अगर मुस्कुराहट के लिए ईश्वर का शुक्रिया नहीं किया, तो आँखों मे आये आँसुओं के लिये शिकायत का हक़ कैसा ?

    No Novels Available

    No Novels Available