Red Headed league - Full Book in Hindi Adventure Stories by Sir Arthur Conan Doyle books and stories PDF | रेड हेडेड लीग - संपूर्ण उपन्यास

रेड हेडेड लीग - संपूर्ण उपन्यास

दी एडवेंचर्स ऑफ़ शेरलोक होम्स

रेड हेडेड लीग

पिछले वर्ष शरद ऋतु में मेरे दोस्त मिस्टर शेरलॉक होम्स ने मुझे बुलाया। मैंने उसे एक बुजुर्ग सज्जन, जो दिखने में मोटे-तगड़े, रक्ताभ चेहरे के, जिनके सिर के बाल लाल थे, से बातों में तल्लीन पाया। अपनी घुसपैठ के लिए माफी के साथ मैं बाहर आने ही वाला था कि होम्स ने मुझे अचानक कमरे में खींच लिया और दरवाजे को बंद कर दिया।

“प्रिय वाट्सन, तुम बेहतर समय पर नहीं आ सके” होम्स ने सौहार्दपूर्णढंग से कहा।

“मुझे डर था कि तुम व्यस्त होगे।”

“ वो तो मैं हूं। बहुत व्यस्त हूं।”

“ तो मैं दूसरे कमरे मे इंतजार करूं।”

“बिलकुल नहीं। ये सज्जन श्री विल्सन मेरे ज्यादातर मामलों को सफल बनाने में मेरे पार्टनर एवं सहायक रहे हैं। और मुझे कोई संदेह नहीं है कि वह मेरा और आपका भी अधिकतम उपयोग करेंगे।”

मोटे-तगड़े सज्जन अपनी कुर्सी से आधे उठे और अपनी छोटी व मोटी आंखों से एक प्रश्नात्मक दृष्टि डालते हुए अभिवादन किया।

”बैठो” होम्स ने अपनी आर्मचेयर पर पुनः बैठते हुए अपनी आदत के अनुसार अपनी उंगलियों को आपस में मिलाया। जब वह न्यायिक मनोदशा या कहें जूडिशियल मूड में होता था तो अक्सर ऐसा करता था।

“मैं जानता हूं मेरे प्रिय वाट्सन तुम सभी से मेरा प्यार साझा करते हो जो कि प्रथाओं से और सामान्य नीरस दिनचर्या अलग होता है। तुमने उत्साहपूर्ण इसमें रूचि दिखाई है जिसने तुम्हें इसे लिपिबद्ध करने को भी प्रेरित किया है और यदि तुम मेरे कहे को माफ करोगे तो मैं कहना चाहूंगा कि कुछ हद तक मेरे छोटे-छोटे रोमांच को तुमने सुधारा-संवारा है।”

“आपके मामले मेरे लिए वास्तव में रोचक होते हैं।” मैंने महसूस किया है।

“तुम्हें याद होगा मैंने अगले दिन टिप्पणी की थी, जब हम मिस मेरी सुदरलैंड द्वारा प्रस्तुत बहुत ही साधारण समस्या पर जाने से पहले, हमें जीवन में जाना चाहिए, जो कि बहुत ही विचित्र और असाधारण संयोजन था, वह हमेशा ही कल्पना के प्रयास से अधिक साहसिक होता है। हमें उसमें अवश्य जाना चाहिए।”

“मैं इसे संदेह की स्वतंत्रता का पूर्वसर्ग कहना चाहूंगा।”

”डॉक्टर तुमने ऐसा किया, लेकिन तुम्हें कम से कम मेरे विचार के करीब आना चाहिए। नहीं तो मैं तथ्य पर तथ्य तुम्हें देता जाउंगा। जब तक कि तुम्हारे कारण उनमें जाकर टूट नहीं जाते और मुझे सही होने के लिए स्वीकार नहीं कर लेते। अब, श्री जाबेद विल्सन ने आज सुबह मुझे बुलाया, और कहानी शुरू की जिसे ध्यान से सुनने के वादे के साथ ही सुना जा सकता है और बहुत ही कम कहानियां होंगी जो मैंने इतने ध्यान से सुनी हैं। तुम सुनोगे तो यही टिप्पणी करोगे कि विचित्र और सर्वाधिक अनोखी चीजें बहुत बड़े अपराधों से नहीं बल्कि छोटे अपराधों से जुड़ी होती हैं। और वास्तव में शायद वहां जहां संदेह के लिए जगह हो कि वहां एक सकारात्मक अपराध किया गया है। जहां तक मैंने सुना है वर्तमान मामला अपराध का उदाहरण है या नहीं यह कहना मेरे लिए नामुमकिन है। पर कुछ घटना क्रम ऐसे हैं जो मैंने बहुत कम सुने हैं। शायदए मिस्टर विल्सन, आपकी बहुत कृपा होगी यदि आप फिर से अपनी कथा कहना शुरू करें। मैं सिर्फ इसलिए नहीं कह रहा हूं कि मेरे दोस्त मिस्टर वाट्सन ने शुरू का हिस्सा नहीं सुना है बल्कि इसलिए भी कि इस विचित्र प्रकृति की कहानी का हर संभव विवरण आप के होठों से सुनने को व्याकुल कर रहा है। आमतौर पर, यदि घटनाओं को मामूली क्रम मिल जाए तो मैं स्वयं को उन हजारों समानता वाले मामलों से दिमाग को निर्देशित कर लेता हूं जो मेरी स्मृति में हो चुके हैं। प्रस्तुत उदाहरण में मुझे यह स्वीकार करना पड़ रहा है कि मेरे विश्वास के अनुसार यह अनोखा है।”

मोटे-तगड़े क्लाईंट का सीना कुछ गर्व से फूल गया और उसने अपने कोर्ट की जेब से गंदा सिकुड़ा हुआ अखबार खींचा। उसने विज्ञापन के कॉलम पर एक नजर मारी, उसने सिर को आगे झटका और अखबार को अपने घुटनों पर फैलाया। मैंने उस व्यक्ति और उसके प्रयास पर सुदृष्टि डालीए मेरे साथी की फैशन के बाद, उसके कपड़े या उसका भेष देख कर मैंने कुछ संकेत पढ़े।

उसे देखकर मुझे बहुत कुछ पता नहीं चला। आगंतुक हर तरह से एक सामान्य ब्रिटिश व्यवसायी लग रहा था – स्थूल, आडम्बरपूर्ण और सुस्त। उसने ढीला-ढाला भूरे रंग का गड़रियों द्वारा पहने जाने वाला चेक पतलून, काले रंग का फ्रॉककोट पहना था, जिसमें सामने के बटन खुले हुए थे, भूरे रंग का कमर-कोट, उसमें पीतल की एक भारी अल्बर्ट चैन, और एक चौकोर छोटे छेद में धातु एक गहने की तरह लटक रही थी। उधड़ी-घिसी हुई टोपी और जिसका झुर्री वाला मखमली कॉलर का एक फीका भूरा ओवरकोट पास में रखी कुर्सी के ऊपर रखा था। कुल मिलाकर, जैसा मैंने देखा, उस आदमी के बारे में कुछ भी उल्लेखनीय नहीं था। उसका लाल चमकीला सिर और उसके चेहरे पर नाराजगी तथा अंसतोष के भाव थे।

शॅरलक होम्स की तेज नजरें मेरी ओर फिरीं और उसने मुस्करा कर अपना सिर हिलाया उसने मेरी प्रश्नवाचक नजर देख ली-”उसके स्वाभाविक तथ्यों के अलावा, उसने कभी मेहनत-मजदूरी की थी। वह बीच-बीच में झपकी लेता है। चीन में वह पत्थर तराश भी रहा है। हाल ही में उसने काफी मात्रा में लेखन किया है। इसके अलावा मैं और कुछ परिणाम नहीं निकाल सका।”

मिस्टर जैबेज विल्सन अपनी कुर्सी पर था और उसकी उंगलियां अखबार पर थीं और उसकी नजर मेरे साथी पर।

उसने पूछा – ”मिस्टर होम्स आपने इतना सब कैसे जाना? उदाहरण के लिए आपने ये कैसे जाना कि कभी मैंने मेहनत-मजदूरी की है। यह सुसमाचार की तरह सच है। मैंने अपनी शुरूआत पानी के जहाज में बढ़ई के रूप में की थी।”

“ आपके हाथ सर। आपका सीधा हाथ बाएं हाथ से साइज में बड़ा है। आपने इस हाथ से ज्यादा काम किया। इसलिए इसकी मांसपेशियां बढ़ गई हैं।”

”ठीक है, फिर झपकी, और पत्थर तराशी?

”मैंने यह कैसे पता लगाया ये बताकर मैं आपका अपमान नहीं करूंगा। और खासकर तब जब आपके आदेश के नियम सख्त हैं। आप आर्क और कंपास के ब्रेस्टपिन का उपयोग करते हैं।”

“ओह, हां बिल्कुलए मैं भूल गया था, लेकिन लेखन?”

