Jainish Dudhat (JD). Belongs from teaching field. Loves reading, taking baby steps in the world of writing.

आंखे खुले तो मैं देखूं तुझे,
सिर्फ यही फरमाईश है ।

पहली तो मुझको याद नहीं,
तु मेरी आखरी ख्वाइश है ।

तुम ऐसे मुझमें शामिल हो,
तुम जान मेरी तुम ही दिल हो ।

शायद में भुला दू खुद को भी,
पर तुमको भूल न पाऊंगा ।

में फिर भी तुमको चाहूंगा,
में फिर भी तुमको चाहूंगा ।

Read More

જીવન છે વ્હાલા, સહેલું ક્યાંથી હોય ?
એક એક શ્વાસ ચૂકવવો પડે છે, જીવતા જીવ.

जिंदगी है प्यारे, आसान थोड़ी न होगी ?
एक एक सांस चुकानी पड़ती है, जिते जी ।

Read More

कहानी तो सब की होती है,
किसी की छप जाती है तो किसी की छिप जाती है।

राधे राधे
हर हर महादेव

लबों पे लिखी है मेरे दिल की ख्वाईश, लफ्जों मे कैसे में बताऊं,
एक तुझको ही पाने की खातिर, सबसे जुदा में हो जाऊ,

कल तक मैंने जो भी ख्वाब थे देखे तुझमें वो दिखने लगे,
इश्क जो जरा सा था वो बढ़ गया रे, तेरा फितूर जब से चढ़ गया रे ।

Read More

लाख रोका पर रुका ना, इश्क ये सरजोर हे,
अपनी चाहत और कुछ है, इश्क की कुछ और है !

तेरे मेरे बस में क्या है, हो रहा है जो लिखा है,
इस लम्हे की ख्वाइशों में जिंदगानी की रजा है !

-Jainish Dudhat JD

Read More

કોઈ સોનું બનાવે છે, તો કોઈ ફ્રાય ફ્રેન્ચી 😂😂😂😂

આમને આમ બટાકાનો ભાવ વધી જવાનો...

#રમૂજ

लाख रोका पर रुका ना, इश्क ये सरसोर है,
अपनी चाहत और कुछ है, इश्क की कुछ और है,

तेरे मेरे बस में क्या है, हो रहा है जो लिखा है,
इस लम्हे की ख्वाइशों में, जिंदगानी की रजा है

#शब्द_संगीत

Read More

तुझे सोचकर उठना और तेरे बारे में सोच कर सो जाना,
कितना आसान है तेरा न होकर भी तेरा हो जाना !

થોડા સમય માટે "જગતનો સમ્રાટ" વાર્તા લખવામાં વિરામ લઉં છું, પણ જલદીથી ફરી નવા ભાગ સાથે હાજર થઈશ.

ત્યાં સુધી મારી એક નવી રચના " પ્રેમકહાની સને 2100 ની :- ચાહતથી જુનુન સુધી" ને વાંચો...

JD The Reading Lover લિખિત વાર્તા "પ્રેમકહાની સને 2100 ની :- ચાહતથી જુનુન સુધી - 1" માતૃભારતી પર ફ્રી માં વાંચો
https://www.matrubharti.com/book/19905941/premkahaani-sun-2100-ni-1

પ્રથમ વખત પ્રેમકહાની પ્રસ્તુત કરી રહ્યો છું, જોઈએ કેવો અનુભવ રહે છે..

☺️☺️🙏🏻🙏🏻

Read More

किस्मत का खेल भी बहुत अजीबो गरीब होता है, हर कोई कहा इसे समझ पाता है,

कोई उसके लिए मन्नते मांग रहा है और वो किसी और को दुआ ओ में मांग रही है ।

Read More