Hey, I am on Matrubharti!

हम तो सीरियस थे तुम्हारा होना था बाक़ी,
अब तो मिलन सिर्फ़ तब होगा जब बदन पर होगी ख़ाकी !!

माँगता है भारत इन्साफ़ #इन्साफ़ #सुशांत सिंह राजपूत

माँगता है भारत बदला

आँख से अंधे को दुनिया नहीं दिखताी,
काम के अंधे को विवेक नहीं दिखता,
मंद के अंधे को अपने से श्रेष्ठ नहीं दिखता,
और स्वार्थी को कहीं भी दोष नहीं दिखता।

प्रिन्स शुक्ला

Read More

संघर्ष करते हुए मत घबराना,
क्योंकि संघर्ष के दौरान ही,
इंसान अकेला होता है,
सफलता के बाद तो सारी,
दुनिया साथ होती है,
प्रिन्स शुक्ला
क्राइम रिपोर्टर

Read More