Scandal of Bohemia - Full Book in Hindi Adventure Stories by Sir Arthur Conan Doyle books and stories PDF | बोहेमिया के स्कैंडल - संपूर्ण उपन्यास

बोहेमिया के स्कैंडल - संपूर्ण उपन्यास

दी एडवेंचर्स ऑफ़ शेरलोक होम्स

बोहेमिया के स्कैंडल

खंड १

शेरलॉक होम्स के लिए वह हमेशा 'वो औरत' ही थी | मैंने होम्स को किसी और नाम से उसका ज़िक्र करते शायद ही सुना हो| उसकी आँखों में वो इस प्रकार छा गयी थी कि फिर वह किसी और महिला को देख ही नहीं पाया | वह उसके लिए अन्य सभी महिलाओं से श्रेष्ठ थी| हालांकि होम्स के दिल में एरीना एडलर के लिए कोई प्यार जैसी अनुभूति नहीं थी | उसके ठन्डे,सटीक लेकिन प्रशंसनीय रूप से संतुलित दिमाग के लिए ऐसी भावनाएं, खासकर उस प्रकार की भावना, तो गर्हित या त्याज्य ही थीं | होम्स यक़ीनन दुनिया की सबसे बेहतरीन तर्क एवं निरीक्षण मशीन की तरह था लेकिन एक प्रेमी के रूप में वह कभी उपयुक्त नहीं था | ऐसी कोमल भावनाओं के लिए उसके पास अगर कुछ था तो मात्र उपहास या तिरस्कार | एक निरीक्षक के लिए ये सब चीज़ें बहुत सराहनीय हो सकती है बल्कि किसी व्यक्ति के इरादों और चाल-चलन को बेपर्दा करना हो तो इन भावनाओं से बढ़िया कुछ नहीं हो सकता लेकिन एक प्रशिक्षित विचारक के लिए अपने अच्छी तरह से समायोजित और नाजुक स्वभाव में इस तरह के अतिक्रमण को स्वीकार करना एक ध्यान भंग करने वाले तत्व को स्वीकार करने जैसा था जो उसकी बुद्धि-कौशल से प्राप्त परिणामों को भी संदेह के घेरे में ला सकता था |किसी संवेदनशील उपकरण में कोई कंकरी फंस जाना या उसके अपने हाई पॉवर लेंस में दरार पड़ना भी इतना चिंताजनक नहीं हो सकता था जितना कि उसके जैसे स्वभाव में ऐसे प्रबल संवेग का आना | फिर भी, एक केवल एक महिला तो आ ही गयी थी उसके ख्यालों में और वह महिला थी एरीना एडलर जिसकी यादें भी संदिग्ध और संदेहास्पद थीं |

इधर कुछ दिनों से मेरा होम्स से मिलना काफी कम हो गया था | मेरे विवाह ने हम दोनों को दूर कर दिया था |मेरा अपना सम्पूर्ण आनंद, मेरी घर गृहस्थी में दिलचस्पी और इस गृहस्थी का मुखिया होने के अहसास ने मेरा सारा ध्यान अपनी और आकर्षित कर रखा था जबकि होम्स जो अपनी विशुद्ध बोहेमियन आत्मा से समाज के हर रूप को नापसंद करता था, अपनी पुरानी किताबों में डूबा, सप्ताह दर सप्ताह कभी कोकेन तो कभी अपनी महत्त्वाकांक्षा, कभी नशा तो कभी अपनी खुद की उत्सुक प्रकृति की प्रचंड ऊर्जा में बारियाँ बदलता, हमारे बेकर स्ट्रीट वाले आवास में ही रहता रहा | वह अब भी हमेशा की तरह अपराध के अध्ययन द्वारा प्रगाढ़ रूप से आकर्षित हुआ, अपनी विशाल फेकल्टी एवं निरीक्षण की असाधारण शक्तियों का उपयोग उन सुरागों का अनुसरण करने और उन रहस्यों को सुलझाने के लिए करने में लगा रहा जिनको आधिकारिक पुलिस भी निराश होकर छोड़ चुकी थी| समय समय पर उसके कार्यों का अस्पष्ट सा लेखा-जोखा मेरे कानों में पड़ता रहा था | जैसे ट्रेपॉफ हत्याकांड में ओडेसा(उक्रेइन) से सम्मन, त्रिंकोमाली (श्रीलंका) में एटकिंसन भाइयों की अनोखी त्रासदी का उसके द्वारा सुलझाना और अंततः हॉलैंड के शासक परिवार के एक महत्वपूर्ण मिशन को उसने जिस कुशलता और सफलता पूर्वक पूरा किया | तथापि उसकी गतिविधियों के इन संकेतों,जो मैंने केवल डेली प्रेस के सभी पाठकों से साझा किये थे, के अतिरिक्त मैं अपने पुराने मित्र और साथी के बारे में कम ही जानता था |

२० मार्च १८८८ की रात को मैं एक मरीज़ को देख कर लौट रहा था (मैंने अब तक अपनी चिकित्सक के रूप में सिविल प्रेक्टिस फिर से प्रारम्भ कर दी थी), तो मेरा रास्ता मुझे बेकर स्ट्रीट में ले आया | जैसे ही मैं उस अच्छी तरह से याद दरवाजे के सामने से गुजरा जो कि मेरे तमाम प्रेम प्रदर्शनों और 'स्कारलेट' में अध्ययन की गुप्त घटनाओं के साथ मेरे मन-मस्तिष्क से जुड़ा था, मुझे होम्स को फिर से देखने और उसके अपनी असाधारण शक्तियों को इस्तेमाल करने के तरीकों को जानने की एक तीव्र उत्कंठा ने जकड़ लिया | उसके कमरे तेज रौशनी से जगमगा रहे थे | जैसे ही मैंने ऊपर देखा तो उसकी लम्बी और कृशकाय आकृति एक छाया की तरह खिड़की की ब्लाइंड्स के सामने से दो बार गुजरती हुई दिखाई दी | वह अपने सिर को अपने वक्ष में धंसाए, हाथों को अपने पीछे बाँधे हुए बड़ी व्यग्रता और तेज़ी से कमरे में चहलक़दमी कर रहा था | मैं चूँकि उसकी सारी आदतों और मनः स्थितियों से वाक़िफ़ था, उसके हाव-भाव और रवैये से सब कुछ समझ गया| वह फिर से किसी काम पर था | वह अपने नशेबाजी के सपनों से निकल कर किसी नए मिशन के रहस्य में डूबा हुआ था | मैंने दरवाजे की घंटी बजाई और उस चेम्बर में ले जाया गया जो पहले मेरे हिस्से में भी था |

मुझे देखकर उसने किसी आतुरता का प्रदर्शन नहीं किया जो वह वैसे भी कम ही करता था,लेकिन मेरे ख्याल से वह खुश जरूर था | उसने बिना एक भी शब्द बोले लेकिन एक सौम्य दृष्टि से मुझे देखते हुए कुर्सी पर बैठने का इशारा किया, अपने सिगार का केस मेरी ओर फेंका और कोने में रखे स्पिरिट केस और गेसोजीन को दिखाया | इसके बाद वह कमरे में जल रही आग के सम्मुख खड़ा हो गया और अपने विशिष्ट विश्लेषक अंदाज में मुझे देखा |

"तुम्हे विवाह करना सूट किया है," उसने टिप्पणी की | "मेरे विचार से जब से मैंने तुम्हे देखा है, तुम्हारा साढ़े सात पौंड वजन तो बढ़ गया है |"

“सात !" मैंने जवाब दिया |

"असल में मुझे थोड़ा सा और सोचना चाहिए था, बहुत ही थोड़ा सा | वाटसन ! मैं कल्पनाएं करता हूँ | और मैं देख रहा हूँ कि तुमने प्रैक्टिस भी शुरू कर दी है | तुमने मुझे बताया नहीं था कि तुम्हारा अपना काम वापस शुरू करने का इरादा है |"

"फिर तुम्हें कैसे पता लगा |"

“मैं देखता हूँ और तर्कों से निष्कर्ष निकलता हूँ | नहीं तो मुझे कैसे पता चला कि तुम हाल ही में काफी भीगे हो और तुम्हारी नौकरानी बहुत ही फूहड़ और लापरवाह है |"

"मेरे प्यारे होम्स ! यह तो बहुत ज्यादा हो गया| अगर तुम कुछ शताब्दी पहले हुए होते तो निश्चित रूप से जला कर मार डाले गए होते | यह सच है कि मैं बृहस्पतिवार को कंट्री वॉक पर था और बुरी तरह मिटटी से लथपथ होकर घर लौटा था | लेकिन क्योंकि मैंने अपने कपड़े बदल लिए थे, मैं ये कल्पना भी नहीं कर सकता कि तुमने ये सब कैसे जान लिया | जहाँ तक मेरी नौकरानी- मैरी जेन का सवाल है,तो वह तो सुधारे जाने लायक है ही नहीं | मेरी पत्नी ने तो उसे नोटिस भी दे दिया है, लेकिन फिर भी,यह मेरी समझ से बाहर है कि तुम ये सब कैसे हल कर लेते हो ?"

वह थोड़े गर्व से हँसा और अपने लम्बे और बैचेन हाथों को आपस में रगड़ा |

"ये तो अपने आप में बहुत सरल है | मेरी ऑंखें मुझे बता रही है कि तुम्हारे बाएं जूते के अंदर, ठीक जहाँ पर अंगीठी की रौशनी टकराती है, वहां चमड़े पर छह लगभग समानांतर कटावों के निशान हैं | ज़ाहिर है, यह उसके द्वारा किया गया है जिसने पपड़ीदार मिट्टी हटाने के लिए उसके तल्ले के किनारों को लापरवाही से रगड़ा है। तुमने मेरा दोहरा निष्कर्ष देखा कि एक तो तुम बहुत खराब मौसम में बाहर थे | दूसरे तुम्हारी नौकरानी विशेष रूप से घातक, जूते काटने वाली लंदन मजदूरनी का नमूना है | अब जहाँ तक तुम्हारे प्रैक्टिस शुरू करने का पता लगने की बात है, अगर कोई सज्जन मेरे कमरे में आयोडोफोर्म की गंध, सीधे हाथ की तर्जनी पर चाँदी की नाइट्रेट के काले निशान और अपने टॉप हैट के दायीं ओर स्टेथोस्कोप छिपाने के कारण बने उभार के साथ प्रवेश करता है और मैं उसके डॉक्टरी पेशे का सक्रिय सदस्य होने के बारे में न बता पाऊँ तो फिर मुझे वास्तव में मूर्ख होना चाहिए |”

जिस सरलता से उसने अपनी निष्कर्ष निकलने की प्रक्रिया को समझाया, मैं अपनी हंसी नहीं रोक पाया | “मैं तुम्हें जब भी तर्क देते सुनता हूँ तो मुझे ये चीजें बड़ी हास्यास्पद तरीके से आसान लगती हैं कि ये तो मैं भी कर सकता था, जबकि जब तक तुम अपनी पूरी प्रक्रिया नहीं समझा देते, मैं तुम्हारी तार्किकता के हर उदाहरण पर चकरा जाता हूँ | अभी भी मुझे विश्वास है कि मेरी ऑंखें तुम्हारी आँखों जितनी ही अच्छी हैं |"

"निस्संदेह," उसने एक सिगरेट जलाते हुए और खुद को एक आराम कुर्सी पर फेंकते हुए उत्तर दिया," तुम देखते हो लेकिन गौर से नहीं देखते, अंतर् एकदम स्पष्ट है | उदाहरण के लिए तुमने हॉल से इस कमरे तक आने वाली सीढ़ियों को अक्सर देखा है |"

"हाँ,बहुत बार..."

