anokhi mitrata - 10 in Hindi Short Stories by Payal Sakariya books and stories PDF | अनोखी मित्रता - 10

अनोखी मित्रता - 10

हमने देखा था कि दिशा आकाश को orphanage ( अनाथ आश्रम ) में लेकर जाती है ...
अब आगे ....
~°°°°°~°°°°°~°°°°°~°°°°°~°°°°°~°°°°°~°°°°°~°°°°

अंदर जाकर अब रुक गई ।
दिशा :- अब अपनी आंखें खोल सकते हो ।
जैसे ही आकाश आंख खोलता है सभी बच्चे उसे Happy birthday wish करते है।
दिशा आकाश को एक अनाथ आश्रम में लेकर आई थी ।।
दिशा आकाश की तरफ से सभी बच्चों को gifts देती है ।
उस दिन सब बहुत enjoy करते है , अलग - अलग games play करते है ।

आकाश :- Thanks Disha 🤗🤗
दिशा जब वापस लौटती है तो खुश हो गई , क्योंकि श्रेया वापस आ गई थी।
दिशा :- तु कब आई श्रेया . ..? और बताया भी नहीं ..😒
श्रेया :- बस अभी थोड़ी देर पहले ही आईं हूं ।
दिशा अपनी wishes लिखने वाली diary लेती है । और कुछ लिखती है । तभी श्रेया आकर कहती है ..
हममम…. एक और बात छोड़ दें इसमें कि :- you are gonna to be a someone's special 😘
Disha :- क्यूं ..?
अरे आजकल तो आकाश के साथ कितना close रहती है ।
दिशा :- ऐसा कुछ नहीं है 😕
We are only friends 😔
तभी आकाश का फोन आता है ।
दिशा :- I’m in tight schedule ,, I’ll contact you later ..
कहकर फोन काट दिया ।
श्रेया :- मतलब दोस्ती से आगे कुछ नहीं …?
दिशा :- of course … yarr ,, and also he has a sweet girl friend named Vanshika
श्रेया :- मगर मुझे नहीं लगता ,, because he is giving more importance to you …
Disha :- can we discuss it later … I need to sleep …
कहकर वो सो गई ।
दिशा इसी बात पर सोचती रही । क्या श्रेया की बात सच है …? नहीं … नहीं ऐसा कुछ नहीं है .. वो कुछ ज्यादा ही सोच रही है । उसे नींद नहीं आती, वो उठ जाती है ।
श्रेया :- क्या हुआ अभी भी उसी बात को लेकर परेशान हो ..?
दिशा :- नहीं .. मेरी side से में clear हुं ,, ऐसी कोई feelings नहीं है मुझे ..
श्रेया :- होगी फिर भी तु नहीं बताएगी .. चल अब बता अगर वो इसे दोस्ती से आगे बढ़ रहा है तो ..?
दिशा :- मैं ऐसा नहीं होने दूंगी ..
और जैसे ही दिशा नीचे जाने जाती है , सीढीयो पर उसका पैर फिसला और वो गिर गई । उसके पैर में मोच आ गई ।
श्रेया , आरुष को फोन करती है , वो दोनों दिशा को hospital लेकर जाते है ।
दिशा :- आरुष , तुम जाओ तुम्हारा कल important cricket match है । U need to do more practice for that .. and I’m ok.. now ..
Aarush :- डोकटर , प्लीज़ ऐसी दवाई भी देना जो इसका मुंह बंद रखे 😜
दिशा :- क्या आरुष तुम भी ..?😅
अगली सुबह दिशा को आकाश का फोन आया। श्रेया फोन उठाती है ।
आकाश :- हेलो .. दिशा ..
श्रेया :- दिशा आराम कर रही है ,
आकाश :- Hii shreya , दिशा और आराम …?
श्रेया :- हां … वो उसके पैर में मोच आ गई है ।
आकाश :- क्या …?
श्रेया :- हां में उससे तुम्हारी बात बाद में करवाऊंगी।
आकाश सीधा दिशा को मिलने आता है , दिशा अभी उठी ही थी और श्रेया ने उसे breakfast दिया था।
आकाश :- पता नहीं कहां ध्यान रहता है तेरा ..😨 सब को छोड़कर कुछ अपना भी तो ख्याल रखा कर .. 😕
लो लगा दिया ना पैर में …!
दिशा plate side में रखकर , मेरा हो गया ।
श्रेया :- अरे finish तो कर ..
दिशा :- इतना सब सुनकर ही पेट भर गया , अब इतू सी भी जगह नहीं बची है । 😝
और आकाश , तुम यहां क्या कर रहे हो ,..? 😳
I think u have a match at 11 o clock ..?
आकाश :- अभी मेरे पास 30 मिनट है ।
दिशा :- नहीं तुम जाओ ..
आकाश :- हां .. बाबा … जा रहा हूं , पर अपना ख्याल रखना , byee

