Tadap - 4 by Saroj Verma in Hindi Love Stories PDF

तड़प--भाग(४)

by Saroj Verma Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

राजमाता चित्रलेखा का दो टूक जवाब सुनकर शिवन्तिका सहम गई,उसे अब अपनी मौहब्बत ख़तरे में नज़र आ रही थी,उसने सोचा कि उसके मन की बात शायद उसकी दादी कभी नहीं समझ पाएंगी,इसलिए उसने टेलीफोन करके फौरन ये बात अपनी ...Read More