"कितनी बार ?"

"हज़ारों बार |"

"तो कितनी पैड़ियाँ है वहाँ ?"

”कितनी है ? मुझे नहीं पता |"

"यही तो ! तुमने निरीक्षण नहीं किया कभी | जबकि तुमने देखा है | बस यही मेरा पॉइंट है | अब सुनो, मुझे पता है कि वहाँ सत्रह पैड़ियाँ हैं, क्योंकि मैंने देखा भी है और निरीक्षण भी किया है | वैसे, क्योंकि तुम इन छोटी समस्याओं में रुचि भी रखते हो और चूंकि तुम मेरे छोटे-छोटे अनुभवों में से कुछ को तारीखवार लिखने में भी समर्थ हो तो तुम्हें इसमें दिलचस्पी हो सकती है |" उसने मोटी, गुलाबी रंग के नोट-पैड का एक पन्ना फेंका जो मेज पर खुला पड़ा था | उसने कहा,"यह अभी आखिरी डाक से आया है, इसे जोर से पढ़ो |"

इस फुटनोट पर न तारिख दर्ज़ थी और न ही कोई हस्ताक्षर या पता था |

"आज रात को पौने आठ बजे एक सज्जन आपसे मिलने आएंगे जो एक बहुत ही गंभीर महत्त्वपूर्ण मामले पर आपसे सलाह लेना चाहते है | यूरोप के एक शाही परिवार को दी गयी आपकी सेवाओं से यह पता चला है कि आप पर अति महत्त्वपूर्ण मामलों में सुरक्षित रूप से विश्वास किया जा सकता है | हमें हर जगह से आपके बारे में यही पता चला है | उस समय आप अपने कक्ष में ही रहिएगा और अगर आगंतुक ने मुखौटा पहना हो तो बुरा मत मानिएगा | "

"यह तो वास्तव में एक रहस्य लगता है | तुम्हारे अनुसार इसका क्या मतलब हो सकता है ?" मैंने टिप्पणी की |

"अभी तो मेरे पास कोई विवरण नहीं है और बिना विवरण के किसी निष्कर्ष पर पहुंचना बहुत बड़ी गलती होती है क्योंकि ऐसे में व्यक्ति तथ्यों के आधार पर सिद्धांत बनाने के बजाय सिद्धांतों से मेल बैठाने के लिए असंवेदनशील होकर तथ्यों को तोडना मरोड़ना प्रारम्भ कर देता है | लेकिन हमारे पास जो नोट है इससे तुम क्या निष्कर्ष निकालते हो ?"

मैंने हस्तलेख और जिस पर यह लिखा हुआ था उस कागज की सावधानी से जाँच की |

"मेरा अनुमान है कि इसे लिखने वाला व्यक्ति काफी सम्पन्न है," मैंने अपने साथी की प्रक्रिया की नकल करने का प्रयास करते हुए कहा, "ऐसा कागज़ आधा क्राउन प्रति पैकेट से कम नहीं खरीदा जा सकता| यह अनोखे रूप से मज़बूत और सख्त है |"

"हम्म !अनोखा ! ये बिलकुल सही शब्द कहा तुमने |" होम्स ने कहा, "यह इंग्लिश कागज़ तो किसी हाल में नहीं है, ज़रा इसे रौशनी की तरफ करो |"

मैंने वैसा ही किया और देखा कि अंग्रेजी का एक बड़ा ‘E’ एक छोटे ‘g’ के साथ, एक ‘P’ और एक बड़ा ‘G’ एक छोटे t’ के साथ कागज़ की बनावट में ही बुना हुआ था |

'तुम्हें इससे क्या पता चला ?" होम्स ने पूछा

"निस्संदेह,बनाने वाले का नाम बल्कि उसका मोनोग्राम |"

“बिलकुल नहीं,छोटे ‘t’ के साथ बड़ा 'G' 'जैसेलशाफ्ट' के लिए प्रयुक्त होता है जो कम्पनी शब्द का जर्मन अनुवाद है | यह हमारे Co. की तरह पारम्परिक संक्षिप्त नाम है | ‘P’ बेशक पेपिएर के लिए प्रयुक्त होता है . अब ‘Eg’ के लिए हम अपने महाद्वीपीय गैज़ेटियर पर निग़ाह डालते हैं |"

उसने अपनी अलमारियों से एक भारी सा भूरे रंग का खंड निकाला |

“ एग्लो ..एग्लोनित्ज़... लो ये मिल गया,एग्रीआ | ये बोहेमिया में एक जर्मन भाषी देश है, कार्ल्सबैड से दूर नहीं है | ‘वालेंस्टाइन’ की मृत्यु के दृश्य के रूप में उल्लेखनीय और इसके ढेर सारे कांच के कारखानों और कागज़ की मिलों के लिए भी |"

उसकी ऑंखें चमकने लगीं और उसने अपने सिगरेट से एक बड़ा नीला विजयी बादल छोड़ा |

"कागज़ बोहेमिया में बनाया गया है |" मैंने कहा

“निश्चित रूप से, और जिस आदमी ने नोट लिखा है,वह जर्मन है | क्या तुमने इस अजीब से वाक्य-विन्यास पर ध्यान दिया ? हमारे पास तुम्हारा जो लेखा-जोखा है वह हर जगह से मिला है | एक फ़्रांसिसी या रशियन इस प्रकार नहीं लिख सकता | यह केवल जर्मन ही हो सकता है जो अपनी क्रियाओं के लिए इतना अशिष्ट है |

अब बस ये पता लगाना है कि ये जर्मन चाहता क्या है जो बोहेमियन कागज़ पर लिखता है और अपना चेहरा दिखाने की बजाय मुखौटा पहनना पसंद करता है | और अगर मैं गलत नहीं हूँ तो लो हमारे सारे संदेह हल करने के लिए वह आ गया है |"

जैसे ही उसने यह कहा उधर से सड़क के किनारे से घोड़ों के खुरों और पहियों के घिसटने की एक तीखी सी आवाज आयी | जिसके तुरंत बाद तेजी से घंटी बजाई गयी |

"आवाज से लगता है घोड़ों की जोड़ी है," उसने कहा, "हाँ सचमुच " खिड़की से बाहर झांकते हुए बोला "एक बढ़िया सी छोटी सी बग्घी और घोड़ियों की एक सुंदर जोड़ी, प्रत्येक की कीमत एक सौ पचास गिन्नियां हैं| वाटसन ! अगर और कुछ भी नहीं तो इस केस में पैसा तो हैं |"

“मेरे ख्याल में मेरा जाना ठीक रहेगा,होम्स !"

"जरा भी नहीं,डॉक्टर !, तुम जहाँ हो वहीं रहो |अपने जीवनी लेखक के बिना मैं बेकार हूँ और ये मामला बहुत दिलचस्प होने वाला हैं | इसे खोकर पछताना पड़ेगा |"

"तुम्हारा क्लाइंट- ?"

"उसकी चिंता मत करो, मैं तुम्हारी सहायता चाहूंगा और शायद वह भी | लो वह आ गया | डॉक्टर ! उस आराम कुर्सी पर बैठ जाओ और हमें अपना पूरा ध्यान दो |"

एक धीमी और भारी पदचाप जो सीढ़ियों पर और गलियारे में सुनाई दे रही थी, दरवाजे के बाहर अचानक रुक गयी और एक तेज और साधिकार थपथपाहट सुनाई दी |

"आ जाइये!" होम्स ने कहा

एक आदमी ने प्रवेश किया जिसका कद छह फ़ीट छह इंच से शायद ही कम होगा और जिसका सीना और अंग-प्रत्यंग हरकुलिस जैसा था | उसकी पोशाक उस समृद्धता से बहुमूल्य थी जिसे इंग्लैंड में सुरुचि की दृष्टि से खराब माना जाता था |

उसके दोहरी छाती वाले कोट के सामने की ओर तथा पूरी आस्तीनों में अस्त्राखान के भारी फीते लगे हुए थे | जबकि कंधों पर डाले हुए चोगे में लौ के रंग का अस्तर लगा हुआ था जो गर्दन पर एक ब्रोच, जो एक बड़े चमकदार फ़िरोज़ा से बनाया गया था, से कस दिया गया था | पिंडलियों तक लम्बे बूट जिनके ऊपरी किनारों पर कीमती भूरा फर लगा हुआ था, उसके क्रूर ऐश्वर्य के उस प्रभाव को पूर्णता प्रदान कर रहे थे जो उसकी पूरी वेशभूषा द्वारा व्यक्त हो रहा था | उसने अपने हाथ में एक चौड़े किनारे वाला हैट पकड़ा हुआ था जबकि चेहरे के ऊपरी भाग पर नीचे की ओर गालों के उभरे हुए भाग को ढकता हुआ एक काले रंग का जादूगर वाला मुखौटा पहना हुआ था जो कि प्रत्यक्ष रूप से उसी समय ठीक किया गया था क्योंकि जब उसने प्रवेश किया तब भी उसका हाथ इसकी ओर उठा हुआ था | चेहरे के निचले भाग से, वह एक मोटे लटकते हुए होंठ और एक लम्बी सीधी ठोड़ी जो उसके जिद की हद तक जाने वाले संकल्प की प्रतीक थी, एक मजबूत चरित्र वाला व्यक्ति प्रतीत हो रहा था |

"तुम्हें हमारा नोट मिला ?" उसने गंभीर, रूखी आवाज़ और स्पष्ट जर्मन उच्चारण में पूछा, " हमने तुम्हें बताया था कि हम तुम्हें बुलाएँगे |" उसने बारी-बारी हम दोनों को देखा जैसे कि यह नहीं समझ पा रहा हो कि किसे सम्बोधित करूँ|

"कृपया आप बैठिये |" होम्स ने कहा,"ये मेरे मित्र और सहकर्मी डॉक्टर वाट्सन, जो कभी-कभी मेरे मामलों में मेरी मदद करने के लिए काफी अच्छे हैं। मुझे किसको सम्बोधित करने का सम्मान मिल रहा हैं? ".

