Hey, I am on Matrubharti!

हुआ है दर्द क्यों इतना ,
कही कुछ तो हुआ होगा ।
ना जाने किसकी नज़रों से,
कोई अपना गिरा होगा
चमकते है सितारे भी
फलक पर ही चमकते हैं।
वो सूरज है भला,
कैसे किसी का वो
सगा होगा ।

-Bushra Hashmi

Read More

जब नाश मनुष्य पर छाता है,
सबसे पहले उसका
विवेक मर जाता है ।

-Bushra Hashmi

बैठा बनिया क्या करे,लेले कलम दवात,
जो दिल में आ जाए लिख दे,वो कागज में बात
कागज में वो बात भी लिख दे,
जिसका सर न पैर
बैठा बनिया सोच की दुनिया,में ही करता सैर,,,।

-Bushra Hashmi

Read More

स्त्री के चरित्र पर इतनी भी शंका ना करो की वो आपको अपनाने में भी खुद को चरित्रहीन समझ ले ।

-Bushra Hashmi

Jivan me bulandiyan milne se pahle
kai rishton ki kurbani deni parti hai

-Bushra Hashmi

The more you love someone
the less you get love

-Bushra Hashmi

maintaining peace in your life
is hardest thing in the world
🧘

-Bushra Hashmi

है दायरे कुछ इस तरह
जिंदगी में
के पंख भी हैं ,खुला आसमान भी है
पर मेरे हौसले मुझे बेड़ियां लगा रहे है ।

-Bushra Hashmi

Read More

love is like wind
you can't live without it ❤️

-Bushra Hashmi

कर लचीला रुख तू अपना ,
वरन तू पछताएगा,
है अकड़ ,
तो शाख से तू ,टूट कर गिर जाएगा ||

-Bushra Hashmi