Hey, I am on Matrubharti!

आ गया नया साल सपने हे हज़ार हर साल की तरह ना फीके पड़े ये नये संकल्प के तार

दो दिन की दूरी से ख़त्म होगा ये साल ना जाने क्या लिखा हे अगले साल बस कैलेंडर ना बदले बदले दिन की शुरुवात सब रहे ख़ुशहालीसे यही दुआ है इस बार

Read More

ज़िन्दगी का खेल अब समझ नहीं आया हारते हारते जितने के लिए ही क्या कहते हैं जीना

वर्ष सरत आले कोरोनाची पीड़ा नाही टळली
२०२१ ला एवढेच मागणे तू घेऊन ये स्वस्थ आरोग्याची गुरूकिल्ली

वर्ष सरत आले तरी कोरोनाची पीडा नाही टळली
२०२१ कडून एवढेच मागणे घेऊन तू स्वस्थ आरोग्याची गुरुकिल्ली