“आप हमें काउंट वॉन क्रैम, एक बोहेमियन गणमान्य,कह कर सम्बोधित कर सकते हैं | हम समझ सकते हैं कि ये सज्जन--आपके मित्र--एक सम्मानित एवं विवेकशील व्यक्ति हैं जिन पर हम एक अति महत्त्वपूर्ण मामले में भरोसा कर सकते हैं | अगर नहीं तो हम आपसे अकेले में संवाद करना पसंद करेंगे |"

मैं जाने के लिए उठा, लेकिन होम्स ने मेरी कलाई पकड़ ली और मुझे वापस कुर्सी पर धकिया दिया |

वह बोला,-" या तो हम दोनों रहेंगे या कोई नहीं, आपको मुझसे जो भी कहना है, आप इन सज्जन के सामने कह सकते हैं|"

काउंट ने अपने चौड़े कंधे उचका दिए | "तब हमें आरम्भ करना चाहिए," उसने कहा, "आप दोनों को दो वर्ष के लिए पूर्ण गोपनीयता रखनी होगी इसके बाद यह मामला महत्त्वहीन हो जायेगा | इस समय यह कहना ज्यादा नहीं होगा कि फ़िलहाल यह इतना महत्त्वपूर्ण हैं कि इसका प्रभाव यूरोपीय इतिहास पर भी पड़ सकता हैं |"

"मैं वचन देता हूँ |"

"और मैं भी |"

"आप इस मुखौटे के लिए हमें क्षमा करेंगे," हमारे अजीब आगंतुक ने आगे कहा," जिस कुलीन व्यक्ति ने हमें इस कार्य के लिए नियुक्त किया हैं,वह चाहता हैं कि उसका प्रतिनिधि आपके लिए अज्ञात रहे और हम भी यह स्वीकार करते हैं कि हमने भी आपको अपनी जो पहचान बताई हैं,वह भी पूरी तरह हमारी नहीं हैं |"

"मैं ये जानता था |" होम्स ने रुखाई से कहा |

"दरअसल परिस्थितियाँ इतनी नाज़ुक हैं कि हमें हरेक सावधानी बरतनी पड़ेगी क्योंकि जरा सी भी चूक यूरोप के शासक परिवारों में से एक के लिए एक बड़ा कलंक बन सकती हैं और उनकी प्रतिष्ठा पर भी आंच आ सकती हैं | स्पष्ट रूप से कहूं तो इस मामले में बोहेमिया के वंशानुगत राजा, महान आर्म्सटीन घराना फंसा हुआ हैं |"

"मुझे यह भी पता हैं |" होम्स ने अपनी कुर्सी में ठीक से बैठते और अपनी ऑंखें बंद करते हुए बुदबुदा कर कहा |

हमारे आगंतुक ने उस सुस्त और आराम से बैठी पुरुष-आकृति को प्रत्यक्ष आश्चर्य से देखा,जिसको यूरोप का सबसे जबरदस्त तर्कसंगत और सबसे ऊर्जावान एजेंट बताया गया था |

होम्स ने धीरे से अपनी ऑंखें खोलीं और अधीरता से अपने उस लम्बे चौड़े मेहमान को देखा |

"अगर महामहिम अपना मामला बताना स्वीकार करें तो मैं आपको ज्यादा बेहतर सलाह दे पाऊंगा |"

वह व्यक्ति अपनी कुर्सी से उछल पड़ा और अदम्य व्यग्रता के साथ कमरे में चहलकदमी करने लगा फिर एक मायूसी की मुद्रा में उसने अपना मुखौटा उतार कर ज़मीन पर फेंक दिया |

"तुमने ठीक पहचाना," वह चिल्लाया,"हम ही राजा हैं | भला हम तुमसे ये क्यों छिपाएँ ?"

"हाँ ! क्यों छिपाएँ ?" होम्स बुदबुदाया |

"महामहिम, आपके बोलने से पहले मुझे यह पता था कि मैं विल्हेल्म गोट्सट्राइक सीजिसमोंड वॉन ऑर्मस्टॉइन से बात कर रहा हूँ, जो कैसल फैलस्टाइन के ग्रैंड ड्यूकऔर बोहेमिया के वंशानुगत राजा हैं |”

“आप समझ सकते हैं," हमारे अजीब मेहमान ने फिर से बैठते हए और अपना हाथ अपने ऊँचे श्वेत माथे पर ले जाते हुए कहा "कि हम अपने खुद के व्यक्तित्व में ऐसा काम करने के आदी नहीं हैं । फिर भी मामला इतना नाजुक था कि हम स्वयं को खतरे में डाले बिना किसी एजेंट पर विश्वास नहीं कर सकते थे |

हम आपका परामर्श लेने के लिए प्राग से छद्म वेश में आये हैं |"

"फिर, सलाह लें," होम्स ने फिर से अपनी आंख बंद करते हुए कहा |

“बात कुछ इस प्रकार हैं,लगभग पांच वर्ष पहले, वारसॉ की लंबी यात्रा के दौरान, हमने एक सुविख्यात साहसिक महिला एरिना एडलर के साथ जान पहचान बना ली थी, बेशक आपने भी उसका नाम सुना होगा |”

“डॉक्टर! कृपया उनका नाम मेरे रजिस्टर में देखना ज़रा ! होम्स अपनी ऑंखें बंद किये हुए ही बुदबुदाया| कई वर्षों से होम्स ने यथासम्भव सभी व्यक्तियों, घटनाओं और वस्तुओं के ब्यौरा दर्ज़ करने की प्रणाली अपनाई हुई थी | इसलिए किसी व्यक्ति या विषय का नाम देना मुश्किल है जिस पर वह तुरंत जानकारी प्रस्तुत न कर सका हो | इस केस में एरीना एडलर का जीवन-वृत्तांत मुझे एक हिब्रू रब्बी और एक कर्मचारी कमांडर, जिन्होंने गहरे समुद्र की मछलियों पर एक मोनोग्राफ लिखा था, की जीवनियों के बीच में छिपा मिला |

“लाओ मुझे दिखाओ," होम्स ने कहा

हम्म, १८५८ में नई जर्सी में जन्मी, कॉन्ट्रालो ...हम्म,ला स्काला...हम्म, प्राइमा डोना, इम्पीरियल ओपेरा,वॉरसॉ --- यही ! ओपेरा के मंच से अवकाश-प्राप्त --हा ! लंदन में रहती हैं --बिलकुल ठीक ! महाराज, जहां तक मैं समझ रहा हूँ, आप इस युवती के चक्कर में पड़ गए, उसे कुछ प्रेम-पत्र लिख दिए और अब उन पत्रों को वापस प्राप्त करना चाहते हैं |"

“बिलकुल यही ! लेकिन कैसे?"

"क्या आप दोनों का गुप्त विवाह भी हुआ था ?"

"बिलकुल नहीं !"

"कोई क़ानूनी दस्तावेज़ या प्रमाणपत्र ?"

“नहीं !"

"तब मुझे आपकी बात समझ नहीं आ रही महाराज! अगर यह युवती उसके पत्रों को ब्लैकमेल या किसी दूसरे प्रयोजन से प्रयोग करती है तो वो उनकी प्रमाणिकता कैसे सिद्ध करेगी ?"

"हस्तलेख ?"

" बिलकुल नहीं, बनाया गया !!"

" हमारा व्यक्तिगत नोट -पैड?"

"चुराया गया !"

" हमारी अपनी मोहर ?"

"नकल!"

“हमारा फोटो ?"

"खरीदा गया !"

"फोटो में हम दोनों थे |"

“ओह ! यह तो बहुत बुरा हुआ, महामहिम से ये तो बहुत बड़ी गलती हो गयी |"

“हम पागल ----दीवाना हो गये थे |"

"आपने खुद को बड़ी गंभीर मुसीबत में डाल लिया है |"

”तब हम केवल युवराज थे, जवान थे, अब हम तीस साल के हैं |”

इन्हें तो फिर से प्राप्त किया जाना चाहिए |"

“ हमने कोशिश की लेकिन असफल रहे |”

“महामहिम! आपको भुगतान करना होगा | उन्हें खरीद लेना चाहिए |.”

”वो नहीं बेचेगी |”

“तो चुरा लीजिये |.”

“पांच बार कोशिश की जा चुकी है | दो बार हमारे आदमियों ने उसका सारा घर छान मारा |एक बार जब वो यात्रा कर रही रही थी तो उसका सामान छीन लिया | दो बार उसका सामान चोरी भी किया गया,लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला |"

"कोई सुराग नहीं ?"

“बिलकुल नहीं |"

होम्स हंसने लगा |"यह तो बहुत छोटी सी समस्या है |" उसने कहा |

"लेकिन हमारे लिए बहुत गंभीर !" राजा ने तिरस्कार पूर्वक प्रत्युत्तर दिया |

"सच में बहुत बड़ी, और वो उस फोटो का प्रयोग कहाँ करेगी ?"

"हमें बर्बाद करने में |"

"पर कैसे ?"

“हमारी शादी होने वाली है |"

“हाँ मैंने सुना था |”

“ राजकुमारी क्लॉटिलडे लोथमेन वॉन सेक्स मेनिंगेन से,जो स्कैंडेनेविया के राजा की दूसरी बेटी है | उनके परिवार के नियम बहुत कड़े हैं | वह स्वयं बहुत नरम दिल है लेकिन हमारे चरित्र को लेकर जरा सी भी गलत बात उन तक पहुंची तो यह रिश्ता यहीं खत्म हो जायेगा |"

"और एरिना एडलर ?"

