Vah ab bhi vahi hai - 23 by Pradeep Shrivastava in Hindi Novel Episodes PDF

वह अब भी वहीं है - 23

by Pradeep Shrivastava Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

भाग -23 मैं और छब्बी इंतजार ही करते रह गए कि, वो हमें डांटे-फटकारें, नौकरी से बाहर कर दें। उनके आने के दूसरे ही दिन तोंदियल भी आ गया। अब हम-दोनों कई दिन तक बड़ा अटपटा सा महसूस करते ...Read More


-->