Nainam Chhindati Shasrani - 22 by Pranava Bharti in Hindi Novel Episodes PDF

नैनं छिन्दति शस्त्राणि - 22

by Pranava Bharti Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

22 अब लगभग शाम के सात बज रहे थे | सूर्यदेव थके-माँदे अपने निवास की ओर प्रस्थान करने के लिए कदम बढ़ा चुके थे | कहीं कहीं उनके अवशेष दिखाई दे रहे थे, गोधूलि का झुटपुटा वातावरण में पसरने ...Read More