“उसने वो फोटोग्राफ उनको भेजने की धमकी दी है और वो ऐसा करेंगी भी |मुझे पता है वो ऐसा जरूर करेगी |आप उसे नहीं जानते, उनका दिल लोहे का है | वो दुनिया की सभी महिलाओं से खूबसूरत हैं और किसी भी आदमी से ज्यादा सख़्तदिल हैं| हमारी शादी किसी और से न हो सके इसके लिए वो कोई भी तरीक़ा आजमाने से नहीं हिचकेंगी |"

"आपको विश्वास है उन्होंने अभी तक वो फोटोग्राफ नहीं भेजा होगा ?"

"हाँ हमें विश्वास है |"

लेकिन क्यों ?"

"क्योंकि उन्होंने कहा है की वो उसे उस दिन भेजेंगी जिस दिन हमारी सगाई की सार्वजनिक घोषणा होगी और वह अगले सोमवार को है |"

“ओह,तब तो हमारे पास अभी तीन दिन हैं |"होम्स ने जम्हाई लेते हुए कहा| " यह तो बहुत अच्छा हुआ क्योंकि मेरे पास तहक़ीकत करने के लिए अभी एक दो मामले और भी हैं |"

"अभी तो महामहिम निश्चित रूप से लंदन में ही रहेंगे न |"

“निश्चित रूप से। आप मुझे काउंट वॉन क्रैम के नाम से लैंगहम में पाएंगे|"

“तब तो मैं आपको सूचित कर सकता हूँ कि हम काम में कहाँ तक पहुंचे |"

"कृपया ऐसा ही कीजियेगा, मुझे चिंता रहेगी |"

"फिर, इसकी कीमत क्या ?"

"कार्टे ब्लैंचे आपका ।"

"पूर्ण रूप से?"

"मैं आपको कह रहा हूँ न कि उन तस्वीरों के लिए तो मैं मेरे राज्य के प्रांतों में से एक आपको दे दूँगा। "

"और वर्तमान खर्च के लिए?"

राजा ने एक भारी सांभर के चमड़े का थैला उसके कपड़े के नीचे से उठाया और मेज पर रख दिया।

"इस में तीन सौ पौंड का सोना है और सात सौ के नोट हैं। "राजा ने कहा।

होम्स ने उसकी किताब के एक पैन पर रसीद लिखी और उसे सौंप दी।

"और मैडेमोइसेल का पता?" होम्स ने पूछा।

"ब्रायोनी लॉज, सर्पटाइन एवेन्यू, सेंट जॉनस वुड। "

होम्स ने अपनी डायरी में लिख लिया। "एक और सवाल,"

उन्होंने कहा। "क्या तस्वीर की कोई पैटी थी?"

" हाँ थी ।"

"ठीक है, फिर, शुभ रात्रि, महाराज, और मुझे भरोसा है की हम जल्द ही आपके पास किसी खुश कबरई के साथ लौटेंगे। और वाटसन तुम्हें भी शुभ रात्रि। उसने वाटसन की और देखते हुए कहा, जैसे ही रॉयल ब्रूम के पहियों की आवाज़ उसने सड़क पर सुनी। "अगर तुम्हें कल दोपहर में ३ बजे बाद कॉल करना ठीक रहे तो करना, मुझे इस मुद्दे पर तुमसे थोड़ी बातचीत करनी है।"

***

खंड २

ठीक तीन बजे मैं बेकर स्ट्रीट पर था, लेकिन होम्स अभी तक वापस नहीं आया था। मकान मालकिन ने मुझे बताया की वह सुबह लगभग आठ बजे ही घर से निकल गया था। मैं नीचे अलाव के पास बैठ गया उसका इंतजार करने के इरादे से, भले ही वह कितना ही लंबे समय तक न आये फिर भी। मुझे पहले से ही उसकी इस पूछताछ में काफी घरी रूचि थी, भले ही इस मामले में कोई गंभीर और असुविधाजनक बातें नहीं थीं पिछले दो अपराधी मामले जो मैंने देखे थे उसकी तुलना में, उसके बावजूद भी मामले के स्वरूप और मुवक्किल के ऊँचे ओहदे और स्वाभाव ने इसे अलग ही किस्म से रुचिकर बना दिया था। और इसके अलावा मेरे दोस्त की जाँच की प्रक्रिया, और स्थिति को पहचानने की उत्तम समझ व भेदक तार्किक विद्या मुझे उसके हर मामले और कार्यप्रणाली को समझने के लिए और उत्सुक बना देती है। इसलिए उसकी अविश्वसनीय सफलता के आदि हो जाने के कारण मुझे उसके असफल होने का कोई आसार नज़र ही नहीं आता।

लगभग कुछ चार बजने के पहले दरवाज़ा खुला और एक सूजे हुए चहरे वाला कुछ बीमार-सा व्यक्ति अजीब से कपडे पहना शराब पिए हुए दूल्हे के लिबाज़ में अंदर आया। अपने दोस्त की रूप बदलने की अद्भुत शक्तियों से परिचित होते हुए भी मुझे ३ बार उसे गौर से देखने के बाद समझ आया की वह मेरा दोस्त ही था। मुझे अभिवादन करके वह अपने बैडरूम में लुप्त हो गया और फिर ५ मिनट बाद पहले की तरह के सम्मानजनक ट्वीड सूट में वापिस लौट आया।

अपने हाथों को अपने जेब में डालते हुए, उसने अलाव के सामने अपने पैर लम्बे किये और फिर कुछ मिनटों के लिए वह खुले दिल से हँसा।

"वास्तव में यार!" वह बोलै और फिर हँसते -हँसते उसकी आवाज़ बंद हुई फिर वह फिर से हँस पड़ा और तब तक हँसता रहा जब तक वो असहाय सा कुर्सी पर नहीं बैठ गया।

"यह क्या है?"

"यह बहुत मजेदार है। मुझे यकीन है कि तुम कभी अनुमान भी नहीं लगा सकते कि आखिर आज सुबह से मैंने क्या और आखिर अभी मैं क्या काम कर के वापिस लौटा हूँ।"

"मैं कल्पना नहीं कर सकता। मगर मुझे लगता है कि तुम मिसइरेन एडलर कि हरकतों पर नज़र रख रहे होंगे और शायद उसके घर पर भी।"

"निस्संदेह; लेकिन अनुक्रम काफी असामान्य था। हालांकि मैं तुम्हें बताता हूँ। आज सुबह में लगभग ८ बजे घर से दूल्हे के लिबाज़ में काम के लिए निकल गया। इस लिबाज़ में घुड़सवारों और फ्रीमेसनरी के लोगों का काफी सहानुभूति का भाव रहता है। बस उनके जैसा कोई मिल जाये, और फिर आप उनके बारे में सब जान सकते हो, जो कि आप जानना चाहते हैं। मुझे जल्दी ही ब्रिआनी लॉज मिल गया। वह बिजौ विला ही था, जहाँ पीछे की तरफ बगीचा था, मगर वह सड़क के काफी सामने तक बना हुआ था, और दो मंज़िला था। एक बड़ा ताला था दरवाज़े पर। दायीं तरफ बैठक के बड़े कमरे, अच्छी तरह से सुसज्जित, और लंबी खिड़कियाँ लगभग मंजिल तक, और उन पूर्व-एक अंग्रेजी के बाद की अंग्रेजी खिड़की के पर लगी चटकनियाँ जिन्हें बच्चे भी आराम से खोल सकें। पीछे की ओर कुछ ऐसा उल्लेखनीय नहीं था, मगर यह बात अपने दिमाग में रखना की वहाँ से निकलने वाली खिड़की पर कोच के घर के शीर्ष से पहुँचा जा सकता था। मैं इसके चारों ओर घुमा और हर दृष्टिकोण से बारीकी से इसकी जाँच की, मगर कुछ भी रुचिकर नहीं लगा।

"मैं फिर सड़क पर उतर गया और जैसा कि मुझे उम्मीद थी कि एक लेन में एक म्यूज़ था जो कि बगीचे की एक दीवार से नीचे की ओर है। मैंने घुड़सवारों की घोड़ों को रगड़ने में सहायता की ओर बदले में मुझे मिला टोपेंस, आधा गिलास मदिरा, शग तम्बाकू के दो गश, और जितना अधिक मैं मिस एडलर के बारे में जानना चाहूँ उतनी सारी जानकारी। जिसे मुझसे उनके आसपास के कुछ आधा दर्जन से ज़्यादा लोगों को न बताने की हिदायत मिली है, जिनमें मेरी कुछ ख़ास दिलचस्पी नहीं, हाँ मगर इसके चलते मुझे आसपास के कई लोगों की मजबूरन सुननी पड़ी।

"और इरेन एडलर का क्या?" मैंने पूछा।

"ओह, उसने तो यहाँ के सभी पुरुषों को अपना शिकार कर रखा है। इस गृह पर टोप के अंदर रहने वाली वह सबसे डरावनी चीज़ है। चालक घुड़सालों का आदमियों से यही कहना है। वह चुपचाप रहती है, संगीत कार्यक्रमों में गाती है, हर दिन पाँच बजे बाहर निकल जाती है, और ठीक सात बजे रात्रि भोजन के लिए घर आ जाती है। और गाने के शिव शायद ही वह कभी घर से बाहर निकलती हो। केवल एक ही पुरुष आगंतुक है, लेकिन उससे उसके काफी अच्छे व्यव्हार हैं। वह गहरे रंग का, सुन्दर आदमी है और रोज़ाना उसे एक कॉल तो करता ही है और अक्सर

दो बार। वह है, मिस्टर गॉडफ्रे नॉर्टन, अपने भीतर वाले मंदिर के। देखो ये फायदे हैं एक कैब वहां चालक का भरोसा जीतने के। वह उन्हें कई दर्जनों बार सर्पेंटाइन म्यूस तक छोड़ कर आते हैं, और इसलिए उनके बारे में सब जानते हैं। जब मैंने वह सब सुन लिया जो की मैं जानना चाहता था, तो मैं फिर से बरियोनी लॉज के आसपास घूमने लगा और अभियान की योजना पर विचार करने लगा।