श्रेया :- अब तेरा क्या मानना है …?
दिशा :- तुने मुझे मुश्किल में डाल दिया है ,,
तु साफ साफ सुनले ऐसा कुछ नहीं होने वाला ..
I know how to control … it …💩😎

अब दिशा बिल्कुल ठीक हो गई थी ।
आकाश का फोन आता है पर वो नहीं उठाती …
आकाश भी वो busy होगी समझ लेता है।
और वो भी अपने matches में busy रहने लगा ।
उसने कई बार दिशा को फोन किया पर वो उठाती ही नहीं …
आकाश ने श्रेया को फोन किया ।
श्रेया :- हां… आकाश …?
आकाश :- दिशा कहा है , मेरा फोन नहीं उठा रही है ,,
So तुम्हें disturb किया ..
श्रेया :- अरे कोई बात नहीं ,, hold for a moment 😊
श्रेया दिशा को फोन देती है ।
दिशा :- हेलो …
आकाश :- ohhh sister of Bill gates कहा खोई रहती है , कितने calls , message किये ,, but no any reply from your side ..😔🙄
Disha :- sorry ,, I have lots of work to be done urgently .. so bby ..
And ha .. nothing … take care ..
Aakash feels so bad …🤢
दिशा ने उससे मिलना भी बंद कर दिया ।
और हर बार की तरह वो आरुष को इस बारे में बता देती है । वो आरुष से कभी कुछ नहीं छुपाती ।

आरुष को भी उसे इस बारे में दलील करने से मना कर दिया था।
आकाश जब आरुष को दिशा के बारे में पूछता है , तो आरुष भी उसे उल्टे जवाब देता है , और ऐसा करने के लिए उसे दिशा ने ही कहा था , जिससे आकाश को दिशा पर गुस्सा आने लगे और वो दिशा को ग़लत समझ लें ।

