I am reading on Matrubharti!

ना दवाई है ना
इलाज है ,

ऐ ईश्क तेरे टक्कर
की बला आई है l

मेरा कत्ल करने की उनकी साजिश तो देखगो,

पास से गुजरे तो मास्क हटा के छींक दिया ।

દિવસે દિવસે ઓછું થાય છે વજન શાયરીનું,

કોઈ તો તબિયતથી દિલ દુઃખાવો યારો....