Insta official i'd / aruandhateegarg9 , Facebook page / @aruandhatee ( Aruandhatee Garg ) , Twitter / @aruandhatee ( Aruandhatee Garg ) , https://hindi.pratilipi.com/user/dlr50vj119?utm_source=android&utm_campaign=myprofile_share।

आप सभी को व आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं , भगवान लक्ष्मी गणेश सरस्वती कुबेर संग आपके कुटुम्ब में हमेशा स्थापित रहें , धन धान्य से आपके घर को परिपूर्ण करें , ये दीपावली आप सभी के लिए सुख , संपत्ति और सौहाद्र के साथ - साथ ढ़ेर सारी खुशियों से परिपूर्ण हो 💐💐💐💐💐🎊🎊🎊🎊🎊🎉🎉🎉🎉🎉🍨🍨🍨🍨🍨😊🙏🏻

शुभ दीपावली 🪔🎇🏵️💥🧨

Read More

सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 💐💐💐

अरे , ओ मूषक राज.... !!!
ये पकड़िए सारे मोदक,
और जल्दी से यहां से भाग चलिए
वरना नंदी हमारे सारे मोदक
चट कर जायेंगे
और कार्तिकेय भैया
उनका पूरा - पूरा सहयोग देंगे
आखिर उन्हें मुझे परेशान करने में
बड़ा आनंद जो आता है
चलिए ..., चलिए मूषक राज
भाग चलिए यहां से
इससे पहले कि माता या फिर अन्य कोई
हमें ये मोदक लेते देख ले ....।

- अरुंधती गर्ग ( मीठी 😊 )

आप सभी को गणेश महोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं 💐💐💐🌺🌺🌺

Read More

हवाओं ....., मैं नाराज़ हूं तुमसे 😠
""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""



हवाओं से लग रहा है
जैसे अब दुश्मनी हो मेरी

मैं आती हूं
तो खुद किनारा काट लेती हैं

कह दो उससे कोई
जो अगर मैंने किनारा काटा उससे

तो फिर वो बादल लेकर आए या फिर तारे
रोए बरसात की तरह या फिर चांद को अपना आइना बनाए

मैं न मानूंगी फिर कभी
और न ही उसकी धड़कन में फिर कभी समाऊंगी


- अरुंधती गर्ग ( Meethiiiiiii 😊 )

____________________________________________________

कहो हवाओं.........., तुम कैसी हो...???
आज तो तुम्हारा इंतजार करते - करते थक गई मैं,
तुम तो नही आई आज शाम.....,
पर तब भी मैंने अपनी चाय खत्म कर दी,
मम्मी ने बनाई थी आज चाय ,
बेसब्री से इंतजार था मुझे ....,
कि आज तुम्हें मम्मी की चाय से मिलवाऊंगी
लेकिन पता नही तुम आज क्यों नहीं आई...!!!!
नाराज़ हो क्या मुझसे...???
बता रही हूं तुमको...,
अगर ऐसा नहीं है तो अब तुम मेरी नाराज़गी झेलने को तैयार रहो,
क्योंकि अब मैं तुमसे बहुत नाराज़ हूं ....,
बहुत ही ज्यादा नाराज़ ...!!!
आज तो मैं बचपन की तरह तुमसे कट्टी करूंगी,
जाओ अब ...., मैं तो नहीं मानने वाली 😏🙄🤨🧐

::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::

मान मनौव्वल बढ़ावा रहे हैं हम इन हवाओं से अपना ....., बहुत नखरे करती हैं ये ....., अब हम करेंगे नखरे , भले ही झूठे ही सही 🤭😀

___________________________________________


एक हफ्ते पहले की पिक है 👇, अपनी ही छत से खींची थी हमने , तब ये हवाएं बहुत जोरों से बह रही थीं । अब नही चल रही न , इसी लिए उन्हें याद दिलाने को डाले हैं , कि देख लो , अब न मानेंगे 😏।

Read More