Hey, I am on Matrubharti!

https://youtu.be/DQk7GNHZNBo
मेरी लघुकथा पेश है. सुनिए

Sneh Goswami लिखित कहानी "तानाबाना - 28" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19903815/tanabana-28

जिन्दगी हमें सिखा रही थी सरगम
सा रे ग म
ये हम ही हैं जो सारे गम ले बैठे

-sneh goswami

Sneh Goswami लिखित कहानी "टेढी पगडंडियाँ - 43" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19925726/tedhi-pagdandiyan-43

दोस्ती और दुश्मनी के सिलसिले को तोड़ कर।
एक दिन सो जाउंगी मैं
मिट्टी की चादर ओढ़ कर।।

-sneh goswami

रूह में धीरे से उतर आते हो
बारिश की फुहार की तरह
तन मन भिगो जाते हो
वासंती बयार की तरह

-sneh goswami

🌹 _*सुप्रभात*_ 🌹

ज़िन्दगी में जो भी करना है खुद के भरोसे और अपने दम पर कीजिए

लोगों के भरोसे पर नहीं क्योंकि

_लोग कंधो पर तब ही उठाते हैं जब मिट्टी में मिलाना हो।

-sneh goswami

Read More

Sneh Goswami लिखित कहानी "टेढी पगडंडियाँ - 39" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19924164/tedhi-pagdandiyan-39