"यह गॉडफ्रे नॉर्टन स्पष्ट रूप से बहुत ही महत्वपूर्ण तत्त्व है इस मामले में। वह एक वकील था। यह कुछ चिंताजनक लगा। उनके बीच आखिर सम्बन्ध क्या था और उसके बार-बार वहाँ आने-जाने की वजह क्या है? वह उसकी मुवक्किल है, दोस्त है या उसकी रखैल? अगर पहली बात सही है, तो उसने वह चित्र उसे रखने को दे दिए होंगे। और अगर रखेल हुई तो इस बात की सम्भावना काफी काम है। इस सवाल के मुद्दे पर निर्भर करता है कि मैं

बरियोनी लॉज में मुझे अपना काम जारी रखना चाहिए, या उस सज्जन के मंदिर के कक्षों पर मेरा ध्यान केंद्रित करना चाहिए। यह एक नाजुक बिंदु था, और इसने मेरी पूछताछ का क्षेत्र और बड़ा दिया है। मुझे डर है कि मैं तुम्हें इतने विवरण से उबाऊ महसूस करा रहा हूँ, मगर मुझे तुम्हें मेरी इन बारीक और छोटी-छोटी समस्याओं के बारे में बताना पड़ेगा, अगर तुम्हें इस स्थिति को समझना है तो।

मैंने जवाब दिया, "मैं तुम्हारी बातों में बारीकी से तुम्हारा पीछा कर रहा हूँ।"

"मैं अभी भी अपने दिमाग में इस मामले को संतुलित कर रहा हूँ कि जब एक कैब ब्रियोनी लॉज तक पहुँची तब उसमें से गहरे रंग वाला खुशाल नौजवान जिसके बारे में मैंने सुना था: वह उतरा। वह काफी जल्दी में लग रहा था, उसने गाडी चालक को इंतज़ार करने को कहा और फिर सीधा जल्दी में उस कामवाली से जा मिला जिसने उस समय दरवाज़ा खोला था और हवा के झोंके कि तरह वह घर के अंदर विलुप्त हो गया।

"वह घर में लगभग आधा घंटे था, और मैं बैठक के कमरे की खिड़कियों में से उसकी झलक देख पा रहा था, वह ऊपर निचे टहल रहा था, काफी उत्साह से बात कर रहा था, और बात करते हुए अपने हाथ हवा में हिला रहा था। और उस महिला को मैं बिलकुल भी नहीं देखा पा रहा था। अभी वो घर से बाहर आया था और मैं उसे पूरी तरह देख पा रहा था और अब वो पहले से भी ज़्यादा व्याकुल था। और जैसे ही वह गाडी में बैठा, उसने अपनी जेब से सोने की घडी निकली, देखी और बोला "शैतान की तरह गाडी चलाओ" फिर चिल्लाया, 'पहले ग्रॉस पर फिर रीजेंट स्ट्रीट में हैंकी पर और फिर वहाँ से एजवेयर रोड पर संत मोनिका के चर्च पर। लगभग आधा गेनिया का रास्ता पार करना है और वो भी केवल बीस मिनट में!"

"वे चले गए, और मैं बस सोच रहा था क्या ये ठीक होगा की मुझे उनका पीछा नहीं करना चाहिए था। जब मैं ऊपर की रोड तक पहुंचा तो मुझे वहाँ एक छोटी से बघ्घी मिली, जिसमें से एक कोचमैन अपना अधखुला कोट पहने बैठा था, और उसकी टाई उस के कान के नीचे थी जबकि उसके दोहन के सभी टैग खुले हुए थे। और वह आगे नहीं चली जब तक उसने हाल के द्वार से से उसे खींच लिया। मैंने केवल एक नज़र भर उसे देखा, मगर वह बहुत ही सुन्दर युवती थी, बिल्कुल ऐसी सूरत वाली जिसके कोई भी आदमी जान दे सकता हो।

"सेंट मोनिका चर्च, जॉन,"मैंने ज़ोर से कहा और आधा स्वायत्त तुम्हारा अगर तुम बीस मिनट में पहुँचते हो तो।"

"यह हराने के लिए काफी अच्छा था, वाटसन। मैं बस संतुलन बना रहा था कि मुझे इसके लिए इससे आगे दौड़ना चाहिए, या क्या मुझे उसकी बघ्घी के पीछे खड़े रहना चाहिए जब वह कैब रोड तक आये तो। उस गाडीचालक ने दो बार उस थोड़े से किराये को देखा जो मैंने उसे दिया था, और वो कुछ कहने के पहले ही मैं बोल पड़ा "संत मोनिका का चर्च और आधा स्वायत तब जब की तुम मुझे बीस मिनट में पहुँचाते।' अभी बारह बज के २५ मिनट हो गए थे और हालाँकि यह साफ़ था की हवा में क्या था।

"मेरे गाड़ीबान ने काफी तेज़ी से गाडी चलाई, इतनी तेज़ शायद ही कभी मैंने चलाई हो, मगर दूसरे लोग भी वहाँ पर थे। जब मैं पहुँचा वह कैब और बघ्घी दरवाज़े के सामने खड़े थे। मैंने चालक को भुगतान किया और तेज़ी से चर्च की ओर दौड़ा। वहाँ एक भी ऐसा इंसान नहीं था जो उन्हें बचाए जिनका मैंने पीछा किया था, आत्मा नहीं थी

वहां उन दोनों को बचाओ जिन्हें मैंने पीछा किया था और एक अधिशेष पादरी, जो की शायद उन्हें समझा रहा था। वो तीनों बिलकुल एक गांठ की तरह वेदी के सामने खड़े थे। और मैं उधर उसी तरह से भीतर आया जिस तरह से कोई निष्क्रिय व्यक्ति चर्च में आया हो। और अचानक ही, मुझे आश्चर्य हुआ की तीनों मेरी तरफ पलट गए और गोडफ्रे नॉर्टन जितना तेज़ी से हो सकता था, उतनी तेज़ी से दौड़ कर मेरी तरफ आया।

"भगवान का शुक्र है, तुम करोगे। आइए! आइए!" वह बोला

"फिर क्या?" मैंने पूछा।

"आओ मित्र, आओ, केवल तीन मिनट शेष हैं, उसके बाद यह कानूनी नहीं होगा। " वह बोला

"मैं वेदी पर आधा खींच गया था, और मैं समझ पाता उसके पहले मैंने खुद को वो शब्द दोहराते हुए पाया जो की उस समय मेरे कान में कहे जा रहे थे, और मैं वो क्रियाएं कर रहा था जिनके के बारे में मैं कुछ जानता भी नहीं था, और सामान्यत:

मैं इरेने एडलर, एक कुंवारी कन्या और गोडफ्रे नॉर्टन, एक स्नातक के मंगलमयी जीवन की कामना कर रहा था।

ये सब बिल्कुल अचनाक हो गया और अगले क्षण में मेरे एक तरफ सज्जन व्यक्ति खड़ा था और दूसरी और महिला मुझे धन्यवाद देते रही थी और पादरी बीच में खड़ी हो कर मुझे देख रहे थे। यह मेरी ज़िन्दगी का सबसे अजीब पल था जिसमें मैं काफी निरर्थक महसूस कर रहा था और अभी उसी बात को सोच कर मुझे हँसी आने लग गयी। ऐसा लग रहा था की उनके लाइसेंस में कुछ तकलीफ थी और पादरी ने किसी गवाह के बगैर शादी के लिए नामंजूरी दे दी थी और अचानक से मेरी उपस्थिति से वो खुद को भाग्यशाली महसूस कर रहे थे जिसने की दूल्हे को सडकों पर एक गवाह की खोद के लिए दर-बदर घूमने से बचा लिया था। दुल्हन ने मुझे एक संप्रभु दिया, मेरा मतलब है कि उसे मेरी घड़ी की चैन पर धारण करने के लिए, जिससे की मैं इस अवसर को सदा याद रख सकूँ।"

"यह मामले में एक बहुत ही अप्रत्याशित मोड़ था और फिर क्या हुआ?" मैंने पूछा।

"ठीक है, मैंने अपनी योजनाओं को बहुत गंभीरता से देखा। मुझे ऐसा लगा की वे दोनों तत्काल ही विदा ले सकते हैं, और इसलिए मैं उनके लिए शीघ्र उनके काम में लग गया और पूरी शक्ति से अपना कार्य अदा किया। हालांकि, चर्च के दरवाजे पर वे अलग हो गए, वह वापस चला गया मंदिर, और वह अपने घर पर। "मैं हमेशा की तरह पार्क के लिए पांच बजे निकलूँगी" वह बोली और वहां से चली गयी। इसके आगे मैंने और नहीं सुना। वे अलग-अलग रास्तों पर चले गए और मैं अपने लिए दूसरी व्यवस्था करने।"

"कौन से?"

"कुछ ठंडे गोमांस और बियर का गिलास," उसने एक-घंटी बजते ही, जवाब दिया। "मैं भोजन के बारे में सोच भी पाऊँ उसके लिए मैं बहुत व्यस्त था और आज शाम भी शयद यही हाल रहेगा। वैसे डॉक्टर मुझे तुम्हारे सहयोग की ज़रूरत है।"

"मुझे ख़ुशी होगी।"

"तुम्हें कानून तोड़ने पर बुरा तो नहीं लगता?"

"थोड़े बहुत में तो नहीं।"

"न ही गिरफ्तारी का डर है?"

"एक अच्छे कारण के लिए तो नहीं।"

"ओह, कारण उत्कृष्ट है!"

"तो मैं तुम्हारा आदमी हूँ।"

"मुझे यकीन था कि मैं तुम पर भरोसा कर सकता हूँ।"

"लेकिन तुम क्या चाहते हो?"

"जब मिसेस टर्नर यहाँ ट्रे ले कर आएँगी, उसके बाद में यह बात तुम्हें स्पष्ट रूप से समझाऊँगा। अब" यह कहते ही वह मकानमालकिन के दिए हुए साधारण खाने की तरह मुड़ गया, "मुझे यह यह चर्चा कहने के दौरान करनी चाहिए क्यूँकि मेरे पास ज़्यादा समय शेष नहीं है। लगभग अभी पाँच बज रहे हैं। और अगले दो घंटों में हमें कारवाई की जगह पर मौजूद होना चाहिए। मिस इरेने या मेडम जो भी कहें वह अपनी बघ्घी से सात बजे वहाँ पहुँचेंगी। हमें उनसे मिलने के लिए उस समय ब्रायोनी लॉज में होना चाहिए। "

"तुम्हें यह मुझ पर छोड़ देना चाहिए। मैंने पहले ही व्यवस्था कर दी है की आखिर क्या होने वाला है। केवल एक ही बात है जिस पर मैं ज़ोर देना चाहूँगा। तुम्हें कोई हस्तक्षेप नहीं करना है, भले ही जो भी हो जाये। समझ गए?"