और ऐसा ही हुआ , अब आकाश और दिशा बहुत दुर हो गए थे।


आरुष के दोस्त रवि का birthday था , तो party grand hotel में रखी थी । जिसका arrangement करने के लिए दिशा को बुलाया था । दिशा ने आरुष को मना किया था , कि वो नहीं आएगी क्योंकि वहां पर आकाश भी होगा । तो आरुष ने कहा कि तुम बस arrangements करके चली जाना , देख हम रवि को मना नहीं कर सकते ।
दिशा :- ठीक है ।
दिशा ने सब कुछ ready कर दिया था ।
रवि :- hey aakash क्यूं नहीं आया अभी तक ..
रजत :- मैंने उसे फ़ोन किया था पर उसने मना कर दिया । आकाश अब अकेले रहना पसंद करता था ।
आशिष :- मुझे पता है उसे कैसे बुलाना है ।
वो इधर उधर देखने लगा दिशा अपना काम कर रही थी और उसका फोन टेबल पर रखा हुआ था।
आशिष वो फोन लेकर आकाश को फोन करके आवाज बदलकर कहता है :- हेलो , सर ये जिस मेडम का फोन है वो अचानक बेहोश हो गई है , प्लीज़ आप जल्दी से grand hotel
में आ जाइए ।।
आकाश यह सुनकर घबरा गया, और तुरंत घर से निकला। कि क्या हुआ होगा दिशा को …?
आशिष :- देखना अब दिशा की वजह से , वो कैसे भागा चला आएगा ।
दिशा :- अब में चलती हूं। इस बात से दिशा बिल्कुल अंजान थी । की आशीष ने उसका नाम लेकर आकाश को यहां पर बुलाया था।
रवि :- दिशा रुक जाना , बस थोड़ी देर के लिए फिर चली जाना ।
दिशा :- नहीं सोरी ,, पर मुझे काम है , By the way Happy birthday to you .. and I wish all your dreams come true .. 🤗🤓
अभी तो दिशा बस सब के साथ बात कर के निकल ने ही वाली थी , तभी वहां आकाश आ गया ।
आकाश दिशा को देखता है , उसे लगा कि दिशा ने उससे झूठ बोला ..
आकाश :- clapping 👏🏻👏🏻👏🏼 करते हुए ।। Wow.. great … birthday. रवि का है पर surprise तो मुझे मिल रही है ।😒
जिस के लिए में यहां पर भागा चला आया वो तो यहां बिना किसी तकलीफ़ की खड़ी है …!
दिशा तुम झूठ बोलकर मुझे यहां बुलाना चाहती थी..?
आशीष:- आकाश दिशा को इस बारे में कुछ नहीं पता था ,,।
आकाश :-ओ।। तो अब तुम भी इसका साथ दे रहे हो …?
आशीष कुछ बोलने जाता है , पर दिशा उसे रोक देती है ।
आकाश :- बहुत ही busy रहने वाली Disha the great को आज अचानक समय कैसे मिल गया ।
आकाश बहुत ही गुस्से में था ।
दिशा कुछ नहीं बोल रही थी , बस उसे सुन रही थी ।
आकाश :- तुम्हारे जैसी के साथ भगवान करे कि आगे किसी के भी साथ मुलाकात ना हो 😬
वैसे तो तुम कहती थी ना कि तुम्हारे पापा ने तुम्हें ये सिखाया था , तो किसी को ऐसे बिमारी का झूठ बोल कर परेशान न करना , तुम्हें किसी ने नहीं बताया …!
आकाश :- पता नहीं में बात ही क्यूं कर रहा हूं तुम से ..😑😠
जैसे ही वो जाने लगता है , अचानक रुककर वापस आता है ।
और दिशा को उसने एक bracelet friendship day पर पहनाया था , आकर वो खुद दिशा के हाथ से निकाल लेता है ।और कहता :- अब इसका कोई मतलब नहीं … 😟
और चला गया । सभी दोस्त देखते ही रह गए , उन्हें लगा कि , उनके झूठ बोलने की वजह से आज ये सब हो गया ..😔😔
दिशा वहां से चली जाती है ।
जब आरुष को यह सब पता चला वो तुरंत गया .. दिशा के पास और देखता है दिशा बहुत ही रो रही थी।
आरुष :- दिशा calm down … वो दिशा को समझा लेता है ।
दिशा :- आरुष , मुझे अब यहां नहीं रहना , please. … Let me go to settle at another place …
Aarush :- ok. As u wish I will make arrangements … now .. free relax …
उसे दिशा के बारे में बहुत अच्छी तरह से पता था तो वो उसे अच्छी तरह समझा लेता है ।
आकाश बहुत ही गुस्से में घर लौटा , उसे विश्वास नहीं था कि दिशा उसके साथ ऐसा करेगी ।
आकाश सोचता है – सुना था कि दोस्त आते है और चले जाते है , लेकिन , मैंने कभी नहीं सोचा था कि दिशा उसमें से एक होगी ..!😔😟😟
😔😔 It hurts because it mattered 😑😑

तभी वहां वंशिका आती है ।
आकाश :- Vanshika ,, will u accept me as your life partner …?
Vanshika :- ( get shocked ) Yes …
And hug him 🤤
पांच साल बाद आज आकाश news paper read कर रहा था जिसमें दिशा का नाम पढ़कर उसे बीती बातें याद आ गई ।
वो टेबल के पास जाकर drawer में से वो bracelet निकाल कर देखता है ।
जो उसने दिशा को देकर वापस ले लिया था ।
तभी वंशिका आती है ,
वंशिका :- आकाश आज तुम free हो ..?
आकाश :- हां …
वंशिका :- मेरे साथ चलोगे ..?
आज आकाश का birthday है,। वो उस bracelet को अपने pocket में रख देता है ।
वंशिका उसे उसी orphanage ( अनाथ आश्रम ) में लेकर आती है । जहां उसे दिशा लेकर आई थी।
आकाश :- यहां पर क्यों ..?
वंशिका :- may be surprise 😘
आकाश :- let’s see….
कोई एक पेड़ के नीचे खड़ा था उसकी तरफ इशारा करते हुए वंशिका आकाश को वहां जाने के लिए कहती है ।

आकाश वहां जाकर देखते ही चौंक गया …!
वहां पर दिशा खड़ी थी ।
Once
best friends,
now strangers
with memories



आकाश अभी तक दिशा से गुस्सा था , तो उससे बात किए बिना ही वो मुड़कर चलने लगा ।
वंशिका उसे रोकती है ।
वंशिका :- पहले मेरी बात सुनो …!
दिशा इस पांच सालों में आकाश के हर एक जन्मदिन पर यहां आती थी । और बच्चों को gifts देती थी ।

वंशिका आकाश से कहती है :- पांच सालों से मैंने तुमसे एक बात छुपाई हुई है , पर अब और नहीं आज मैं तुम्हें वो सच बताना चाहती हूं ।
तो सुनो ….
एक दिन मुझे दिशा का फोन आया ।
उसने मुझे मिलने के लिए बुलाया …
उन दोनों ने कभी एक-दूसरे को देखा नहीं था।