“आपकी दाईं कलाई पांच इंच तक काफी चमकदार है, जबकि आपकी बाईं कुहनी पर चिकना धब्बा है जिसे आप डेस्क पर रखते हैं। इससे क्या संकेत मिलता है?

“ठीक है पर चीन?’’

“आपकी दाहिनी कलाई के ऊपर जो मछली का टैटू बना है। मैंने टैटू मार्क के बारे में छोटा-सा अध्ययन किया है और इस विषय पर साहित्य में भी अवदान किया है। कोमल गुलाबी मछलियों का ट्रिक चीन में विशिष्ट है। इसके अलावा मैंने देखा कि आपकी घड़ी की चेन में एक चीन का सिक्का भी लटक रहा है, इससे मामला और आसान हो गया।”

मिस्टर जेबेज विल्सन जोर से हंसे - “अच्छा, पहले मैंने कभी नहीं सोचा था कि आपने कुछ चालाकी की है, पर अब लगता है कि ऐसा कुछ नहीं है।”

होम्स ने कहा - ”वाट्सन मैंने सोचना शुरू किया कि मैंने व्याख्या करने में गलती की है। मैं इतना सरल हूंए ऐेसे में मेरी प्रतिष्ठा तबाह हो जाएगी। मिस्टर विल्सन, क्या आपको विज्ञापन नहीं मिला?”

“ हां, मुझे विज्ञापन मिल गया।” उन्होंने अपनी लाल मोटी उंगली आधे कॉलम पर रखते हुए कहा -ये रहा| ये शुरू हुआ। सर, इसे आप स्वयं पढ़ें। “

मैंने उससे कागज लिया और पढ़ना शुरू किया जैसा कि नीचे लिखा है:

रेड-हैडेड लीग : लेबनान, पेनसिलवेनिया, यू एस ए के स्वर्गीय एज़ीकाइया हॉपकिंस की वसीयत के अनुसार ‘रेड-हैडेड लीग’ में एक सदस्य की जगह खाली है, जिसे कुछ मामूली से काम के लिए चार पौंड प्रति सप्ताह दिए जायेंगे| तन-मन से स्वस्थ इक्कीस वर्ष से ऊपर की उम्र के वो सभी व्यक्ति जिनके बाल लाल हैं, इसके लिए आवेदन कर सकते हैं| इच्छुक व्यक्ति सोमवार को ग्यारह बजे लीग के 7, पोप्स कोर्ट, फ्लीट स्ट्रीट पर स्थित ऑफिस में आकर डंकन रॉस से मिलें|

“हे भगवान! ये सब क्या है ?" इस अजीबोगरीब घोषणा को दो बार पढ़ने के बाद अनायास ही मेरे मुंह से निकल पड़ा |होम्स अपनी कुर्सी पर बैठा जोर से हिलने और मुँह दबा कर हंसने लगा, वो जब भी अति उत्साहित होता है तो ऐसा ही करता है |

"ये मामला आम मामलों से हटकर है, वॉटसन !" उसने कहा, "और अब, मिस्टर विल्सन ! हमें शुरू से पूरी बात बताइये | अपने और अपने घर के बारे में और ...इस विज्ञापन का आपकी किस्मत पर क्या असर पड़ा ? लेकिन इससे पहले डॉक्टर आप इस अखबार का नाम और विज्ञापन की तारीख़ नोट कर लीजिये |"

"ये 27 अप्रैल, 1890 का 'दी मॉर्निंग क्रॉनिकल' है, यानि ठीक दो महीने पहले का |"

"बहुत बढ़िया ! अब आप कहिये, मिस्टर विल्सन !"

"हाँ ! तो मैं कह रहा था मिस्टर शरलॉक होम्स ! जैबेज़ विल्सन ने अपना माथा पोंछते हुए कहा, "मेरा शहर के पास सक्से-कोबर्ग स्क्वायर पर छोटा सा साहुकारी का काम है | मेरा काम कोई बहुत बड़ा नहीं हैं, बस गुज़ारे लायक ही कमा पता हूँ | पहले मेरे पास दो असिस्टेंट हुआ करते थे, लेकिन अब तो एक ही है | सच कहूँ तो मेरे लिए तो उसे भी तनख़्वाह देना मुश्किल ही होता, मगर वह काम सीखने के लिए आधी तनख़्वाह पर ही राज़ी हो गया |"

"उस मददगार नौजवान का नाम क्या है मिस्टर विल्सन?" शरलॉक होम्स ने पूछा

"उसका नाम विन्सेंट स्पॉल्डिंग है और वह इतना जवान भी नहीं है| उसकी उम्र बताना ज़रा मुश्किल है| हाँ मुझे उससे अच्छा असिस्टेंट नहीं मिल सकता था और मुझे ये भी अच्छी तरह से पता है कि जब वह काम सीख जायेगा तो जितना मैं उसे देता हूँ, वह उससे दुगुना कमायेगा| लेकिन अगर वह इसी से संतुष्ट है तो मैं क्यों उसे एहसास कराऊँ|"

”और क्या ? वैसे आप बहुत भाग्यशाली है कि आपको इतने कम पैसों में एक अच्छा असिस्टेंट मिल गया|आज के जमाने में ऐसा होना बहुत मुश्किल है| मुझे तो तुम्हारा असिस्टेंट भी तुम्हारे विज्ञापन जैसा अनोखा लगता है |"

" लेकिन उसमें कुछ कमियां भी हैं, मिस्टर होम्स ! उसे फोटोग्राफी का इतना शौक है कि जब उसे अपना ध्यान काम में लगाना चाहिए तब वह फोटो खींचता रहता है और फिर इन फोटुओं को धोने के लिए किसी खरगोश की तरह तहखाने में घुस जाता है| ये उसकी सबसे बड़ी कमी है मगर फिर भी काम अच्छा करता है| कोई बुराई नहीं है उसमें |"

“मुझे लगता है,वो अब भी आपके साथ ही है ?"

"हाँ सर ! वह और एक चौदह साल की लड़की, जो धोड़ा बहुत खाना बना लेती है और साफ सफाई कर लेती है| बस यही दोनों है मेरे घर में| क्योंकि मैं एक विधुर हूँ और मेरा कभी कोई परिवार नहीं रहा| हम तीनों शांति से घर में रहते हैं, मुझे तो इसी बात की तसल्ली है कि हमारे सिर पर छत है और हमारा गुज़ारा तो हो ही जाता है |पहली चीज, जिसने हमें इस परेशानी में डाला, ये विज्ञापन ही है |

कोई आठ हफ्ते पहले स्पॉल्डिंग ये पेपर लेकर ऑफिस में आया और उसने कहा -" काश ! मेरे बाल भी लाल रंग के होते !"

"क्यों भई?" मैंने पूछा

"क्यों ! अरे लाल बालों वाले आदमियों की लीग ने ये एक और वैकेंसी निकाली है| जिसको ये जगह मिलेगी, उसकी तो समझो लॉटरी लग गयी | जहाँ तक मैं समझ पा रहा हूँ, जितने आदमी वहाँ हैं, उससे ज्यादा जगह तो अभी ख़ाली हैं इसलिए ट्रस्टीज़ के समझ नहीं आ रहा कि इतने पैसे का क्या किया जाये |बस अगर मेरे बालों का रंग बदल सकता तो एक छोटा सा पालना मेरे लिए तैयार होता |"

"क्यों भई? ऐसा क्या है इसमें ?” मैंने पूछा| देखिये मिस्टर होम्स ! मैं तो एक घर में रहने वाला आदमी हूँ और मेरा काम भी ऐसा ही है जो घर बैठे मेरे पास आ जाता है, बजाय इसके कि मुझे इसके लिए कहीं बाहर जाना पड़े | मुझे तो अपने घर के पायदान पर भी पैर रखे हफ्तों बीत जाते है | इसी वजह से मुझे बाहर की दुनिया की ज़्यादा जानकारी नहीं रहती| मुझे तो जो थोड़ी बहुत खबरें मिल जाती हैं उसी में खुश हो जाता हूँ |

उसने मुझसे बड़े आश्चर्य से पूछा, "आपने लाल बालों वाले आदमियों की लीग के बारे में कभी नहीं सुना ?"

"कभी नहीं !"

"कमाल है ! आप तो खुद इसके सदस्य बनने लायक हैं|"

"और इसका फायदा क्या है ?"