"मुझे तटस्थ रहना है?"

"कुछ भी हो जाए, तुम्हें कुछ नहीं करना है। शायद वहाँ थोड़ा अजीब लगे कुछ समय के लिए मगर तुम्हें इससे फ़र्क़ नहीं पड़ना चाहिए। मेरे घर में पहुँचते ही सब ठीक लगने लगेगा। कुछ ४ - ५ मिनट बाद बैठक वाले कमरे की खिड़की खुलेगी। तुम्हें उस खुली खिड़की के नज़दीक खड़े होना है।”

“हाँ, ठीक है।”

“तुम्हें मुझ पर वहाँ से नज़र रखनी है, क्योंकि वहाँ से मैं तुम्हें दिख रहा होऊँगा।”

“हाँ।”

“और उस समय जब मैं हाथ ऊपर करूँ तो तुम कमरे में वो फेंक देना जो मैंने तुम्हें दिया है और उसी समय आग लगने की गुहार लगाना। तुम केवल मेरा अनुसरण करोगे, ठीक है? ”

“पूरी तरह।”

"यह कुछ भयानक नहीं है।" उसने अपनी जेब से सिगार के आकार का बड़ा रोल निकालते हुए कहा "यह एक सामान्य प्लंबर का धुआं-रॉकेट है, जिसके दोनों छोर पर टोपे लगे हुए हैं जिसके कारन उसे स्वप्रकाशित किया जा सके। तुम्हारा काम बस उसी काम तक सीमित है। जब तुम आग लगी का शोर कर के गुहार लगाओगे तो वो वहाँ पर काफी लोगों की भीड़ जमा हो जाएगी। फिर तुम सड़क के दूसरे छोर तक चल के जा सकते हो, और मैं तुम्हें अगले दस मिनटों में वहीँ मिलूँगा। मुझे लगता है की मैंने तुम्हे अपनी बात साफ रूप से स्पष्ट कह दी है?"

"मुझे विरक्त रहना है, तुम पर नज़र रखने के लिए खिड़की के पास खड़े रहना है, और तुम्हारा इशारा मिलने पर इस चीज़ को तुम्हारी और फेंकना है, फिर आग लगने का शोर मचाना है और फिर सड़क के दूसरे छोर पर तुम्हारा इंतज़ार करना है।"

"हाँ सही कहा।"

"तो अब तुम पूरी तरह से मुझ पर भरोसा कर सकते हो।"

"यह बेहतरीन है। मुझे लगता है, शायद, यह लगभग सही समय है जब मैं नई भूमिका के लिए खुद को तैयार कर सकता हूँ। "

वह अपने शयनकक्ष में गायब हो गया और एक सुखद चरित्र में कुछ मिनटों में लौट आया कुछ सरल दिमागी गैर-अनुरूपवादी पादरी के रूप में। उसकी व्यापक ब्लैक टोपी, उसका बैग जैसा पतलून, उसकी सफेद टाई, उसकी सहानुभूतिपूर्ण मुस्कुराहट, और सामान्य रूप व उदार जिज्ञासा से झाँकता हुआ चहरा मिस्टर जॉन हरे के अकेले के रूप के बराबर हो सकता था। होम्स ने केवल अपनी पोशाक ही नहीं बदली थी। उसकी अभिव्यक्ति, उसका व्यवहार, उसकी आत्मा भी उसके इस नए-नए बदले हुए रूप के साथ परिवर्तित सी प्रतीत हो रही थी। इस मंच ने एक बहुत अच्छा अभिनेता खो दिया था, और विज्ञानं ने भी एक गंभीर तर्कसंगत व्यक्ति खो दिया था जिस दिन वह अपराध के मामले सुलझने का विशेषज्ञ बना था।

लगभग साढ़े छह बजे थे जब हम बेकर स्ट्रीट से निकले, और अभी भी हमें सर्पेंटाइन अवेन्यूए पहुँचने में दस मिनट से घंटे भर की देरी थी। यहाँ पहले ही शाम हो चुकी थी और बत्ती भी बस

तभी रोशन हुई थी जब ब्रिआनी लॉज के सामने ऊपर नीचे हो रहे थे, जब हम वहाँ के निवासी की प्रतीक्षा कर रहे थे। यह घर बिलकुल वैसा ही था जैसा की शेरलॉक होम्स के संक्षिप्त विवरण से मैंने सुना था, मगर इलाका जैसा सोचा था उसके अपेक्षित कम निजी लग रहा था।

पर इसके विपरीत, एक शांत पड़ोस में एक छोटी सी सड़क के कारण वह उल्लेखनीय रूप से सजीव लग रहा था। वहाँ कुछ कुत्सित कपड़े पहने हुए पुरुषों का एक समूह था जो की सिगरेट पी रहे थे और कोने में खड़े हो कर ज़ोर-ज़ोर से हँस रहे थे, एक सिस्सोर ग्राइंडर उसके पहिये से खेल रहा था और दो गार्ड्स एक महिला नर्स के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे और कई सारे अच्छे कपड़े पहने युवक खड़े थे जो की अपने मुँह में सिगार के छल्ले बना कर ऊपर-नीचे कर रहे थे।

जब हम इधर से उधर टहल रहे थे तब होम्स ने कहा "तुम देख रहे हो, इस शादी ने इस मामले को काफी सुलझा दिया है। और वो तस्वीरें अब एक दो-धारी तलवार की तरह काम करेंगी। और सम्भावना है कि वो अवस्था के प्रतिकूल मिस्टर गोडफ्रे नॉर्टन के तस्वीर देखने से उतनी ही चिंतित होगी, जितना हमारे मुवक्किल उनकी रानी के सामने इन तस्वीरों के आने से थे। मगर अब प्रश्न यह है कि- आखिर हम वो तस्वीरें ढूँढेंगे कहाँ?"

"अभी भी, आखिर कहाँ?"

" वैसे वह उन तस्वीरों को अपने साथ ले कर तो नहीं घूम सकती क्यूँकि वह कैबिनेट के आकार का है। कोई महिला अपने कपड़ों में छुपा ले इस हिसाब से काफी बड़ा है। वह जानती है राजा उसका रास्ता रोक कर उसकी तलाशी करवा सकता है। इसके भी दो प्रयास पहले किये जा चुके हैं, इसका मतलब वह अपने साथ ले कर तो नहीं घूम रही होगी।"

" फिर कहाँ?"

"उसके बैंककर्मी या वकील के पास। यही एक दोहरी संभावना है। मगर मुझे दोनों ही बारे में सोचने पर कुछ झुकाव महसूस नहीं हो रहा है। महिलाएँ ज़्यादातर मौनावलंबी होती हैं, और उन्हें अपना काम अपने ही गुप्त तरीके से करना पसंद होता है। वह आखिर उसे किसी और के हवाले क्यों करेगी? वह अपने खुद के संरक्षण पर विश्वास कर सकती है मगर वह नहीं कह सकती कि किसी तरह का अप्रत्यक्ष या राजनैतिक दबाव पड़े किसी व्यापारी पर। इसके अलावा यह भी यद् रखना चाहिए कि उसने इसे कुछ दिनों में ही इस्तेमाल करना है। यह वहाँ होगा जहाँ वो उसे आसानी से किसी भी वक़्त अपने हाथ में ले सकती हो। यह उसके खुद के घर पर ही होना चाहिए।"

"मगर वहाँ पर तो दो बार चोरी हो चुकी है।"

"शहहह! वे यह नहीं जानते थे कि आखिर कैसे ढूँढना है।"

"मगर तुम आखिर कैसे देखोगे?"

"मैं नहीं देखूँगा।"

"फिर क्या?"

"मैं उसे यह मुझे दिखाने को मजबूर करूँगा।"

"मगर वह इंकार कर देगी।"

"वह नहीं कर पायेगी। मगर मुझे बघ्घी के पहियों कि आवाज़ सुनाई दे रही है। अब जैसा कहा था वैसे मेरे निर्देश का पालन करो।"

जैसे ही उसने कहा वैसे ही गाड़ी कि पार्श्व बत्ती का उजाला एवेन्यू के एक मोड़ पर पड़ने लगा।

वह एक अच्छी छोटी सी लैंडो गाड़ी थी जो कि खड़खड़ाती हुई ब्रायोनि लॉज के दरवाज़े तक पहुँच गयी। जैसे ही वह रुकी, एक आवारा आदमी दौड़ता हुआ कोने से आया और आगे बढ़कर उसने कांस्य पाने कि उम्मीद से दरवाज़ा खोला, मगर दूसरे आवारा आदमी ने उसे एक तरफ हटा दिया, जो कि समान इरादे से वहाँ आया था। इस झगड़े ने एक बड़े बवाल का रूप ले लिया, जिसे वो कोने में खड़े दो गार्ड ने और भड़का दिया जो कि उनका एक-एक कर पक्ष ले रहे थे, और फिर कैंची तोड़ने वाला व्यक्ति भी इस मामले में उतना ही गरमाया हुआ था। एक दम से सब रुके और केवल एक ही क्षण में जब वह महिला बग्घी से उतरी तो इस पुरे मामले में आकर्षण का केंद्र वह बन गयी और वह इनके झड़े में लट्ठ और मुठभेड़ के बीच फँस गयी थी। होम्स भागता हुआ उस भीड़ में उस महिला को बचाने पहुँचा; मगर जैसे ही वह पहुँचा तो उसकी चींख की आवाज़ आयी और वह ज़मीं पर गिर पड़ा, और मुँह से तेज़ी से खून बाह रहा था। उसके गिरते ही गॉर्ड एक ओर तो आवारा आदमी दूसरी तरफ निकल लिए ओर वो अच्छे कपड़े पहने हुए सज्जन जो इस मामले को केवल दूर से देख रहे थे वे उस महिला को ओर उस ज़ख़्मी व्यक्ति की मदद करने को आगे बढ़े। इरेने एडलर, जैसा की मैं उसे अभी भी ऐसे ही कहुँगा, वह जल्दी से दौड़ी मगर फिर वह ऊपर की ओर खड़ी हो गयी और उसकी सुन्दर आकृति हॉल की रौशनी में सड़क की तरफ देखती हुई काफी सुन्दर लग रही थी।

"क्या इस बेचारे सज्जन व्यक्ति को काफी चोंट आयी है?" उसने पूछा।

"यह मर गया है।" कई सारे लोग बोले।

"नहीं, नहीं इसमें साँस बाकी है । मगर तुम इसे अस्पताल ले कर जाओगे तब तक तो यह मर जायेगा।" एक व्यक्ति बोला।

"यह बहादुर आदमी है। उन लोगों ने मेरा पर्स और घडी चुरा ली होती अगर यह आदमी न होता तो। देखो, यह साँस ले रहा है।" महिला बोली।

"यह रस्ते में नहीं पड़ा रह सकता। क्या हम इस अंदर ले जा सकते हैं?"

