Bikne Dijie chashma-charkha by Ashok Mishra in Hindi Humour stories PDF

बिकने दिजिए चश्मा-चरखा

by Ashok Mishra in Hindi Humour stories

एक खबर आई थी कि गांधी जी का चश्मा और चरखा बिक रहा है। सवाल यह है कि जब गांधीवादियों ने उनके पूरे दर्शन को ही बेचकर खा लिया, तो फिर चश्मा-चरखा ही बिक रहे हैं, तो कैसा दर्द ...Read More


-->