" बस साल के कुछ सौ पौंड, लेकिन काम भी तो बहुत कम है और इससे किसी के दूसरे काम का भी कोई ज्यादा हर्ज़ा नहीं होने वाला| "

"अब आप खुद ही अंदाज़ा लगा सकते है कि इस सब को सुनकर मेरे कान तो खड़े होने ही थे, क्योंकि कुछ वर्षों से मेरा बिज़नेस भी ज्यादा अच्छा नहीं चल रहा| ऐसे में कुछ अतिरिक्त कमाई मेरे लिए अच्छी ही रहती| इसलिए मैंने उससे इसके बारे में बताने को कहा |

वह मुझे अखबार दिखाते हुए बोला, " ये लीजिये ! आप खुद ही देख लीजिये कि लीग में एक जगह खाली है और उस जगह का पता भी है, जहाँ आपको आवेदन करना है | मैं जहाँ तक समझ पा रहा हूँ, ये लीग एक अमेरिकन करोड़पति, एज़ीकाइया हॉपकिंस ने बनाई थी, जो कि अपने आप में एक विचित्र व्यक्ति थे | वे स्वयं लाल बालों वाले थे और सभी लाल बालों वाले व्यक्तियों के साथ सहानुभूति रखते थे| जब उनकी मृत्यु हुई तो पता चला कि वे बहुत सारा धन छोड़ गए हैं और अपने ट्रस्टीज़ को हिदायत दे गए हैं कि उनके शहर के लाल बालों वाले व्यक्तियों का ध्यान रखा जाये | मैंने तो सुना है कि इतनी शानदार तनख्वाह के हिसाब से काम काफी कम है|"

"लेकिन लाल बालों वाले व्यक्ति तो शहर में तो लाखों होंगे जो एप्लाई करेंगे|"

"जितने आप सोच रहे हैं, उतने नहीं होंगे, यह अवसर केवल लंदनवासियों के लिए सीमित है और उनमें भी वयस्कों के लिए| इस अमेरिकन ने अपना काम लंदन से ही शुरू किया था, जब वह जवान था और इसलिए वह अपने पुराने शहर के लिए बदले में कुछ अच्छा करना चाहता है| और फिर मैंने ये भी सुना है कि अगर आपके बाल हल्के लाल या गहरे लाल हैं तो ऍप्लाइ करने का कोई फायदा नहीं | बाल बहुत चमकदार और भड़कीले लाल रंग के होने चाहिए | अब अगर आप वाकई एप्लाई करना चाहते हैं तो बस आपको वहाँ जाकर मिलना होगा| खैर छोड़िये, कुछ एक सौ पाउंड्स के लिए आप इतनी परेशानी क्यों उठाएंगे |"

अब जेंटलमैन! ये तो आप देख ही रहे हैं कि मेरे बाल कितने बढ़िया लाल रंग के हैं तो मुझे लगा कि अगर वहाँ कोई मुक़ाबला है भी तो मेरे जीतने की संभावना उन सब से तो ज्यादा ही है, जिनसे मैं अब तक मिला हूँ | क्योंकि विन्सेंट स्पॉल्डिंग इस बारे में काफी ज्यादा जानता है तो मेरे लिए बहुत काम का साबित हो सकता है, इसलिए मैंने उसे उस दिन के लिए दुकान बंद करके मेरे साथ आने के लिए कहा | वो भी छुट्टी के मूड में था सो हम काम बंद करके विज्ञापन में दिए गए पते पर चल दिए |

मुझे नहीं लगता कि ऐसा दृश्य मुझे जीवन में फिर से देखने को मिलेगा मिस्टर होम्स ! उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम सब तरफ से हर वो व्यक्ति जिसके बालों में लाल रंग की जरा सी भी झलक थी,वह उस वैकेन्सी के लिए शहर में चला आ रहा था | फ्लीट स्ट्रीट तो लाल बालों वाले व्यक्तियों से ठसाठस भर गयी थी और पोप-कोर्ट का प्रांगण तो किसी फेरी वाले के ठेले पर संतरों के पहाड़ जैसा लग रहा था |“

इतने रेड- हैडेड आदमियों की तो मैंने देश भर में भी कल्पना नहीं की थी जितने उस एक विज्ञापन से वहाँ इकट्ठे हो गए थे | स्ट्रॉ, नीम्बू, नारंगी, ईंट, आयरिश-सैटर, लिवर, क्ले-- यानि लाल रंग के हर शेड के बाल वाले व्यक्ति वहाँ थे| लेकिन जैसा कि स्पॉल्डिंग ने कहा था, असली चमकीले लाल रंग के बालों वाले लोग वहाँ कम ही थे| इतने लोगो को इंतज़ार करते हुए देख कर मैंने तो उम्मीद ही छोड़ दी थी लेकिन स्पॉल्डिंग नहीं माना | मुझे नहीं पता उसने ये सब कैसे किया लेकिन वह लोगों को धकियाता, खींचता, टक्करें मारता मुझे भीड़ में से निकालता हुआ सीधे ऑफिस की सीढ़ियों तक ले गया| सीढ़ियों पर दो लाइन लगी हुई थी| एक ओर कुछ लोग बड़ी उम्मीद बाँधे ऊपर जा रहा थे और दूसरी ओर कुछ लोग निराश होकर लौट रहे थे| लेकिन हम यथा सम्भव डटे रहे और शीघ्र ही हम ऑफिस में थे |

" अरे वाह! आपका अनुभव तो बड़ा मनोरंजक रहा |" होम्स ने फ़िक़रा कसा जब तक कि उसका क्लाइंट रुका और उसने एक बड़ी चुटकी भर नसवार सूंघ कर अपनी याददाश्त को ताज़ा किया |

"प्लीज़! अपना ये मज़ेदार वर्णन जारी रखिये |”

"ऑफिस में कुछ ख़ास सामान नहीं था| बस कुछ लकड़ी की कुर्सियां थी और एक बड़ी मेज़, जिसके पीछे एक छोटे कद का मेरे से भी ज्यादा लाल बालों वाला आदमी बैठा था | जो भी उम्मीदवार आता जा रहा था, वह उससे कुछ पूछता जाता था और हरेक में कोई न कोई कमी निकाल ही लेता था जिससे वह व्यक्ति अयोग्य साबित हो जाता था | आखिकार एक वैकेंसी भरना इतना भी आसान काम नहीं था | लेकिन जब हमारी बारी आयी तो वह नाटा सा आदमी अन्य लोगों की तुलना में मेरे ऊपर कुछ ज्यादा ही मेहरबान नजर आ रहा था |

जैसे ही हम अंदर घुसे, उसने दरवाज़ा बंद कर दिया ताकि वह हमसे प्राइवेट बात कर सके |

मेरे असिस्टेंट ने उससे कहा, "ये मिस्टर जैबेज़ विल्सन हैं और ये लीग का सदस्य बनना चाहते हैं |"

"और ये इसके लिए एकदम उपयुक्त भी हैं!" उस आदमी ने उत्तर दिया | "इनके पास वह सब कुछ है जो हमें चाहिए |मुझे याद नहीं आ रहा कि अब तक कोई इतना अच्छा उम्मीदवार मेरी नज़रों से गुजरा है |" वह एक कदम पीछे गया, अपना सिर एक तरफ उचकाया और मेरे बालों को इस तरह घूरने लगा कि मुझे संकोच होने लगा | फिर अचानक वह तेज़ी से आगे आया, मेरा हाथ पकड़ कर घुमाया और बड़ी गर्मजोशी से मेरी सफलता पर बधाई दी |

"वैसे इतनी जल्दबाज़ी गलत होगी | मुझे विश्वास है कि आप मुझे एक बहुत जरूरी सावधानी बरतने के लिए माफ़ कर देंगे |" इसके साथ ही उसने दोनों हाथों से मेरे बाल पकड़ कर इतनी ज़ोर से खींचे कि मेरी चीख निकल गयी | मेरे बाल छोड़ता हुआ वह बोला, "आपकी आँखों में पानी आ गया, इसका मतलब सब ठीक वैसे ही है, जैसा होना चाहिए | लेकिन हमे बहुत सावधान रहना पड़ता है क्योंकि हम दो बार विग और एक बार पेंट की वजह से धोखा खा चुके हैं| मैं अगर तुम्हें जूतों की पोलिश प्रयोग करने का किस्सा सुनाऊंगा तो तुम्हें इंसानी फितरत से ही नफ़रत हो जाएगी |"

वह खिड़की के पास गया और वहाँ से ज़ोर से चिल्लाया कि वैकेंसी भर गयी है | नीचे से कुछ निराशा से भरी आवाजें सुनाई दी और सारे लोग अलग-अलग दिशाओं में चले गए आखिर में वहाँ मेरे और उस मैनेजर के अलावा कोई भी लाल बालों वाला व्यक्ति नहीं बचा |

वह मुझसे बोला, "मेरा नाम डंकन रॉस है और मैं भी हमारे दयालु दानकर्ता के द्वारा छोड़े गए फंड का एक पेंशनर हूँ | क्या आप विवाहित है मिस्टर विल्सन? क्या आपका परिवार है?" मैंने जवाब दिया कि नहीं, मैं एक विधुर हूँ और मेरा कोई परिवार नहीं हैं | यह सुनते ही उसका मुँह लटक गया | वह बड़ी गंभीरता से बोला, "अरे! यह तो बहुत चिंता वाली बात है | मुझे ये सुनकर बहुत दुःख हुआ | यह फंड लाल बालों वाले लोगों की संख्या बढ़ाने और उनकी देखभाल के लिए है| ये तो निहायत अफ़सोस की बात है कि आप बैचलर निकले |"

मिस्टर होम्स मैं तो एकदम उदास हो गया था क्योंकि मुझे लगा किअब ये जगह मुझे नहीं मिलने वाली| लेकिन कुछ देर सोचने के बाद वह बोला कि सब ठीक हो जायेगा | "किसी और के केस में यह बात आड़े आ सकती थी लेकिन आप जैसे बालों वाले व्यक्ति के लिए कुछ बातों में समझौता किया जा सकता है| आप अपना यह नया काम कब से शुरू कर सकते हैं ?

