Song writer gujarati Hindi nd Rajsthani story writer nd reading books

किसिसे बात करने के लिए शब्द नहीं मन होना चाहिए,
जब मन नहीं हैं तो उन शब्दो को क्या करोगे आप.!!!

शायर "हर्ष"

लोग तस्सलीया देते देते थकते नहीं हैं,
और मैं उनका साथ देते देते थकता नहीं हूं.!!!

शायर "हर्ष"

समझाने वाले तो बहुत लोग मिलते हैं,
तलाश तो उसकी हैं जो दिल से समझता हो.!!!

शायर "हर्ष"

लफ्जो में दर्द बया करे भी तो कैसे करे,
लोग अल्फाज़ को पढ़ते हैं समझते कहा हैं.!!!

शायर "हर्ष"

समुन्दर से सीखा हैं मैने उसकी तरह शांत रहना,
फिर धीरे धीरे पानी की तरह उसमे बह जाना.!!!

शायर "हर्ष"

good morning friends

अगर लोगों ने एक बार गुलामगिरी book's पढ़ ली तो में दावे के साथ कहता हूं आप किसिकी गुलामी नही करोंगे!!!