"बिल्कुल। उसे बैठक वाले कमरे में ले आओ। वहाँ आरामदायक सोफा है। कृपया इस रास्ते से लाएँ।"

शान्ति और आराम से उसे ब्रायोनि लॉज में लाया गया और प्रधान कक्ष में लेटाया गयाजबकि मैं अभी भी अपनी जगह से खिड़की से अंदर हो रही सारी स्थिति पर नज़र रखे हुए था। लैंप अभी भी जल रहे थे, मगर अँधेरा इतना घोर नहीं हुआ था की मैं काउच पर लेटे होम्स को देख पाऊँ। मुझे नहीं पता की क्या वो अपना जो किरदार निभा रहा था उसके तहत ही इस अवस्था में था मगर यह मैं बहुत अच्छे से जानता था की मुझे खुद पर जीवन में सबसे ज़्यादा शर्मिंदगी महसूस हो रही थी जब मैंने उस सुन्दर महिला को इस हालत में देखा जिसके खिलाफ मैं साजिश कर रहा था या फिर वो कृपा और दयालुता जिसके साथ उसने उस ज़ख़्मी व्यक्ति का इंतज़ार किया। और इसके बावजूद भी यह बहुत बड़ा छल होगा होम्स केसाथ अगर मैं होम्स के बताये हुए अपने किरदार से पीछे हट जाऊँ तो।

मैंने अपनी दिल पर पत्थर रखा और धुएँ वाले राकेट को कोट में से निकाला। आखिरकार हम उसे क्षति थोड़े ही पहुँचा रहे हैं। थोड़ी पहुँचा भी रहे हैं तो उसे किसी और को चोंट देने से बचाने के लिए।

होम्स अब सोफे पर बैठा था, और उसे देख कर मुझे लग रहा था की वह हवा की तलाश में था। एक कामवाली दौड़ती हुई आई और उसने खिड़की खोल दी। और उसी समय मैंने उसे उसका हाथ ऊपर करते हुए देखा, इशारे के अनुसार मैंने राकेट कमरे में फेंका और "आग लगी!" की गुहार लगाई। जैसे ही मेरे मुँह से शब्द निकले और कई सारे लोगों का जमघट वहाँ हो गया, अच्छी तरह से तैयार लोग, कुछ बूढ़े-बुजुर्ग, साईस और कुछ नौकर और नौकरानियाँ और सब के सब "आग आग" चीखने लगे। गहरा धुंए का बादल उस कमरे और खिड़की से निकलता दिखा। मैंने एक झलक में लोगों को भागते हुए देखा और कुछ समय बाद होम्स की विश्वास दिलाती हुई आवाज़ सुनी जिसमें वह कह रहा था की यह गलती से बजा आग लगने का अलार्म है। उस चिल्लाती हुई भीड़ के बीच से रास्ता बनाते हुए में सड़क के दूसरे छोर की ओर बच निकला ओर अगले दस मिनट बाद मैंने अपने दोस्त को खुद से गले मिलते हुए पाया और हम उस कोलाहल के दृश्य ने बाहर निकल आये। वह धीरे-धीरे और शान्ति से कुछ मिनटों के लिए चला, जब तक हम वहाँ से मुड़कर एक सुनसान और शाँत गली में नहीं पहुँचे जो की सीधे ऐजवेयर रोड जा रही थी।

" तुमने बहुत ही सराहनीय कार्य किया, डॉक्टर। इससे बेहतर कुछ भी नहीं हो सकता था। अब सब सही है।" उसने टिप्पणी की।

" तुम्हारे पास तस्वीरें हैं?"

"मैं जनता हूँ वो कहाँ हैं।"

"और वो तुम्हें कैसे पता चला?"

"उसने दिखाया, जैसा कि मैंने कहा था वो बताएगी।"

"मैं अभी भी इस मामले में अन्धकार में हूँ।"

"मैं इसे कोई रहस्य बनाना नहीं चाहता।" उसने हँसते हुए कहा "यह मामला पूरी तरह सुलझा हुआ है। तुमने देखा ही होगा पूरी रोड के सभी लोगों कि इस अपराध में भागीदारी थी। वो सभी इस शाम के लिए वचनबद्ध थे।"

"इसका मैंने अनुमान लगा लिया था।"

"और फिर जब वह झगड़ा हुआ तो मेरे हाथ में लाल रंग था जो मेरे चहरे पर तुमने देखा। मैं आगे दौड़ा और फिर गिर गया, और उन हाथों को अपने चहरे पर लगा लिया, और बेचारा पीड़ित बन गया। यह पुरानी चाल है।"

"इस बात कि गहराई को भी मैं माप सकता था।"

"फिर वे मुझे अंदर ले कर गए। वह मुझे अंदर ले जाने को बाध्य थी। आखिर वो और क्या कर सकती थी? और उसके बैठक के कमरे में जहाँ कि मुझे शक था वो वही कमरा था। यह उसके शयनकक्ष और इसके बिच कहीं था और वही मैं जानना चाहता था। उन्होंने मुझे काउच पर लेटा दिया, और मैंने हवा के लिए इशारा किया, खिड़की खोलना उनकी मज़बूरी थी और तुम्हें इससे मौका तुम्हारा काम करने का मौका मिल गया।"

"आखिर उससे क्या मदद हुई?"

"यह सब ज़रूरी था। जब एक महिला को लगता है कि उसके घर में आग लग गयी है तो उसके स्वभाव के अनुसार वह सबसे पहले अपनी सबसे कीमती चीज़ को लेने के लिए भागती है। यह पूरी तरह से जोरदार आवेग में लिया हुआ काम होता है और मैंने एक बार से ज़्यादा इसका फायदा उठाया है। डार्लिंगटन प्रतिस्थापन घोटाले के केस में भी इससे मुझे काफी मदद मिली थी और अर्न्सवर्थ के किले के व्यापार के समय भी। एक शादीशुदा औरत अपने बच्चे को बचाने के लिए दौड़ी थी तो एक अविवाहिता अपने आभूषण के बक्से को बचाने। और इसके अनुसार यह बाद साफ़ थी कि हमारे आज के मामले में उस महिला के पूरे घर में उस बक्से से ज़्यादा महत्वपूर्ण कुछ नहीं था, जिसकी खोज में हम निकले थे उसके अलावा। वह उसे बचाने के लिए दौड़ेगी। धुएँ और आवाज़ों ने यह काम कर दिया जिससे फायर अलार्म बज गया और ये किसी लोहे के दिल वाले को भी पसीज देने के लिए काफी था। उसने काफी अच्छे से इस बात पर प्रतिक्रिया दी। तस्वीरें कोटरिका के पीछे के खिसकाने वाले पैनल में सीधे बेल-पुल के ऊपर रखी हैं। वह एक क्षण में वहाँ तक पहुँच गयी और मैंने उसकी एक झलक देखी जब उसने लगभग आधा उसे निकाल लिया था। जब मैंने कहा कि यह गलती से अलार्म बजा था तब उसने जगह बदली और नज़र उस राकेट पर डाली और उस कमरे से बाहर निकल आयी और उसके बाद से उसे मैंने नहीं देखा। मैं उठा और अपने कुछ बहाने बना कर वहाँ से निकल लिया। मैंने कोशिश की कि एक बार तस्वीरें सही जगह हैं या नहीं ये देखूँ मगर फिर कोच का आदमी आ गया था और चूँकि वो बारीकी से मुझ पर नज़र रखे हुए था, मुझे इंतज़ार करना बेहतर लगा। और फिर थोड़ा-सा ज़्यादा उतावलापन हमारे पूरे किये कराये पर पानी फेर सकता था।

"और अब क्या?" मैंने पूछा

"हमारी छानबीन वास्तव में पूरी हो चुकी है। मुझे कल राजा को कॉल करना चाहिए और तुमसे भी अगर तुम्हें साथ आना हो तो। हम बैठक वाले कमरे में अगर उस महिला का इंतज़ार कर रहे होंगे तो शायद हमें वो महिला और तस्वीरें दोनों ही न मिलें। यह संतोष की बात होगी अगर महाराज स्वयं उन्हें अपने हाथों से वापस लें।"

"और तुम कॉल कब करोगे?"

"कल सुबह आठ बजे। वो तब तक उठी ही नहीं होगी तो उस समय हमारे पास काफी खाली वक़्त होगा। इसके अलावा हमें जल्दी करना चाहिए क्यूँकि हो सकता है इस शादी के कारण उसके जीवन और उसकी आदतों में पूरी तरह बदलाव आ जाए। और मुझे राजा से बिना किसी देरी के जल्दी ही बात करनी चाहिए।"

हम बेकर स्ट्रीट पहुँच गए और दरवाज़े पर जा कर रुक गए। वो अपनी जेब में चाभी ढूँढ रहा था तभी कोई राहगीर जाते हुए बोला:"शुभ रात्रि, मिस्टर शेरलॉक होम्स।"

उस समय फुटपाथ पर काफी लोग थे, मगर ये आवाज़ किसी पतले युवा की थी जो की कोट में में जल्दी से गुज़रता हुआ गया।

" मैंने ये आवाज़ पहले कभी सुनी है। अब मैं सोच रहा हूँ यह उपद्रवि कौन होगा।" होम्स ने हल्की रौशनी से भरी रोड को देखते हुए कहा।

***

खंड ३

मैं उस रात बेकर स्ट्रीट पर सोया और सुबह फिर सुबह हम टोस्ट और कॉफ़ी में व्यस्त हो गए जब बोहेमिया के राजा दौड़ते हुए कमरे में आए।

"क्या तुम्हें वो सही में मिल गए!" वे शेरलॉक को कंधे से पकड़ते हुए बोले और उसके चहरे की तरफ बड़े आतुरता से देख रहे थे।

"अभी तक तो नहीं।"

"मगर तुम्हें आशा है न?"