" वैल, मुझे थोड़ा सोचना पड़ेगा क्योंकि मेरा पहले से ही एक बिज़नेस है|"

इस पर विन्सेंट स्पॉल्डिंग बोला, “अरे! मिस्टर विल्सन! आप उसकी चिंता मत करिये | आप की तरफ से वह काम मैं देख लूँगा|"

“और काम का समय क्या रहेगा ?"

"दस से दो !"

"मिस्टर होम्स ! महाजनी का काम ज्यादातर शाम को होता है, खासकर बृहस्पतिवार और शुक्रवार की शाम जो कि तनख्वाह के दिन से ठीक पहले पड़ता है सो सुबह के समय कुछ कमाने के लिए यह काम बिलकुल मेरे अनुकूल बैठ रहा था| इसके अलावा मुझे पता था कि मेरा असिस्टेंट एक अच्छा आदमी है और वो सारा काम सँभाल लेगा |

तो मैंने कहा, "ठीक है यह काम मुझे बिलकुल सूट कर रहा है| वैसे तनख्वाह क्या होगी?"

"4 पौंड प्रति सप्ताह !"

"और काम ?"

"बहुत ही थोड़ा सा है |"

"थोड़े से काम से आपका क्या मतलब है?"

"बस आपको ऑफिस में रहना है, कम से कम बिल्डिंग में तो रहना ही पड़ेगा | अगर आप बिल्डिंग छोड़कर जायेंगे तो आप सदस्य नहीं रहेंगे| वसीयत में यह पॉइंट बिलकुल साफ-साफ लिखा हुआ है| अगर आप उस समय ऑफिस से हिले भी तो ये माना जायेगा कि आपने शर्तों का पालन नहीं किया|"

"अरे! यह तो दिन में सिर्फ चार घंटे की बात है, मैं तो जाने की सोचूंगा भी नहीं |"

"कोई बहाना नहीं चलेगा| न बीमारी, न बिज़नेस,न कोई और| आपको रोज आना होगा नहीं तो आपकी सदस्यता खत्म हो जाएगी |"

"लेकिन काम क्या होगा? ये तो बताइये |"

“काम है -- एन्सायक्लोपीडिआ ब्रिटैनिका की नकल तैयार करना और यह उसका पहला खंड है| आपको स्याही, पैन और पेपर अपने साथ लाना है, हम आपको ये कुर्सी और मेज़ देंगे| तो आप कल से काम पर आने को तैयार हैं ?"

"बिलकुल!"

“तो गुड बाय मिस्टर जैबेज़ विल्सन! मैं फिर से आपको इस महत्वपूर्ण पद के लिए बधाई देता हूँ जिसका मिलना आपकी बहुत बड़ी खुशनसीबी है |"

उसने ससम्मान मुझे विदा किया और मैं अपने असिस्टेंट के साथ घर आ गया | मैं अपनी किस्मत पर इतना खुश था कि मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि मुझे क्या कहना चाहिए या क्या करना चाहिए |

खैर मैंने सारा दिन इसके बारे में सोचा और शाम तक मेरा उत्साह कम होने लगा और मुझे यकीन होने लगा कि मेरे साथ कोई छल या धोखाधड़ी होने वाली है| हालाँकि वो धोखा क्या होगा इसकी कल्पना मैं नहीं कर पाया | साथ ही यह भी अविश्वसनीय लग रहा था कि कोई ऐसी वसीयत भी बना सकता है, या कोई ब्रिटैनिका की नकल करने जैसे साधारण काम के लिए इतनी अच्छी तनख्वाह दे सकता है | विन्सेंट स्पॉल्डिंग ने मुझे उत्साहित करने की पूरी कोशिश की, रात तक मैं इसी तरह सोचता रहा, लेकिन अगले दिन सुबह मैंने इस मामले के भीतर जाने का निश्चय कर लिया इसलिए मैंने एक छोटी स्याही की दवात, क़्विल पैन और सात फुलस्केप पेपर खरीदे और पोप्स कोर्ट के लिए चल दिया|

वहाँ पहुंच कर मुझे एक सुखद आश्चर्य हुआ कि सब कुछ ठीक ठाक ही लग रहा था | मेरे लिए मेज़ तैयार थी और मिस्टर डंकन रॉस वहां थे ताकि मैं ठीक से काम शुरू कर सकूं | उन्होंने मुझे ‘A’ अक्षर से काम शुरू करने को कहा और फिर चले गए | लेकिन वे बीच-बीच में ये देखने के लिए आते रहे कि मुझे कोई मुश्किल तो नहीं पेश आ रही | 2 बजे वो मुझे ‘गुड-डे’ कहने आये, मेरे किये हुए काम की तारीफ की और मेरे बाहर आने पर ऑफिस बंद कर दिया |

मिस्टर होम्स यही क्रम रोज चलता रहा | फिर शनिवार को मैनेजर आया और मुझे एक हफ्ते के काम के 4 पौंड चुका कर चला गया | यही अगले हफ्ते हुआ और फिर उसके अगले हफ्ते भी | हर सुबह दस बजे मैं वहां पहुँच जाता था और दोपहर 2 बजे चला आता था | धीरे-धीरे मिस्टर डंकन रॉस ने सुबह बस एक बार आना शुरू कर दिया और फिर कुछ समय बाद तो आना बिलकुल ही बंद कर दिया | फिर भी, बेशक, मैंने कभी एक पल के लिए भी वो कमरा छोड़ने का साहस नहीं किया क्योंकि मुझे डर था कि वे कभी भी आ सकते हैं और काम इतना अच्छा और मेरे अनुरूप था कि मैं इसे खोने का जोखिम नहीं उठाना चाहता था |

इसी तरह आठ हफ्ते बीत गए और मैं 'एबट' (महंत), 'आर्चरी' (तीरंदाज़ी), आर्मर (कवच), आर्किटेक्चर (वास्तुकला) और एटिक (अटारी) आदि के बारे में लिख चुका था और मुझे उम्मीद थी कि इसी प्रकार लगन से काम करता रहा तो जल्दी ही 'B' अक्षर पर पहुँच जाऊँगा | मेरे बस कुछ कागज़ ही खर्च हुए थे और मैंने लगभग एक शेल्फ अपने काम से भर दी थी | और फिर.. अचानक..आज सुबह ये सब ख़त्म हो गया |"

" ख़त्म हो गया?"

"जी हाँ सर! आज सुबह जब हमेशा की तरह दस बजे मैं वहॉं पहुंचा तो दरवाजा बंद था और ताला लगा हुआ था | गत्ते का एक छोटा चौकोर टुकड़ा एक कील से दरवाजे के बीचोबीच लगाया हुआ था | यह देखिये! आप खुद ही पढ़ लीजिये !”

उसके हाथ में नोट-पेपर के नाप का एक सफेद गत्ते का टुकड़ा था, जिस पर लिखा हुआ था - रेड हेडेड लीग भंग की जाती है| 9 अक्टूबर, 1890

शर्लाक होल्म्स और मैंने इस अशिष्ट घोषणा और इसके पीछे खड़ी रोनी सूरत का निरीक्षण किया | हमें ये बात इतनी मज़ेदार लगी कि हम दोनों की हँसी फूट पड़ी|

"इसमें हंसने की क्या बात हैं, अगर तुम लोगों को इस बात पर सिर्फ हँसना है तो मैं कहीं और चला जाऊँगा |"-हमारा क्लाइंट चिल्लाया, उसका चेहरा शर्मिंदगी से लाल हो चुका था |

*अरे नहीं-नहीं,” होम्स उसे फिर से कुर्सी पर धकेलता हुआ चिल्लाया |

"मैं किसी भी हालत में आपके केस को हाथ से जाने नहीं दूंगा| यह एकदम झकास और असाधारण केस है | लेकिन माफ करना यह थोड़ा मज़ेदार तो है न! अब आप बताइये आपने जब इस नोट को पढ़ा तो आपने क्या किया?"

