sakhtjan by Deepak sharma in Hindi Short Stories PDF

सख़्तजान

by Deepak sharma Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

दीपक शर्मा “आप की मां का फोन आया है,’’ सुबह के आठ बजने में पन्द्रह मिनट बाकी थे जब जौहरी परिवार की नौकरानी ने उनके वैवाहिक कक्ष पर दस्तक दी । उषा का मोबाइल मां के पास धरे का ...Read More


-->