Hey, you are reading me on Matrubharti!

દરેક ની આંખો માં છું હું..
બસ રીત અલગ છે..
કોઈક ની આંખ માં ખુશીની રીતે..
કોઈક ની આંખ માં આંસુની રીતે...
કોઈક ની આંખ માં કણાની રીતે..

-हर्निल_हरि

Read More

लड़के ने कहा मुझे खुद पर भरोसा नही...

किसीने पूछा : क्यों?

लड़के ने कहा सब ने शक किया है भरोसा नही...

-हर्निल_हरि

Read More

what you get and lost is depend on your past...
हर्निल_हरि

इंसान कभी कभी अपनो को दुःखी करने के चक्कर मे,
परायो को अपना घोषित करने की गलती कर बैठता है...
और वो पराये वो होते है जिन्होंने उनके पूर्वजों को दुःख दिया होता है...

-Harsh Bhatt

Read More

ખોટો વ્યક્તિ પહેલા ખોટો હોય છે,
પછી મારો તારો કે આપણો હોય છે...
-हर्निल_हरि

-Harsh Bhatt

अभी तक कि जिंदगी इतनी दमदार गुजरी है की,कोई भी मूवी देखे तो लगता है उसका कोई ना कोई कोई पात्र लेखक ने हमसे इंस्पायर हो के लिखा हो...
-Harsh Bhatt

Read More

तब
समय के लिए प्यार था
प्यार के लिए समय नही था
अब
समय से नफरत है और खुद से भी...
हर्निल_हरि