" सर ! मैं तो हक्का बक्का रह गया था | मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या किया जाये? मैंने आसपास के दफ्तरों में भी पूछताछ की लेकिन किसी को भी कुछ पता नहीं था | आखिरकार मैं ग्राउंड फ्लोर पर रहने वाले मकान-मालिक के पास गया जो कि एक अकाउंटैंट है| मैंने उससे पूछा कि रेड हेडेड लीग का क्या हुआ? उसने कहा कि उसने ऐसी किसी लीग के बारे में नहीं सुना| तब मैंने पूछा कि डंकन रॉस कौन हैं | उसका जवाब था कि ये नाम तो उसके लिए बिलकुल नया है | फिर मैंने कहा कि नंबर ४ कमरे वाले सज्जन? उसने कहा, " कौन? वह लाल बालों वाले?"

"जी हाँ !"

" ओह, उनका नाम तो विलियम मॉरिस है | वे एक वकील हैं और उन्होंने अपना नया घर बनने तक मेरा कमरा कुछ दिनों के लिए किराये पर लिया था | कल वे यहाँ से चले गए |"

"अब वे मुझे कहाँ मिल सकते हैं |"

"उनके नए ऑफिस में!" उसने मुझे उनका पता बताया – 17, किंग एडवर्ड स्ट्रीट, सेंट पॉल्स के नज़दीक |"

मैं वहाँ भी गया मिस्टर होम्स ! लेकिन जब मुझे वो जगह मिली तो वो तो कृत्रिम नी-कैप बनाने का कारख़ाना निकला और वहाँ भी किसी ने न तो मिस्टर विलियम मॉरिस का नाम सुना था और न ही डंकन रॉस का |”

"फिर आपने क्या किया?" होम्स ने पूछा |

"मैं सक्से-कोबर्ग स्क्वायर पर अपने घर आ गया और अपने असिस्टेंट से सलाह की लेकिन वह भी मेरी कोई सहायता नहीं कर पाया | उसने बस इतना कहा कि अगर मैं इंतज़ार करूँ तो शायद मुझे डाक से कोई सूचना मिल जाये लेकिन ये बात मुझे कुछ जंची नहीं| मिस्टर होम्स, मैं इस नौकरी को इतनी आसानी से खोना नहीं चाहता था, इसलिए, जैसा कि मैंने सुना था कि आप मुसीबत में फंसे हुए गरीब लोगों की मदद करते हैं, मैं सीधा आपके पास चला आया|"

होम्स ने कहा, "ये आपने बहुत समझदारी का काम किया है | आपका केस बहुत ही अनूठा है और मुझे इसको सुलझाने में बहुत ख़ुशी होगी | जितना आपने मुझे बताया है, उसके अनुसार ये मामला ऊपर से जैसा लग रहा है, उससे कहीं ज्यादा गंभीर है |"

"वाकई गंभीर है, मुझे हफ्ते के चार पौंड का नुक़सान जो हो रहा है|" मिस्टर जैबेज़ विल्सन ने कहा|

होम्स ने कहा, "जहाँ तक आपकी व्यक्तिगत चिंता की बात है तो मुझे नहीं लगता कि आपको इस अजीबोगरीब लीग के खिलाफ कोई शिकायत होनी चाहिए | एक तो आपको लगभग तीस पौंड की अच्छी खासी धनराशि मिली और ऊपर से ‘A’ अक्षर से आरम्भ होने वाले हर विषय की इतनी बारीक़ जानकारी भी मिली | यानि उनके द्वारा आपका कोई नुकसान तो नहीं हुआ |"

"नहीं सर, लेकिन मैं उनके बारे में जानना चाहता हूँ, वे लोग कौन है और आखिर उन्होंने मेरे साथ ये खेल क्यों खेला? ये खेल उन्हें बत्तीस पौंड महंगा पड़ा |"

"हम आपके लिए इन प्वाइंट्स को सुलझाने की कोशिश करेंगे | लेकिन उससे पहले आपको मेरे एक-दो सवालों के जवाब देने होंगे मिस्टर विल्सन ! जिस असिस्टेंट ने आपको इस विज्ञापन के बारे में बताया, वो आपके पास कितने समय से काम कर रहा था|"

"तब उसे आये हुए करीब एक महीना हुआ था |"

"आपके पास कैसे आया था?"

"मेरा एक इश्तिहार पढ़कर!"

"क्या सिर्फ वही आया था?"

"नहीं, 12 लोग आये थे|"

"तो आपने उसी को क्यों चुना?"

"क्योंकि वह अच्छा भी था और पैसे भी कम माँग रहा था |"

"असल में आधी तनख्वाह!"

"जी हाँ!"

"और.. कैसा दीखता है ये...विन्सेंट स्पॉल्डिंग|"

"छोटे कद का है...तगड़ा सा है..फुर्तीला है| उसके चेहरे पर बाल भी नहीं हैं जबकि वो तीस साल से कम का नहीं है | और हाँ! उसके माथे पर तेज़ाब का सफेद निशान है|

होम्स अपनी कुर्सी पर काफी उत्तेजित सा होकर बैठ गया और बोला, "मैंने काफी सोचा है, क्या आपने कभी ध्यान दिया कि उसके कान छिदे हुए हैं?"

“हाँ सर! उसने बताया था कि जब वह छोटा था तो एक जिप्सी ने उसके कान छेद दिए थे |"

"हम्म!" होल्म ने जैसे गहरे सोच-विचार में डूबते हुए पूछा, "वो अभी भी आपके साथ है?"

"हाँ सर! मैं अभी उसे दुकान पर छोड़ कर आया हूँ |"

"तो आपकी अनुपस्थिति में आपका बिज़नेस चलता रहता है?"

" चिंता करने के लिए कुछ भी नहीं है सर! सुबह के समय कभी भी कुछ खास काम नहीं होता है|"

"बस! मेरा काम हो जायेगा, मिस्टर विल्सन ! मुझे एक दो दिन में इस मामले में आपको कुछ जानकारी

दे कर बड़ी ख़ुशी होगी | आज शनिवार है और मुझे उम्मीद है कि सोमवार तक बात साफ हो जाएगी |"

जब हमारा मेहमान चला गया तो होम्स ने मुझसे पूछा “अच्छा वॉटसन ! तुम्हें इस सबसे क्या समझ आया?"

"मुझे तो अभी तक कुछ समझ नहीं आया | ये तो सबसे पेचीदा मामला लगता है |" मैंने बिलकुल बेझिझक कह दिया |

होम्स बोला," आमतौर पर, सबसे विचित्र लगने वाली बात सबसे कम रहस्यमय साबित होती है | असल में जो अपराध आम और बगैर किसी खासियत के होते हैं, उन्हीं में ज्यादा माथापच्ची करनी पड़ती है| बिलकुल वैसे ही, जैसे किसी आम से चेहरे को पहचानना ज्यादा मुश्किल होता है| लेकिन हमें इस मामले में बहुत फुर्ती से काम लेना होगा|”

"तो? तुम अब क्या करने वाले हो?" मैंने पूछा

"सिगार पियूँगा, तीन पाइप में शायद कुछ बाहर आये| और तुम मुझसे पचास मिनट तक कुछ नहीं बोलोगे|" वह दुहरा होकर और अपने पतले घुटनों को अपनी बाज जैसी नाक से सटा कर कुर्सी पर बैठ गया| वहाँ वह आँख बंद करकर बैठा रहा, उसकी काली मिट्टी की पाइप किसी अजीब चिड़िया की चोंच की तरह उसके मुँह से लगी हुई थी| मुझे लगा कि वह सो गया है जबकि मैं खुद ही ऊंघ रहा था कि अचानक वह कुर्सी से उछल पड़ा, उसके हाव-भाव ये बता रहे थे कि उसने कोई फैसला ले लिया है| उसने अपनी सिगार अँगीठी की ताक पर रखी और बोला, "वॉटसन! आज दोपहर सेंट जेम्स हॉल में ‘सरासाते’ की परफॉर्मेंस है| तुम्हारा क्या ख्याल है? तुम्हारे मरीज़ तुम्हें कुछ घंटों के लिए बख्श देंगे ?"