वंशिका :- तुम दिशा ..?
दिशा ::- हमम..
वंशिका :- आकाश ने बताया था तुम्हारे बारे में ।।
दिशा :- आज मुझे तुम्हारी मदद चाहिए …
वंशिका :- हां .. sure why not …? Bolo …
दिशा :- तुम्हें आकाश पसंद है ,।। तो तुम ही उसे संभाल सकती हो ।।। देखो वंशिका I don’t want to be a. °° Jodi breaker°°
वंशिका :- पर तुम्हें ऐसा क्यूं लगता है …?
दिशा :- वो सब तुम रहने दो बस तुम्हें आकाश को संभालना है ।
वंशिका :- मतलब तुम्हें डर है कि , कहीं आकाश मुझे छोड़ देगा , और वो भी तुम्हारी वजह से ..?
पर क्या तुम उसे पसंद नहीं करती …? 🙄
दिशा :- I want him as my best friend ,, nothing more than that ..😑
Vanshika :- ok… l will …🤓🤠😳
यह सब सुनकर आकाश कहता है – इसका मतलब यह सब कुछ उसने जान बुझकर किया था …?
वंशिका :- हां … और तुमने वैसे ही किया उससे दोस्ती का भी रिश्ता तोड़ दिया ।
अब जाओ और …
आकाश दिशा के पास जाता है , पर वो वहां से चली गई थी .. आकाश उसे ढूंढने लगा ।।
तभी देखता है दिशा तो जा रही थी ।
वो जल्द ही उसके पीछे जाकर कहता है :- ohhh actress … listen ..
दिशा पीछे मुड़कर देखती है ।
आकाश उसके पास जाता है ।
आकाश :- पता नहीं कैसी हो … तुम … अभी भी नहीं बदली ।।
दिशा :- क्या मतलब ..?
आकाश :- look I’m sorry …
Disha :- चलो आज का खाना cancel .. आपके sorry से पेट जो भर गया 😅😅😄😄। By the way HAPPY BIRTHDAY …
आकाश :- Thanks ☺️
दिशा का हाथ पकड़ कर कहता है , कुछ कमी है इसमें …🙄
दिशा :- 😒
आकाश वो bracelet दिशा को पहनाता है , now perfect 🤓
कुछ दिनों बाद दिशा का accident होता है ..
आरुष , आकाश और वंशिका hospital आते है ।
आरुष :- doctor , दिशा कैसी है …? 😧
आकाश :- वो ठीक तो है ना …?😕
Doctor :- पहले आप लोग उसे जाकर मिल लिजिए …
वो तीनों अंदर जाते है ….
दिशा के माथे पर पट्टी बंधी हुई थी ।
आरुष :- दिशा ,, कैसी है ..?
दिशा आंखें खोलकर उनको देखते ही डर गई …
दिशा :- कौन हो तुम लोग …😲
आकाश :- दिशा में आकाश … तुम हमें नहीं जानती …
आरुष :- और में आरुष …
दिशा :- कौन आकाश और.. कौन आरुष में किसी को नहीं जानती .. doctor ,, doctor ,, nurse ….
वंशिका :- कहीं दिशा की यादाश तो नहीं चली गई …..?!?
तभी अचानक से दिशा हंसने लगी 😄😅😆😃🤣🤣🤣🤣

दिशा :- क्या तुम्हें सच में ऐसा लगता है .. मैं तो बस छोटा सा मजाक कर रही थी ।😄😄
आरुष :- तु भी ना ….
उसको जोड़ते हुए आकाश कहता है ::- कभी नहीं सुधरेंगी…।
जान ही निकाल दी हमारी …

तभी doctor आते है , अब आप कुछ formalities पुरी करके जा सकती है ।
आकाश दिशा के साथ receptionist counter पर जाता है ।
दिशा जब फीस जमा करने जाती है , तभी आकाश अपना credit card दे देता है ,,
दिशा उसके सामने देखती है …
आकाश :- हम तो अमीर लोग है ,, कुछ भी कर सकते है …
आकाश आरुष और वंशिका तीनों आरुष के घर जाते है जहां पर निशा उन लोगों की राह देख रही थी।

पांचों पुरानी बातें याद करके बहुत खुश होते है …
आकाश सोचता है ,, अगर वो दिशा के साथ ज्यादा रहता तो ,, शायद उसका डर सच में बदल गया होता …😶

She takes a right decision … 😑😑😳😳
^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••^•••°•••

I hope u people enjoy my writing ... 🤗🤗

Rate & Review

swati

swati 2 years ago

Ranjan Rathod

Ranjan Rathod 2 years ago

Urmi Chauhan

Urmi Chauhan Matrubharti Verified 2 years ago