामनाएं 💐💐💐🙏🙏🙏

कौन सुनता है,,,