"आज मुझे कोई काम नहीं है| वैसे भी मेरा काम मुझे कभी भी ज्यादा व्यस्त नहीं रखता |"

"तो फिर अपना हैट पहनो और चलो| पहले हम शहर में जायेंगे, रास्ते में हम लंच भी कर सकते हैं | मुझे मालूम हैं कि आज के कार्यक्रम में जर्मन म्यूजिक भी काफी ज़्यादा सुनने को मिलेगा जो मुझे इटालियन और फ्रेंच म्यूजिक से ज्यादा पसंद हैं| असल में ये इंट्रोस्पेक्टिव टाइप होता हैं और आज मैं यही करना चाहता हूँ | चलो, चलते हैं|"

हम एल्डर्सगेट तक अंडरग्राउंड ट्रेन से गए और फिर थोड़ा सा पैदल चलकर आज सुबह सुनी हुई अनोखी कहानी के घटना स्थल सक्से-कोबर्ग स्क्वेयर तक पहुंचे| ये एक सँकरा, छोटा, पुराना सा लेकिन सभ्य इलाका था, जहाँ ईंटों से बने फीके दुमंजिला घरों की चार कतारें थी, जिनके बाहर छोटे-छोटे से बाड़ लगे अहाते बने हुए थे | जंगली घास और फीकी लौरेल की झाड़ियों के कुछ झुरमुटों वाले लॉन वहाँ के धुएँ से भरे खराब से वातावरण से कड़ा मुक़ाबला कर रहे थे|

कोने के एक घर पर लटक रही तीन सुनहरी गेंदों और सफेद रंग से “जैबेज विल्सन” लिखे भूरे बोर्ड से हम समझ गए कि हमारा लाल रंग के बालों वाला क्लाइंट यहीं अपना व्यापर चलाता है | शर्लाक होल्म्स अपना सिर एक और झुकाये इसके सामने रुका और सिकुड़ी हुई पलकों के बीच चमकती हुई आँखों से इसे ठीक से देखा | फिर वह धीरे-धीरे गली के ऊपर चला गया, फिर घर को गौर से देखता हुआ वापस उसी कोने पर आया | अंत में वह महाजन की दुकान की ओर लौटा और अपनी छड़ी से रास्ते के फर्श पर दो तीन बार जोर-जोर से ठकठकाते हुए दरवाजे पर गया और उसे खटखटा दिया|

एक हंसमुख दिखने वाले क्लीन-शेवन नौजवान ने दरवाजा खोला और उसे अंदर आने को कहा |

होम्स ने कहा, "धन्यवाद, मुझे तो बस आपसे स्ट्रैंड का रास्ता पूछना था |"

असिस्टेंट ने दुकान का दरवाजा बंद करते हुए तुरंत कहा, "वहाँ सामने, दाएँ से तीसरा और बाएँ से चौथा |"

जब हम चलने लगे तो होम्स ने कहा “वह बहुत अक्लमंद है|” उन्होंने कहा “मेरी समझ में वह लंडन का चौथा सबसे जहीन इंसान है| यकीन से तो नहीं, फिर भी वह लंडन का तीसरा सबसे अक्लमंद इंसान होने का दावा भी कर सकता है| मैं इससे पहले भी उसके बारे में थोड़ा-बहुत जनता हूँ|”

“वह तो दिख ही रहा है” मैंने कहा| रेड हेडेड लीग के बारे में मिस्टर विल्सन का सहायक भी बहुत कुछ जनता है| मुझे यकीन है कि आपने अपने तरीके से जानकारी कर ही ली होगी कि शायद उसकी आपसे मुलाक़ात भी हो सकती है|”

“उसकी नहीं|”

“तो फिर क्या?”

“उसके पायजामे के घुटने वाला हिस्सा|”

“उसमें आपने क्या देखा?”

“जिसकी मुझे आशंका थी|”

“आपने फर्श को थपथपा कर क्यों देखा?”

चिकित्सक महोदय! यह बात करने का नहीं वरन अवलोकन करने का है| हम लोग शत्रु इलाके में जासूस हैं| हम लोगों को ‘सेक्स कोबर्ग स्क्वायर’ के बारे में थोड़ी-बहुत जानकारी है| अब हमें उन बिखरी हुई कड़ियों को जोड़ना है जो इस घटना का कारण हैं|”

जैसे ही हम लोग ‘सेक्स कोबर्ग स्क्वायर’ छोड़ कर उस मोड़ पर मुड़े, हम लोगों ने अपने आप को एक ऐसी सड़क पर पाया जहां का नज़ारा बिलकुल विपरीत था| यह एक गलियारा था जो शहर से उत्तर-पश्चिम को जाने वाले यातायात का प्रमुख गलियारा था| सड़क मार्ग आने-जाने वाले व्यापारिक वाहनों से अवरुद्ध था| जब कि पगडंडियाँ पैदल चलने वालों के झुंडों की खोपड़ियों से काली-काली नज़र आ रही थी| मुरझाये व थके-थके से स्क्वायर जिसे हम लोगों ने अभी-अभी छोड़ा थके विपरीत दूसरी ओर सुन्दर दुकानों व भव्य व्यापारिक भवनों की कतारें आश्चर्यचकित कर देने के लिए काफी था|

“मैं देखता हूँ|” इन कतारों पर सरसरी नज़र डालते हुए कोने में खड़े होम्स ने कहा| “मैं इन भवनों के क्रम को याद रखना चाहूँगा| लंडन को अच्छी तरह से जान लेने की मेरी इच्छा है|” “वहां पर मोर्तिमर तम्बाकू की दुकान, समाचार पत्र की दुकान, कोबर्ग की उपनगरीय बैंक शाखा, शाकाहारी रेस्तरां व मैक फार्लेन केरेज भवन है| इसके बाद हम एक दूसरे खंड में पहुँच जाते हैं| “और अब डाक्टर! हमने अपना कार्य पूरा कर लिया है लिहाज़ा कुछ मौज-मस्ती की जाये| पहले सेंडबिच और एक-एक कप काफ़ी का मज़ा लेते हैं, इसके बाद वायलिन लेंड के लिए निकलेंगे जहां सब कुछ मधुर ही मधुर, साम्य है और जहां हमें खिन्न करने वाली रेड हेडिड पहेली भी नहीं होगी|”

मेरा मित्र ‘होम्स’ एक उत्साही संगीतकार था जो न केवल एक अच्छा संगीतकार भर था वरन उसने कई श्रेष्ठ धुनें भी तैयार की थीं| उस दोपहर वह अत्यंत प्रसन्न था और अपनी लम्बी उँगलियों को इस तरह से घुमाता रहा मानो वह संगीत का अभ्यास कर रहा हो, जबकि उसका मंद-मंद मुस्कराता, उसकी थकी-थकी स्वप्निल ऑंखें होम्स जैसे शिकारी जासूस जैसी नहीं थीं| ऐसा मन जा सकता है कि होम्स एक निर्मम, अत्यधिक विनोदी और सदैव तत्पर रहने वाला आपराधिक मामलों का जासूस था| होम्स के बारे में मेरे हमेशा से विचार रहे हैं या एक वाक्य में कहूँ तो वह यह कि वह सदैव सही निर्णय लेने वाला सिद्ध हुआ है जो उसके कवि हृदय एवं विचारवान स्वभाव के विपरीत झलक देता है| उसकी यह स्वाभाविक विपरीत प्रिवृत्तियां उसे अत्यंत उत्साही व ऊर्जावान बनातीं रहती हैं| जहां तक मैं जानता हूँ वह कभी भी इतना अजेय नहीं होता था जब वह अपनी आराम कुर्सी पर आराम करते हुए अपने छोटे-छोटे व गुप्त तौर पर तैयार किये हुए दस्तावेजों का अध्ययन कर रहा होता था| यह तो जब देखा जा सकता था जब कि उस पर मामले की तह तक पहुँचने की खब्त सवार हो जाती थी और उसकी चातुर्यपूर्ण तार्किक बुद्धि इस स्तर तक पहुँच जाती थी कि जो उसकी कार्यशैली को नहीं जानते थे उसे शंका भरी नज़रों से इस तरह देखने लगते थे मानो वे समझते हों कि यह किसी भी मनुष्य के लिए संभव ही नहीं हो सकता| जब मैंने उसे सेंट जेम्स हाल में संगीत में मग्न उस दोपहर को देखा तो मुझे महसूस हुआ कि अपराधियों ने अपने लिए सामत बुलाली है|

जैसे ही हम वहां से निकले उसने मुझसे कहा “ डाक्टर! क्या आप अपने घर जाना चाहते हैं?”

“हाँ यही उचित है|”

“मुझे भी कोबर्ग स्क्वायर में कुछ ख़ास काम है जिसमें कुछ घंटे लग सकते हैं|”

“ख़ास क्यों?”

“मुझे एक ख़ास तरह के अपराध की संभावना दिखाई दे रही है| मुझे पूरा भरोसा है कि जिसे हम लोग समय रहते रोकने में सफल होंगे, परंतुपरान्तु आज शनिवार होने की वजह से मामला पेचीदा हो गया है| आज रात मुझे आपकी मदद की जरूरत पड़ेगी|”

“किस समय?”