"हाँ, मुझे आशा है।"

"तो आओ। मैं वहाँ जाने के लिए पूरी तरह से अधीर हूँ।"

"हमारे जाने के लिए एक कैब होनी चाहिए।"

"नहीं, मेरा ब्रौघं बाहर इंतज़ार कर रहा है।"

"फिर इससे मामला और आसान हो जायेगा।" हम ब्रायोनि लॉज के लिए वहाँ से एक बार फिर रवाना हुए।

"इरेने एडलर ने शादी कर ली है" होम्स ने टिपण्णी की।

"शादी! कब ?"

"कल।"

"मगर किस से?"

"नॉर्टन नाम के एक अंग्रेजी वकील से।"

"मगर वो उससे प्यार नहीं कर सकती।"

"मुझे ऐसी उम्मीद है की वो उससे प्यार करती है।"

"और उम्मीद क्यों?"

"क्यूँकि इससे आपको भविष्य में आपको उसके तंग करने से छुटकारा मिल जायेगा। अगर वो महिला अपने पति से प्यार करे तो महाराज वो आपसे प्यार नहीं करेगी। और अगर महाराज वो आपसे प्यार न करे तो आपकी योजनाओं में दखलंदाज़ी करने का उसके पास कोई सुरक्षित कारण ही नहीं होगा।"

"यह सही है। और इसके बावजूद भी मैं सोचता- ठीक है! मेरी तमन्ना थी की वो मेरे ही क्षेत्र की होती! रानी के लिबाज़ में क्या खूब लगती वो!" वह फिर से मूडी चुप्पी में चले गए जो की तब तक नहीं टूटी जब तक हम सर्पेंटाइन एवेनुए नहीं पहुँचे।"

ब्रायोनि लॉज के दरवाज़े खुले हुए थे और एक बूढ़ी औरत सीढ़ियों पर खड़ी हुई थी। जैसे ही हम ब्रौघं से उतरे, उसने हमारी तरफ तिरस्कारपूर्ण नज़रों से देखा।

"मिस्टर शेरलॉक होम्स है न आप? उसने पूछा।

"हाँ, मैं ही मिस्टर होम्स हूँ।" मेरे साथी ने प्रश्नात्मक और आश्चर्य भरी निगाहों से देखा।

"निस्संदेह! मेरी मालकिन ने मुझे कहा था की आप का कॉल आएगा। वे आज सुबह ५.१५ की गाड़ी से चरिंग क्रॉस से महाद्वीप के लिए निकल गयीं।"

"क्या! आपका कहने का मतलब है कि उन्होंने इंग्लैंड छोड़ दिया?" शेरलॉक होम्स लड़खड़ा कर पीछे हो गया और नाज़राज़गी और अचरज से सफ़ेद-सा हो गया। "कभी न लौटने के लिए।"

"और वो कागज़? सब बर्बाद हो गया।" राजा ने रुक्ष स्वर में पूछा।

"हम देखते हैं।" उसने नौकरों को एक तरफ किया और ड्राइंग रूम में दौड़ा, राजा और मैं भी उसके पीछे-पीछे भागे। सारा फर्नीचर एक ही दिशा में फैला हुआ था, ध्वस्त अलमारियों और खुले हुए ड्रावर के साथ, जैसे कि उस महिला ने फ्लाइट पकड़ने से पहले सारा सामान जल्दी में खाली किया हो। होम्स बेल -पुल के तरफ दौड़ा और पीछे का छोटा शटर तोड़ा, और वहाँ से खींच कर उसने कुछ तस्वीरें और एक पत्र निकाला। वो तस्वीर थी स्वयं इरेने एडलर की इवनिंग ड्रेस पहने हुए और लेटर के ऊपर अंकित था नाम "शेरलॉक होम्स" का। मेरे दोस्त ने उसे खोला और फिर हम तीनों ने उसे एक साथ पढ़ा। उस परभाग जाने वाले दिन की आधीरात का समय और तारीख लिखी थी और खत कुछ इस तरह से था:

"मेरे प्रिय मिस्टर शेरलॉक होम्स:

"आपने सच में काफी अच्छा कार्य किया। आपने मुझे पूरी तरह घेर लिया था। फायर आलराम बजने की बावजूद भी मुझे बिकल शक नहीं हुआ। मगर फिर जब मुझे एहसास हुआ की मैंने झुंड को किस तरह से धोखा दिया है, मैं सोचने पर मजबूर हो गयी। आपके बारे में मुझे कुछ महीने पहले चेतावनी दी गयी थी। मुझे कहा गया था की अगर राजा ने इस काम के लिए किसी एजेंट को काम सौंपा तो वो तुम ही होंगे। और तुम्हारा पता मुझे दिया गया था। मगर सब जानते हुए भी तुमने जो तुम जानना चाहते थे वो जानकारी निकाल ही ली। और मुझे सहक भी हो गया उसके बावजूद भी मैंइतने प्रिय, दयालु बूढ़े पादरी जैसे व्यक्ति के लिए कुछ बुरा नहीं सोच पायी। मगर तुम्हें पता है मैंने खुद ने अभिनय की शिक्षा ग्रहण की है। आदमियों का भेस धारण करना मेरे लिए कोई नयी बात नहीं थी। मैं कई बार उसे धारण करके स्थिति का फायदा उठती हूँ। मैंने ही जॉन, वॉचमैन को ऊपर तुम्हें दौड़कर देखने को भेजा था में फिर अपने दौड़ने के कपड़ों में आ गयी और उसे वापस बुलाया, फिर जैसे ही तुम जा चुके थे तब निकली।

खेर, मैंने तुम्हारा तुम्हारे दरवाज़े तक पीछा किया यह जानने के लिए की आखिर क्या मैं सच में मिस्टर शेरलॉक होम्स की रूचि का मामला बनी हुई थी। और फिर मैंने ढीठ की तरह तुम्हें शुभ रात्रि कहा और फिर अपने पति से मिलने के लिए मंदिर की ओर चली गयी।

हम दोनों ने सोचा की फ्लाइट सबसे सही साधन हैजब इतने विकट विरोधी के द्वारा आप पकडे जाओ; तो तुम्हें बिल्कुल तनहा ओर खाली घोंसला मिले जब तुम सुबह कॉल करो तब। ओर तस्वीरों के बारे में, तुम्हारे मुवक्किल के मन को शांति मिले।मैं प्यार करती हूँ ओर प्यार पा रहीं हूँ उनसे भी कहीं ज़्यादा बेहतर आदमी से। राजा जो चाहें वो कर सकते हैं बिना किसी रूकावट या बाधा के वो भी उस व्यक्ति की जिसके साथ उन्होंने निर्दयतापूर्वक गलत व्यव्हार किया। मैंने वो तस्वीरें केवल खुद को बचाए रखने के लिए रखी हैं, एक हथियार की तरह, अगर राजा मेरे खिलाफ कोई गलत रास्ता कभी भविष्य में अपनाये तो। मैं बस अपनी यह तस्वीर छोड़ कर जा रही हूँ, जो शायद उन्हें रखने की इच्छा हो; ओर मैं अपनी जगह सुरक्षित हूँ प्रिय मिस्टर शेरलॉक होम्स:

- बिल्कुल तुम्हारी अपनी

"इरेने नॉर्टन, न एडलर"

"क्या महिला है यह, क्या महिला है!" बोहेमिया के राजा बोले जब हम तीनों न यह पत्र पढ़ लिया तब। " मैंने नहीं कहा था कितनी तेज़ ओर तीक्ष्णाबुद्धि महिला है ये? क्या यह एक प्रशंसनीय रानी साबित नहीं होती? यह मेरे लिए शर्म की बात नहीं है कि वह मेरे स्तर से ऊपर कि थी?

"मैंने जिस दृष्टि से देखा उसके अनुसार वह बिल्कुल ही अलग स्तर की है महाराज। मुझे क्षमा करें की मैं आपके कार्य को उसके सफल समापन तक नहीं ला सका।" होम्स से दुखित मन से कहा।

"इसके विपरीत, मेरी प्रिय महोदय इससे बेहतर ओर सफल कुछ हो ही नहीं सकता था। मैं जानता हूँ की उसके शब्द पत्थर की लकीर की तरह हैं ओर वो तस्वीरें अब उतनी ही सुरक्षित हैं, जितनी की वो आग में ध्वस्त होने के बाद होतीं।" राजा न कहा।

"मुझे यह सुन कर ख़ुशी हुई महाराज।"

"मैं तुम्हारे इस क़र्ज़ में डूबा हुआ हूँ। कहो इस बात पर तुम क्या इनाम चाहोगे। ये रिंग" राजा ने अपने हाथ से एमराल्ड की नाग वाली अंगूठी निकल कर उसके हाथ पर रख दी।

"महाराज आपके पास कुछ ऐसा है जिसकी क़द्र मुझे इससे भी कहीं ज़्यादा है।" होम्स न कहा।

"ठीक है, मगर तुम्हें उसका नाम लेना होगा। "

"यह तस्वीर!"

राजा न उसकी तरफ आश्चर्यचकित हो कर देखा।

"इरेने की तस्वीर! बिल्कुल अगर तुम रखना चाहो तो।" वह बोला।

"महाराज मैं आपका शुक्रिया अदा करता हूँ।अब इस मामले में कुछ ओर करने को शेष नहीं रहा है। मुझे आपको एक नए मंगलमय दिन की शुभकामनाएँ देने का शुभ अवसर प्राप्त हुआ है।" वह झुका और राजा के बढ़ाये हुए हाथ को देखे बिना ही वहाँ से मुड़ कर वह मेरे साथ चैम्बर तक पहुँच गया।

और इस तरह से वह महान घोटाले की धमकी जिसने बोहेमिया के राज्य को प्रभावित किया था उसी तरह से मिस्टर शेरलॉक होम्स की सबसे अच्छी योजना ने महिला की बुद्धि को सही रास्ते पर ला दिया। वह महिलाओं को चतुराई का मज़ाक उड़ाया करता था, मगर इसके बाद मैंने कभी उसे ऐसा करते नहीं पाया। और जब वह इरेन एडलर के बारे में बात करता या उसकी तस्वीर दिखाते हुए ज़िक्र करता तब हमेशा एक सम्माननीय शीर्षक 'द वीमेन' के साथ उसे सम्बोधित करता।

***

Rate & Review

Ashima

Ashima 6 months ago

Kaumudini Makwana
shobha

shobha 2 years ago

Sam

Sam 2 years ago

alfal

alfal 3 years ago