“दस बजे ठीक रहेगा?”

“ मैं दस बजे स्ट्रीट पहुँच जाऊँगा|”

“बहुत अच्छा|” “डाक्टर मुझे लगता है कि वहां कुछ खतरा ह सकता है अतः अपनी सैनिक रिवाल्वर अपनी जेब में रख का आइयेगा|” उसने मेरी और हाथ हिलाया और भीड़ में गम हो गया|

मैं मानता हूँ कि मैं उतना बेवकूफ नहीं हूँ जितना कि मेरे पडोसी, परन्तु सर्लोक होम्स के साथ काम करते समय मुझे लगता था कि मैं बेवकूफियां करता हूँ| जो होम्स ने सुना होता वही मुझे भी सुनाई देता था, मुझे भी वही दिखाई देता था जो होम्स को फिर भी होम्स की बातों से साफ़ झलकता था कि उसे केवल उतना ही नहीं दिखाई देता था जितना कि हुआ हिता था बल्कि वह यह भी देख लेता था कि आगे क्या होने वाला है, जब कि यह सब मुझे उलझा के रख देता थेवं व्यर्थ लगता था|

जब मैं केनिंग्टन अपने घर के लिए निकला, मैंने अब तक घटी सभी घटनाओं जैसे इन्साइक्लोपेडिया की रेड हेडिड नकलचियों द्वारा नक़ल निकाल लेना, सेक्स कोबर्ग स्क्वायर की यात्रा, और अशुभ सूचक शब्द जो होम्स ने मुझसे सांझा किये थे आदि के बारे में विचार करता रहा| आज ही रात्रि के लिए जल्दबाजी एवं मुझसे सशस्त्र आने के लिए कहना भी| हम लोग कहाँ जाने वाले थे, और क्या करने वाले थे? मुझे होम्स के द्वारा संकेत कर दिया गया था कि यह चिकने चेहरे वाला दलाल सहायक एक दुर्घर्ष आदमी था जो इस मामले में गहरी साजिश कर सकता था| मैंने इस पहेली को हल करने का प्रयास किया परन्तु बाद में यह सोच कर कि रात में सारा खुलासा तो हो ही जायेगा उस पहेली को दरकिनार कर दिया|

रात के सवा नौ बजे ही मैं घर से निकल पड़ा और पार्क व ऑक्सफ़ोर्ड स्ट्रीट होता हुआ, बेकार स्ट्रीट पहुँच गया| दो खूबसूरत आदमी खड़े थे और जैसे ही मैं गलियारे में घुसा, ऊपर से कुछ आवाज सुनाई दी| जैसे ही मैं होम्स के कमरे में घुसा पाया कि होम्स दो आदमियों के साथ चर्चा में रत था| उनमें से एक को मैं पीटर जोन्स के नाम से जानता था जो कि एक पुलिस अधिकारी था, जब कि दूसरा एक लंबा और पतला दुखी चेहरे वाला व्यक्ति था जिसने बहुत ही चमकीला हैट व बेतरतीब फ्रॉक कोट पहन रखा था|

मुझे देखते ही होम्स ने अपनी पी जेकिट को दुरुस्त करते हुए व् रेक में से अपनी खोज में संकलित फ़ाइल निकालते हुए कहा “अब हमारी पार्टी पूरी हो गई|” होम्स ने मुझे संबोधित करते हुए कहा “वाटसन! मुझे लगता है कि तुम मिस्टर जोन्स जो स्काटलेंड यार्ड से हैं, को तो जानते ही होगे| मैं मिस्टर मेरीवेदर से आपका परिचय कराता हूँ जो आज के अभियान में हमारे साथी होंगे|”

“हम जोड़े में शिकार करेंगे|” जोन्स ने अपनी प्रभावपूर्ण शैली में कहा| मित्रो अपने साथ एक आश्चर्यजनक व्यक्ति हैं जो जांच की शुरूआत करेंगे| बस इसके लिए उन्हें एक कुत्ते की जरूरत होगी जो इन्हें दौड़ लगाने में मदद करेगा|”

मिस्टर मेरीवेदर ने उदास हो कर कहा “यह सारा सहस एक निरर्थक प्रयास साबित न हो|”

आप होम्स सर पर पूरा भरोसा कर सकते हैं|” पुलिस एजेंट ने विश्वास पूर्वक कहा| उनके काम करने के अपने तरीके हैं, अगर वे बुरा न मानें तो मैं कहना चाहूँगा कि वे थोडा सैद्धांतिक जरूर हैं पर उनमें एक श्रेष्ठ जासूस होने के सरे गुण हैं| मैं बड़ी बात नहीं करता, एक-दो बार शोल्तो हत्याकांड और एग्रा खजाने के मामले में होम्स, सम्बंधित अधिकारियों से ज्यादा नजदीकी और सटीक पाए गए|”

“ओह! यदि आप कहते हैं मिस्टर जोन्स तब ठीक है, फिर भी मेरी जिज्ञासा शांत नहीं हुई”, अजनबी ने एकमत न होते हुए कहा|

“मैं समझता हूँ कि आपकी शंका दूर होगी, आज रात आप कुछ ऐसा करेंगे जो आज तक नहीं किया और वह ज्यादा रोमांचक होगा” सरलाक होम्स ने कहा| मिस्टर मेरीवेदर आपका हिस्सा होगा लगभग 30,000 पाउंड्स और मिस्टर जोन्स आपको वह आदमी मिलेगा जिसे आप पकड़ना चाहते हैं| होम्स ने कहने जारी रखा “उस चालबाज, चोर, तोड़-फोड़ करने वाले हत्यारे का नाम जान क्ले है| मिस्टर मेरीवेदर वह एक जवां व्यक्ति है परन्तु वह अपने पेशे के शिखर पर है और मैं लन्दन के किसी अन्य अपराधी की अपेक्षा उसी पर अपना दाव लगाना पसंद करूंगा|

‘जान क्ले’ न केवल जवान व्यक्ति है बल्कि ध्यान देने योग्य व्यक्ति है| उसके दादा एक शाही परिवार से थे, और वह खुद भी एटन व ऑक्सफ़ोर्ड का पड़ा-लिखा है|उसका दिमाग उसकी उँगलियों की तरह तेज है| यद्यपि उसके कुछ सुबूत हमें हर जगह मिले फिर भी हम उसे पकड़ नहीं सके|किसी हफ्ते वह स्काटलैंड में नक़ल करके धन कमाता तो अगले हफ्ते वह उस धन को कार्निबेल में अनाथालय खोलने के लिए खर्च करता है| मैं कई वर्षों से उसका पीछा कर रहा हूँ पर उस पर अबतक नज़र न ठहरा पाया|

“मुझे आशा है कि आज रात मैं आप लोगों को उससे मिवौंगा, जान क्ले से एक -दो मुठभेड़ हुईं हैं और मैं मानता हूँ कि वह अपने पेशे के शिखर पर है| इस समय साधे दस बजे हैं और अपना अभियान शुरू करने का सही समय है| यदि आप दोनों पहली बग्घी से निकल जाते हैं तो मैनौर मिस्टर वाटसन दूसरी बग्घी से आपके पीछे निकल पड़ेंगे|”

सर्लोक होम्स उस यात्रा के दौरान ज्यादातर चुप ही रहे| हाँ कब में लेते-लेते वे उस धुन को गुनगुनाते रहे जो उन्होंने दोपहर को सुनी थी| फेरिंग्टन स्ट्रीट तक पहुँचने के दौरान गैस बत्तियों से प्रकाशित भूलभुलैयों युक्त लम्बे रस्ते को पार करते करते हम उकता चुके थे|

मेरे मित्र होम्स ने कहा-“अब हम नजदीक पहुँच रहे हैं|” ये जो मेरीवेदर है वो एक बैंक के निदेशक हैं और इस मामले में व्यक्तिगत रूचि रखते हैं| मैं सोचता हूँ कि जोन्स को भी साथ ले लेना चाहिए| वह अपने पेशे में मुर्ख व्यक्ति है फिर भी वह बुरा आदमी नहीं है| उसकी एक खासियत भी है कि वह बुलडॉग की तरह बहादुर है और जब वह किसी के ऊपर अपने पंजे गढा देता है तो केकड़े की तरह दृढ़ता से जमा देता है| चलिए अब हम पहुँच गए हैं, वे दोनों हमारा इंतज़ार कर रहे हैं|”

अब हम उस भीडभाड वाले इलाके में जैसे-तैसे पहुँच ही गए हैं जहां पर हम सुबह आये थे| हमने अपनी बग्घियाँ छोड़ दीं और मेरीवेदर के निर्देशानुसार एक पतली गली से निकलकर बगल के दरवाजे से जो उसने ही खोला था, गुजरे| उसमें एक छोटा सा बरामदा था जिस पर लोहे का भारीभरकम दरवाजा लगा था| इसे भी खोला गया जिसके बाद सीढियां थीं जो एक दूसरे दरवाजे पर ख़त्म होती थीं| मिस्टर मेरीवेदर ने रुक कर लेन्टर्न जलाई और हम लोगों को एक अँधेरे, मिटटी की खुशबूदार गलियारे से होते हुए तीसरा दरवाजा जिसके पीछे एक बहुत बड़ा तहखाना था जो पतियों और बड़े-बड़े संदूकों से भरा पड़ा था, तक ले गए|

जैसे ही उसने लेन्टर्न दिखाकर अपनी तरफ घूर, होम्स ने कहा “बाहर से आप इतने कमजोर नज़र तो नहीं आते|”

मेरीवेदर ने फर्श पर पड़े हुए झंडे को छड़ी से टटोलते हुए कहा “मैं अन्दर से भी कमजोर नहीं हूँ| प्रिय! मैं ही क्यों? यह कुछ उचित नहीं दीखता|” मेरीवेदर ने आश्चर्य से देखते हुए कहा|

होम्स ने कठोरता से कहा “अब हमें थोड़ी चुप्पी साधनी होगी|”आप लोंगों ने पहले ही हमारी सफलता को क्षति पहुंचा दी है| क्या मैं आप लोगों से कह सकता हूँ कि आप लोग इन संदूकों पर बैठ जाएँ और मेरे कार्य में बाधा न डालें|”

मेरीवेदर गंभीर हो कर दुखी मुख मुद्रा के साथ पेटी पर बैठ गया| दूसरी तरफ होम्स घुटनों के बल फर्श पर बैठ कर लेन्टर्न एवं आवर्धक लेंस की मदद से पत्थरों के बीच की दरारों को ध्यान से देखने लगे| थोड़ी ही देर में होम्स संतुष्ट होकर खड़े हो गए और आवर्धक लेंस को अपनी जेब में रख लिया|

“हमारे पास लगभग एक घंटे का समय है जिसमें अब कुछ करने को नहीं बचा है, जब तक कि वह सूदखोर दलाल सो नहीं जाता| इसके बाद हम एक मिनट का समय भी नहीं गवांएंगे जिससे कार्य पूरा होने के बाद हम लोगों को यहाँ से भागने के लिए लम्बा समय मिल सके| हम सब इस समय जहां हैं, वह लंडन के प्रमुख बैंक की शहर की शाखा का तहखाना है और मिस्टर मेरीवेदर निद्देशकों के डायरेक्टर के प्रमुख हैं वे बताएँगे कि लोंदन के साहसी अपराधी इसमें ज्यादा रूचि रखते हैं|”

मेरीवेदर बुदबुदाया “यह हमारा फ्रेंच गोल्ड है| हमें कई बार चेतावनियाँ दी गईं हैं कि इसे पाने के अनधिकृत प्रयास हो सकते हैं|”

“आपका फ्रेंच गोल्ड?”

“हाँ, कुछ माह पूर्व हमें लगा कि हमें अपने स्त्रोतों को बढ़ाने का हमें मौक़ा मिला है, अतः हमने फ़्रांस बैंक से 30,000 फ़्रांसीसी मुद्राएँ उधार लीं| लोगों को ज्ञात हो गया कि उधार मंगाए गए धन का स्तेमाल का मौका नहीं आया और अबभी तहखाने में पड़ा हुआ है| जिस पेटी पर मैं बैठा था उसमें फ़्रांस कि 2000 मुद्राएँ लेड फ्वाइल तह कर रखी हुईं हैं| इस समय हमारी धातु मुद्राओं का भण्डार काफी ज्यादा है कि उसे बैंक की एक शाखा में नहीं रखा जाता है जिसका पता निदेशकों को भी नहीं होता है|”

होम्स ने कहा “यह उचित भी है|” अब समय है कि हमें अपनी योजनाओं को तरतीब स बैठना होगा| मुझे आशा है कि एक घंटे के अन्दार्मामला अपे चरम पर होगा| और इस बीच हमें मिस्टर मेरीवेदर अपनी लेन्टर्न के ऊपर पर्दा डाल देना चाहिए|”

“और हम सब अँधेरे में बैठेंगे?”

“मुझे लगता है कि ऐसा ही करना होगा|” मैं अपनी जेब में एक ताश की गद्दी लेकर आया था जैसे ही आपको आपका मुलजिम मिल जाएगा बैठ कर पत्ते खेलेंगे| परन्तु मुझे लगता है कि दुश्मन इस हद तक तैयार है कि हम लोग रोशनी करके नहीं बैठ सकते| सबसे पहले हमें अपनी-अपनी पोजीशन लेना होगी| मुल्ज़िमात खतरनाक लोग हैं और यदि हम सतर्क न रहे तो हमें भी नुक्सान पहुंचा सकते हैं|यदि हम उन्हें घेर भी लेते हैं तब भी| मैं इस पेटी के पीछे खड़ा रहूँगा| क्या तुम लोग अपने को उन संदूकों के पीछे छिपा सकते हो?और तब जब मैं उन लोगों पर रोशनी चमकाऊं जल्दी से इकट्ठे हो जाना| यदि उन लोगों ने गोली चलाई तो मिस्टर वाटसन! आपको भी उन्हें मार गिराने में कोई संकोच नहीं होना चाहिए|”

मैंने अपनी रिवाल्वर का घोड़ा चढ़ा कर उसी पेटी के ऊपर रख दिया जिस पेटी के पीछे मैं दुबका हुआ था|

होम्स ने लेन्टर्न की चरों तरफ झिल्ली चढ़ा डी और हम लोग एक नितांत घने अँधेरे में थे| इतना घुप अँधेरा मैंने पहले कभी नहीं महसूस किया था| बत्ती की दुर्गन्ध हमें बता रही थी कि अभी भी उसमें रोशनी है जिसे जरूरत पड़ने पर कभी भी चमकाया जा सकता है| आशा में मेरी धमनियों में खून तेजी से दौड़ने लगा था फिर भी उस तहखाने की सर्द व नाम हवा में एक निराशाजनक व दिल दहला देने वाली खामोशी छाई हुई थी|

होम्स बुदबुदाया “वे लोग एक से अधिक हैं|वे सेक्स कोबर्ग स्क्वायर के पिछवाड़े से दाखिल होंगे| जोन्स! क्या तुमने वो साड़ी तयारियां कार्लिं हैं जिनके लिए मैंने तुम्हे बताया था?”

“मैंने एक इन्स्पेक्टर और दो अन्य पुलिश कर्मी दरवाजे पर तैनात कर दिए हैं|

“मैंने और दूसरे सरे छिद्र बंद कर दिए हैं| अब हमें खामोशी से इंतज़ार करना चाहिए|

क्या समय था! बाद में नोट्स का अवलोकन पकरने पर पता चला कि कि सवा घंटे का समय हो गया था, पर मुझे लगा कि रात बिट रही थी और सुबह होने को है| मेरी टाँगें जकड चुकी थीं| मुझे लगा कि मुझे अपनी लि हुई पोजीशन बदलना पड़ेगी| इसके बावजूद मेरी धमनियों में रक्त तेजी से दौड़ रहा था, मैं इतना अधिक साफ़ सुन पा रहा था कि मेरे साथियों की सांसें भी| मैं, भारीभरकम जोन्स कि लम्बी और गहरी संसेंसंसे स्पष्ट सुन रहा था| मैं फर्श पर आसानी से भी देख पा रहा था| यकायक मुझे रौशनी की छोटी सी चमक दिखाई दी|

पहले यह पत्थरों कि फर्श पर छोटी सी चमक थी बाद में इसकी लम्बाई बढाती गयी और अब तो एक पिली रेखा सी खीच गई थी| और इसके बाद बिना किसी चेतावनी या आवाज के पत्थरों के बिछ की दरार में से एक हाथ बहार निकला, एक सफ़ेद और जनाना हाथ जिसने उस रोशनी के छोटे से दायरे का जायजा लिया| एक मिनट के लिए हिलती-दुलती उँगलियों वाला वह हाथ फर्श के बाहर आ गया परन्तु वह उसी तरह वापिस अन्दर चला गया जिस तरह वह बहार आया ता, और फिर सिवाय एक छोटी सी चमक जो पत्थरों की दरार से दिखाई दे रही थी घुप अँधेरा छा गया|

***

Rate & Review

Aman Agarwal

Aman Agarwal 2 years ago

AAKASH Chaudhary

AAKASH Chaudhary 2 years ago

Fahad

Fahad 2 years ago

Shoaib

Shoaib 2 years ago

Baghel Singh

Baghel Singh 2 years ago

half part hai